Goldman Sachs एक बार फिर कर रही सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी, बताई ये वजह...

Goldman Sachs एक बार फिर कर रही सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी, बताई ये वजह...

Tuesday December 13, 2022,

3 min Read

ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैच (Goldman Sachs) कथित तौर पर अपने कंज्यूमर बिजनेस में सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना बना रहा है.

नौकरियों में कटौती करने का कंपनी का फैसला सीईओ डेविड सोलोमन (David Solomon) द्वारा "मेन स्ट्रीट" बैंकिंग महत्वाकांक्षाओं को कम करने की योजना की घोषणा के बाद आया है. द फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट इसकी जानकारी दी गई है.

मामले से वाकिफ लोगों के मुताबिक, बैंकिंग प्रमुख अपने मार्कस-ब्रांडेड रिटेल बैंकिंग प्लेटफॉर्म के जरिए पर्सनल लोन की पेशकश बंद करने की भी योजना बना रही है.

कंपनी ने 2016 में अपने पहले कंज्यूमर प्रोडक्ट्स में से एक के रूप में पर्सनल लोन की घोषणा की, विशेष रूप से ऋण समेकन (debt consolidation) के लिए.

रिपोर्ट के अनुसार, सोलोमन ने अक्टूबर में घोषणा की कि वर्षों के घाटे और बढ़ती लागत के बाद गोल्डमैन अपनी रिटेल बैंकिंग यूनिट को काफी कम कर देगा.

हालांकि, इसका मार्कस डिवीजन अभी भी रिटेल डिपोजिट स्वीकार करेगा, जो बैंक के लिए फंडिंग का अपेक्षाकृत सस्ता स्रोत प्रदान करता है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ये छंटनी खराब प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों की वार्षिक छंटनी के अतिरिक्त होगी, जो बैंकिंग फर्म आमतौर पर हर साल करती है.

इसके अलावा, गोल्डमैन 2023 में संभावित मंदी के लिए भी तैयार है.

सोलोमन ने कहा कि गोल्डमैन ने "खर्च कम करने की कुछ योजनाओं को शुरू किया है, लेकिन इसके लाभों को महसूस करने में कुछ समय लगेगा".

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस छंटनी से 400 से अधिक कर्मचारियों के प्रभावित होने का अनुमान है.

हालांकि, गोल्डमैन, जो दुनिया भर में 49,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है, ने इस बात पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

इस महीने की शुरुआत में, वैश्विक निवेश सलाहकार फर्म मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) ने वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच अपने वैश्विक कार्यबल का लगभग 2 प्रतिशत यानि कि लगभग 1,600 कर्मचारियों की छंटनी की थी. कंपनी में करीब 81,567 कर्मचारी हैं.

करीब तीन महीने पहले, सितंबर महीने में खर्चों को कंट्रोल करने के लिए गोल्डमैन सैच ग्रुप ने सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी करने का ऐलान किया था. गोल्डमैन के पास दूसरी तिमाही के अंत में 47,000 कर्मचारी थे, जबकि बीते दो सालों में कर्मचारियों की संख्या 39,100 थी. गोल्डमैन इन्वेस्टमेंट बैंकिंग पर स्लोडाउन का असर हुआ है.

दूसरी तिमाही में बैंक ने जानकारी दी थी कि उसका तिमाही मुनाफा 48 प्रतिशत गिरा है. इसकी इनवेस्टमेंट बैंकिंग डिविजन से आय 2.1 अरब डॉलर रही है जो कि पिछले साल के मुकाबले 41 प्रतिशत कम है. बैंक ने नतीजों के बाद कहा कि महामारी, रूस यूक्रेन संकट, बढ़ती महंगाई आदि की वजह से उसके क्लाइंट पर असर पड़ा है जिससे बैंक की आय और मुनाफा भी घट गया है.

यह भी पढ़ें
दूसरी कंपनियां छीन रही नौकरी! ये कंपनी लेकर आई 5000 नौकरियां