गौतम अडानी 60वें जन्मदिन पर 60,000 करोड़ कर रहे दान, अजीम प्रेमजी ने की तारीफ

गौतम अडानी शुक्रवार 24 जून को 60 वर्ष के हो गए. दान किया जाने वाला अमाउंट, गौतम अडानी की कुल संपत्ति का 9 प्रतिशत है.
0 CLAPS
0

एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी (Gautam Adani) और उनके परिवार ने उनके 60वें जन्मदिन के मौके पर कई सामाजिक कार्यों के लिए 60,000 करोड़ रुपये (7.7 अरब डॉलर) दान करने का संकल्प लिया है. अडानी ने ब्लूमबर्ग को एक इंटरव्यू में बताया कि हेल्थकेयर, शिक्षा और स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा देने के लिए दान का प्रबंधन अडानी फाउंडेशन द्वारा किया जाएगा. गौतम अडानी शुक्रवार 24 जून को 60 वर्ष के हो गए. दान किया जाने वाला अमाउंट, गौतम अडानी की कुल संपत्ति का 9 प्रतिशत है.

उन्होंने कहा, 'यह भारतीय कॉर्पोरेट इतिहास में एक फाउंडेशन के लिए किए गए सबसे बड़े ट्रान्सफर्स में से एक है. यह प्रतिबद्धता उनके पिता शांतिलाल अडानी के जन्म शताब्दी वर्ष का भी सम्मान करती है.' उन्होंने कहा कि हम आने वाले महीनों में रणनीति को औपचारिक रूप देने और इन तीन क्षेत्रों में धन के आवंटन का फैसला करने के लिए तीन विशेषज्ञ समितियों को आमंत्रित करेंगे. समितियों में सहायक भूमिकाओं में अडानी परिवार के सदस्य होंगे. आने वाले महीनों में एक या दो और फोकस एरियाज को जोड़ने की योजना है.

मार्क जुकरबर्ग और वॉरेन बफे जैसे अरबपति दानवीरों में शामिल

अब गौतम अडानी, मार्क जुकरबर्ग और वॉरेन बफे जैसे वैश्विक अरबपतियों की श्रेणी में शामिल हो गए हैं, जिन्होंने परोपकार के लिए अपनी संपत्ति का बड़ा हिस्सा दान दिया है. अडानी की दान प्रतिज्ञा, बिल गेट्स और मेलिंडा फ्रेंच गेट्स की ओर से 2021 में अपनी फाउंडेशन को दिए गए दान का लगभग आधा है. अडानी पहले से भारत के टॉप दानवीरों में से एक हैं. पिछले साल वह EdelGive Hurun India Philanthropy List में 130 करोड़ रुपये के दान के साथ वेदांता ग्रुप के चेयरमैन अनिल अग्रवाल के साथ 8वें पायदान पर थे.

अजीम प्रेमजी भारत के सबसे बड़े दानवीर

भारत में सबसे बड़ा दानवीर विप्रो के फाउंडर-चेयरमैन अजीम प्रेमजी को माना जाता है. Hurun India और EdelGive Foundation की साल 2021 की एक रिपोर्ट के अनुसार, अन्य टाइकून की बात करें तो विप्रो के पूर्व चेयरमैन अजीम प्रेमजी के पास 21 अरब डॉलर के सबसे बड़े एंडोमेंट के साथ एक धर्मार्थ ट्रस्ट है. जबकि टाटा ट्रस्ट्स, टाटा संस के चेयरमैन एमेरिटस, रतन टाटा की देखरेख में, करेंट वैल्यू के आधार पर 102 अरब डॉलर से अधिक का दान दे चुकी है.

अडानी के पास अभी कितनी दौलत

ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार, इस वक्त गौतम अडानी की कुल संपत्ति लगभग 92 अरब डॉलर है. भारतीय करेंसी में यह 7205.07 अरब रुपये होती है. अडानी की संपत्ति में इस साल 15 अरब डॉलर से अधिक का इजाफा हुआ है. अडानी समूह ने 1988 में एक छोटी एग्री ट्रेडिंग फर्म के साथ शुरुआत की थी. यह अब एक ऐसे समूह में बदल गया है, जो कोयला व्यापार, खनन, लॉजिस्टिक्स, बिजली उत्पादन और डिस्ट्रीब्यूशन तक फैला है. हाल ही में इसने ग्रीन एनर्जी, हवाईअड्डों, डेटा सेंटर्स और सीमेंट में प्रवेश किया है. गौतम अडानी ने अपने समूह को दुनिया का सबसे बड़ा रिन्युएबल एनर्जी उत्पादक बनाने के लिए 2030 तक कुल 70 अरब डॉलर का निवेश करने की भी प्रतिबद्धता जताई है.

कॉलेज ड्रॉपआउट गौतम अडानी ने पहली बार 1980 के दशक की शुरुआत में अपने भाई के प्लास्टिक व्यवसाय को चलाने में मदद करने के लिए गुजरात लौटने से पहले मुंबई के हीरा उद्योग में अपनी किस्मत आजमाई. 1988 में उन्होंने एक एग्री ट्रेडिंग फर्म के रूप में अडानी एंटरप्राइजेज की स्थापना की.

अडानी फाउंडेशन की स्थापना 1996 में

गौतम अडानी की पत्नी प्रीति अडानी के नेतृत्व में अडानी फाउंडेशन की स्थापना 1996 में हुई थी. इस फाउंडेशन ने भारत के ग्रामीण इलाकों में सामाजिक कार्यक्रमों पर काम किया है. इसकी वेबसाइट के अनुसार, यह भारत के 16 राज्यों के 2409 गांवों में 37 लाख से अधिक लोगों तक पहुंच चुका है. गौतम अडानी के अपने 60वें जन्मदिन पर 60000 करोड़ रुपये के दान की घोषणा को अजीम प्रेमजी और हर्ष गोयनका ने सराहा है.