भारत में लॉन्च हुई दुनिया की पहली डोरस्टेप EV चार्जिंग सर्विस, अब ऐप के जरिए घर बुलाएं चार्जिंग वैन

कंपनी का कहना है कि Hopcharge की मेड-इन-इंडिया, पेटेंटेड रैपिड चार्जिंग तकनीक के चलते मॉड्यूलर और मोबाइल चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को सक्षम बनाया गया है, जो लोकल ग्रिड के साथ, महंगे ग्रिड अपग्रेड की जरूरत को खत्म करता है, और ईवी मालिकों को समय बचाने में भी मदद करता है।

भारत में लॉन्च हुई दुनिया की पहली डोरस्टेप EV चार्जिंग सर्विस, अब ऐप के जरिए घर बुलाएं चार्जिंग वैन

Wednesday March 02, 2022,

3 min Read

गुरुग्राम स्थित स्टार्टअप Hopcharge ने दुनिया की पहली ऑन-डिमांड, डोरस्टेप, फास्ट इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग सर्विस शुरू की है। पिछले कुछ समय से कंपनी इस सर्विस को गुरुग्राम में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में टेस्ट कर रही थी।

अब कंपनी का कहना है कि आने वाले महीनों में इस डोरस्टेप ईवी चार्जिंग को सभी बड़े महानगरों में जारी किया जाएगा। इस सर्विस के तहत कंपनी द्वारा जारी एक ऐप के जरिए इलेक्ट्रिक व्हीकल मालिक अपनी सहूलियत के हिसाब से चार्जिंग वैन को बुला सकते हैं। यह सर्विस किसी भी ईवी मालिक के उस समय बेहद काम आ सकती है, जब रास्ते में उसकी इलेक्ट्रिक कार का चार्ज पूरी तरह से खत्म हो गया हो।

2019 में स्थापित Hopcharge ने बताया कि स्टार्टअप चार्जिंग सुविधाओं की अनुपलब्धता, घर पर धीमी चार्जिंग और इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने में लगने वाले समय जैसी चुनौतियों का समाधान कर रहा है। कंपनी का कहना है कि Hopcharge की मेड-इन-इंडिया, पेटेंटेड रैपिड चार्जिंग तकनीक के चलते मॉड्यूलर और मोबाइल चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को सक्षम बनाया गया है, जो लोकल ग्रिड के साथ, महंगे ग्रिड अपग्रेड की जरूरत को खत्म करता है, और ईवी मालिकों को समय बचाने में भी मदद करता है।

Electric Vehicle Charging

सांकेतिक चित्र

रिपोर्ट आगे बताती है कि Hopcharge यूज़र को कम से कम 3 से 4 रुपये प्रति किलोमीटर का भुगतान करना होगा, जो लगभग 20 रुपये प्रति kWh चार्जिंग होता है। हालांकि, रिपोर्ट यह भी कहती है कि यह सर्विस ईवी मालिक को घर पर या चार्जिंग स्टेशन पर अपनी कार को चार्ज करने की तुलना में महंगा पड़ेगा, लेकिन इस बात से भी मुह नहीं मोड़ा जा सकता है कि यह ऑन-डिमांड सर्विस है, जो आपको आपके हिसाब से मोबाइल सर्विस प्रदान करेगी।

Hopcharge का यह भी दावा है कि उनकी पेटेंट टेक्नोलॉजी बैटरी लाइफ का भी ध्यान रखती है, जिससे उसकी लाइफ लंबी होगी।

सर्विस के बारे में बताया गया है कि इच्छुक यूज़र्स एक ऐप के जरिए डोरस्टेप ईवी चार्जिंग सर्विस का लाभ उठा सकते हैं। यह ऐप Android और iOS दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। ऐप एंड-टू-एंड प्रोसेस के लिए एक खास टेक्नोलॉजी-पावर्ड बैक-एंड एनर्जी मैनेजमेंट सिस्टम को सपोर्ट करता है और ग्लोबल लेवल पर बेचे जाने वाले सभी ईवी को सपोर्ट करता है।

कंपनी HopechargeX या Hopcharge Xpresso जैसे विभिन्न hoc और सब्सक्रिप्शन मॉडल के साथ काम करती है, जिसके जरिए यूज़र ऑन-डिमांड चार्जिंग के लिए बुकिंग कर सकते हैं। ये सब्सक्रिप्शन मॉडल ग्राहकों की विभिन्न चार्जिंग जरूरतों को ध्यान में रखते हुए डिज़ाइन किए गए हैं।

रिपोर्ट कहती है कि कंपनी एक चार्जिंग सिस्टम शुरू करने पर भी काम कर रही है, जिसमें विशेष रूप से इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए डिज़ाइन की गई हाई पावर चार्जिंग क्षमताओं वाले कनेक्टेड और पोर्टेबल पावर बैंक शामिल हैं।