4 साल में खड़ा किया 8 करोड़ का कारोबार, क्रिकेटर और ऐक्टर्स इस्तेमाल करते हैं इनके प्रॉडक्ट

126 CLAPS
0

टैबी भाटिया

पूरे भारत में किसी भी मॉल में एंट्री करें आपको इंटरनेशनल ब्रांडों की एक लंबी रेंज दिखाई देगी जो इस स्पेस में ज्यादा कस्टमर्स का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रही है। हालांकि कुछ भारतीय ब्रांड्स भी हैं जो इंटरनेशनल ब्रांड्स को टक्कर देने के लिए काफी प्रयासरत रहते हैं। लेकिन जालंधर के रहने वाले टैबी भाटिया को कुछ और ही मंजूर था। उन्होंने फैसला किया कि इंटरनेशनल डिमांड के बावजूद, अपने विदेशी समकक्षों को पीछे छोड़ते हुए एक घरेलू ब्रांड शुरू करने का समय आ गया है।

टैबी भाटिया एक ऐसे परिवार से आते हैं जिनका मैन्युफैक्चरिंग और निर्यात में तीन दशक से अधिक का अनुभव रहा है। इसके अलावा खुद टैबी के पास ह्यूगो बॉस, जारा जैसे कई प्रीमियम इंटरनेशनल ब्रांडों में काम का समृद्ध अनुभव है। 2015 में टैबी ने वोगानो फैशन प्राइवेट लिमिटेड (Voganow Fashion Pvt Ltd) के अंतर्गत दो ब्रांड, बेयरस्किन और ब्रुने (Bareskin and Brune) को लॉन्च किया। ब्रांड उच्च स्तर के चमड़े के उत्पाद, जिनमें जैकेट, बैग, जूते और एसेसरीज शामिल हैं ऑफर करता है। वे इन्हें सस्ती कीमत पर उपलब्ध कराते हैं।

आप इसका अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि मात्र चार साल पुराने इन ब्रांड्स बेयरस्किन और ब्रुने को किन-किन दिग्गजों ने पहना है? जी हां, क्रिकेटर शिखर धवन और रोहित शर्मा, बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह, आयुष्मान खुराना और अजय देवगन जैसे अपने फील्ड के दिग्गजों ने इस ब्रांड के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया है। SMBStory के साथ बातचीत में, टैबी कहते हैं, "यह सच है कि लोग इन दिनों इंटरनेशनल ब्रांडों के प्रति अधिक जागरूक हो गए हैं। लेकिन, हमारे पास वो कलेक्शन और स्टाइल है जो कई ब्रांड पेश नहीं करते हैं। उपलब्ध कलर, स्टाइल और कस्टमाइजेशन ऑप्शन हमारी यूएसपी हैं।"

बेयरस्किन भारत के पहले ऑनलाइन फैशन ब्रांडों में से एक है जिसने कस्टमाइज लेदर जैकेट उपलब्ध कराने का बीड़ा उठाया है; इस बीच, ब्रुने क्लासिक चमड़े के सामान और जूते की एक रेंज ऑफर करता है।

शुरुआत

टैबी ने 1.3 करोड़ रुपये का कर्ज लेकर अपने ब्रांड लॉन्च किए। बेयरस्किन और ब्रुने को राष्ट्र के शीर्ष ब्रांड बनाने की स्पष्ट दृष्टि के साथ लॉन्च किया गया था। उन्होंने ऑफलाइन स्टोर खोलने के बजाय अपनी यात्रा शुरू करने के लिए ऑनलाइन मार्ग चुना। धीरे-धीरे, उन्होंने Myntra, Snapdeal और Jabong पर बेचना शुरू कर दिया; बेयरस्किन संयोग से पहला ब्रांड था जिसने चमड़े की जैकेट को एक्सक्लूसिवली Myntra पर बेचा था। हालाँकि, जल्द ही भारी छूट के कारण टैबी के लिए प्रतिस्पर्धा करना कठिन होने लगा।

वह कहते हैं, "हमारे लॉन्च के तुरंत बाद, विभिन्न अन्य ब्रांड सामने आए और चमड़े के उत्पादों को कीमत में भारी कमी के साथ सूचीबद्ध किया। ऑनलाइन डिस्काउंटिंग नौटंकी ने हमारे लिए काफी मुश्किलें पैदा कीं, और यह इस मैदान पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए एक परेशानी थी। यही कारण है कि मैंने अपना खुद का पोर्टल लॉन्च करने के बारे में सोचा।" टैबी ने 2016 में voganow.com लॉन्च किया। वेबसाइट ने गूगल विज्ञापन और सोशल मीडिया मार्केटिंग में पुश एडवाइजिंग और निवेश के माध्यम से पहचान स्थापित करना शुरू कर दिया।

वह SMBStory को बताते हैं कि उन्होंने शुरुआत में सोशल मीडिया मार्केटिंग पर बहुत पैसा लगाया, लेकिन एक दूसरे से तारीफ सुनकर ग्राहकों प्रोडक्ट खरीदना ज्यादा शुरू किया। वोगानो का 35,000 कस्टमर बेस है जिसमें 75 प्रतिशत कस्टमर उनके प्रोडक्ट रिपीट करते हैं। सिर्फ 4 साल की अवधि में, कंपनी ने सालाना 8 करोड़ रुपये का कारोबार किया है।

टैबी कहते हैं, "हम पेटिना फिनिश (patina finish) में चमड़े के प्रोडक्ट्स का निर्माण करते हैं, जो इस इंडस्ट्री में कई प्लेयर्स उपयोग नहीं करते हैं क्योंकि यह एक समय लेने वाली प्रक्रिया है। हम अपने प्रत्येक प्रोडक्ट के लिए कस्टमाइजेशन की सुविधा भी ऑफर करते हैं, जो लगभग कोई ब्रांड ऑफर नहीं करता है।” 

टैबी आगरा के एक परिवार के बारे में बताते हैं जो जयपुर में अपने बेटे के लिए एक डेस्टीनेशन वेडिंग की योजना बना रहा था। फंक्शन के लिए उनका थीम कलर फ्यूशिया गुलाबी थी। टैबी कहते हैं, "फ्यूशिया गुलाबी रंग में कपड़े और जूते की रेंज केवल महिलाओं के लिए उपलब्ध है, लेकिन सचमुच कहें तो पुरुषों के लिए ऐसा कुछ भी उपलब्ध नहीं है। हमारे बारे में हमारे एक ग्राहक से जानने के बाद उन्होंने मुझे एक ऑर्डर दिया। जिसके बाद हमने उन्हें पुरुषों के लिए फ्यूशिया गुलाबी रंग के जूते डिलीवर दिए और उन्हें बहुत अच्छा लगा।'' वोगानो ने भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह की शादी में उनके लिए जूते डिजाइन और कस्टमाइज किए थे। 

ब्रांड इटली और मध्य पूर्व से वनस्पति रंगों के साथ चमड़े का आयात करता है। इसकी जालंधर में एक विनिर्माण इकाई है, जिसमें 30 लोग काम करते हैं, और नई दिल्ली में एक गोदाम सुविधा है। वोगानो का ग्राहक आधार धीरे-धीरे महीनों में बढ़ता गया, मुख्य रूप से ग्राहकों की सिफारिशों के माध्यम से उनका ग्राहक बेस बढ़ा।



बैटिंग फॉर टीम इंडिया

टैबी याद करते हैं कि कैसे उन्होंने कुछ क्रिकेटरों को अपनी ओर आकर्षित किया और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के साथ एक कॉन्ट्रैक्ट भी साइन किया है। वह कहते हैं, “पिछले साल चंडीगढ़ में, मैंने एक होटल में अपना लेबल प्रदर्शित किया, जहाँ एक मैच के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ठहरी हुई थी। मैंने अनुमति मांगी और सौभाग्य से मेरे प्रोडक्ट को टीम के सामने प्रदर्शित करने की अनुमति दे दी गई थी।” 

युवराज सिंह, एमएस धोनी और शिखर धवन सहित क्रिकेटरों ने उत्पादों को बहुत पसंद किया। वे कहते हैं कि तब से, शिखर धवन को कई बार ब्रुने की जलसा जूती में देखा गया है। बेयरस्किन और ब्रुने ने क्रिकेटरों के बीच एक बड़ी प्रसिद्धि प्राप्त की और इसमें अधिक समय नहीं लगा। 

जल्द ही, ब्रुने प्रोडक्ट्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के लिए अपना रास्ता बना लिया। कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) और चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) ने पूरी टीम और स्टाफ के लिए ब्रुने बैग का इस्तेमाल किया। बैग को विशेष रूप से उनके रंगों में तैयार किया गया था और उन पर खिलाड़ियों के निशान थे। टैबी का कहना है कि उनकी इस सर्विस को "टीम द्वारा सबसे अधिक सराहना और प्यार" मिला।

विश्व कप के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के इंग्लैंड रवाना होने से पहले, BCCI ने ब्रुने की पहले से तय की गई खास सर्विस का लाभ उठाया। दरअसल इसने पूरी टीम के लिए "इनिशियल" बैकपैक और डफल बैग ऑर्डर किए थे; बैग में BCCI का लोगो भी था। ऑर्डर में विशेष मांग पर प्रत्येक खिलाड़ी के लिए चमड़े के ऑक्सफोर्ड की एक जोड़ी भी शामिल थी। ब्रुने ने मौजूदा विश्व कप के लिए भारतीय क्रिकेट टीम और बीसीसीआई सदस्यों के लिए सभी के लिए 55 किट डिजाइन किए हैं। प्रत्येक उत्पाद को इटैलियन शूमेकिंग में इस्तेमाल होने वाली सबसे पुरानी तकनीकों का उपयोग कर बनाया गया है; इस तकनीक को बरलूटी और मगननी जैसे ब्रांडों द्वारा भी उपयोग किया जाता है।

चुनौतियां और भविष्य

वोगानो ब्रांड भले ही अब लोकप्रिय हो, लेकिन निर्माण स्वीकृति आसान नहीं है। टैबी का कहना है कि उन्हें खुद को सफल बनाए रहने के लिए संघर्ष करना पड़ा। सेल्फ फंडेड होने के कारण, सफलता मिलने में थोड़ा समय लगा; वह भी, छूट और सौदों के लालच के बिना जो विभिन्न ईकॉमर्स पोर्टल प्रदान करते हैं।

इस साल कंपनी अपने ऑफलाइन प्लान के साथ आधार को छू रही है और इसमें ब्रिक्स-एंड-क्लिक मॉडल (ऑनलाइन-और-ऑफलाइन संयोजन) को ध्यान में रखा गया है। संस्थापक का कहना है कि लक्ष्य कई क्षेत्रों में अपनी ऑफलाइन उपस्थिति फैलाना है; यह ऑनलाइन के लिए डिस्प्ले या एक्सचेंज ग्राउंड के रूप में काम कर सकता है। वे कहते हैं, “मुझे वास्तव में व्यापार करने का जारा मॉडल पसंद है; इसने उन लोगों के लिए जीवन को आसान बना दिया है जो वास्तव में व्यस्त हैं। ब्रांड लोगों को ऑनलाइन खरीदारी करने और ऑफलाइन रिटर्न करने की अनुमति देता है, इस प्रकार यह अपने ग्राहकों को आसानी प्रदान करता है।” 

वित्त वर्ष 2019 के अंत तक वोगानो का जालंधर, मुंबई, और दिल्ली के टर्मिनल 1 में दो-तीन फ्लैगशिप स्टोर खोलने का लक्ष्य है। टैबी अंत में कहते हैं, "हम अगले दो वर्षों के भीतर भारत में पांच स्टोर शुरू करने के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में अपने पंख फैलाना चाहते हैं।"


Latest

Updates from around the world