[फंडिंग अलर्ट] एडटेक स्टार्टअप वेदांतु ने केबी ग्लोबल से जुटाए 6.8 मिलियन डॉलर

[फंडिंग अलर्ट] एडटेक स्टार्टअप वेदांतु ने केबी ग्लोबल से जुटाए 6.8 मिलियन डॉलर

Friday April 24, 2020,

3 min Read

बेंगलुरु स्थित ऑनलाइन एडटेक स्टार्टअप वेदांतु (Vedantu) ने 20 अप्रैल को दक्षिण कोरिया स्थित केबी ग्लोबल प्लेटफॉर्म फर्म से फंडिंग के एक नए राउंड में 6.8 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) के पास दाखिल दस्तावेजों के अनुसार, वेदांतु ने केबी ग्लोबल को 3,82,235 सीरीज C2 CCPS आवंटित किए हैं। इन दस्तावेजों को योरस्टोरी ने एक्सेस किया है। इसके मुताबिक प्रति शेयर प्रीमियम राशि 1,353.29 रुपये है।


k

सांकेतिक चित्र (फोटो क्रेडिट: The Logical News)


इस महीने की शुरुआत में, वेदांतु ने चीनी वेंचर फर्म लीजेंड कैपिटल से 12.56 मिलियन डॉलर (करीब 96 करोड़ रुपये) जुटाए थे। इसकी सीरीज सी 1 राउंड फंडिंग में ओमिडयार की ओहाना होल्डिंग ने भी पार्टिसिपेट किया था।


बता दें कि इस लेटेस्ट फंडिंग से पहले 30 अप्रैल, 2019 को वेदांतु ने घोषणा की थी कि उसने टाइगर ग्लोबल और वेस्टब्रिज कैपिटल के नेतृत्व वाले फंडिंग राउंड में 42 मिलियन डॉलर जुटाए थे। इस राउंड में एक्सेल, ओमिडयार इंडिया और टीएएल एजुकेशन सहित मौजूदा निवेशकों ने पार्टिसिपेट किया था। LGT Group के CEO, लिकटेंस्टीन के प्रिंस मैक्सिमिलियन और एडटेक स्टार्टअप के संस्थापकों ने भी दौर में भाग लिया था।


वेदांतु की स्थापना वामसी कृष्ण, आनंद प्रकाश और पुलकित जैन ने 2014 में की थी, ताकि वे छात्रों को पर्सनलाइज्ड टीचिंग प्रदान करके उनकी इच्छानुसार सीखने के अवसर प्रदान कर सकें। स्टार्टअप अब अपने पर्सनलाइज्ड टीचिंग मॉडल को परिष्कृत करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई), मशीन लर्निंग (एमएल) और बिग डेटा का उपयोग करता है।


लाइव इंटरएक्टिव ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म रियल टाइम में और वर्चुअल लर्निंग के माहौल में व्यक्तिगत और समूह कक्षाएं प्रदान करता है। वेदांतु का दावा है कि 150,000 छात्र हर महीने इसके प्लेटफॉर्म पर लाइव पढ़ते हैं। 1,000 से अधिक शहरों और 40+ देशों में हर महीने इसके 25 मिलियन से अधिक यूजर्स हैं।



कोरोना वायरस महामारी के कारण बनी स्थिति के चलते यह स्पष्ट नहीं है कि बच्चे कब स्कूल लौटेंगे और कब से उनकी सामान्य कक्षाएं फिर से शुरू होंगी। इस प्रकार, वेदांतु ने बेंगलुरु, नई दिल्ली, केरल और हैदराबाद के स्कूलों के साथ हाथ मिलाया और अपने संपूर्ण लर्निंग प्लेटफॉर्म तक मुफ्त पहुँच प्रदान की।


वेदांतु के सीईओ और सह-संस्थापक वामसी ने एक बयान में कहा: "वेदांतु में, हमारा मानना है कि सर्वोत्तम गुणवत्ता वाली शिक्षा हर किसी के लिए सुलभ होनी चाहिए, हमारा ये भी मानना है कि इन जोखिम भरे और अनिश्चित समय में ऑनलाइन लर्निंग एक सुरक्षित विकल्प है। छात्र अपने घर पर सुरक्षित रहकर अध्ययन कर सकते हैं और यात्रा और सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बच सकते हैं। हम लगातार ऐसे समाधानों पर काम कर रहे हैं जो विकास को बढ़ावा देंगे, आज शिक्षण और सीखने के पैटर्न को मौलिक रूप से बदल रहे हैं। हम इस कठिन समय के दौरान अपने प्लेटफॉर्म को निःशुल्क बनाकर समर्थन करने के लिए यहाँ हैं। हम COVID-19 के प्रभाव की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और यहां छात्रों और स्कूलों को उनकी सभी सीखने की जरूरतों के लिए सहायता के लिए हैं।"


मैथ, साइंस, सोशल स्टडी, फिजिक्स और केमिकल साइंस सहित विषयों को कवर करते हुए, वेदांतु कक्षा I से XII के छात्रों को भी पूरा करेगा।