लो आ गई भारतीय रेलवे की रेल साइकिल, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शेयर किया वीडियो

लो आ गई भारतीय रेलवे की रेल साइकिल, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शेयर किया वीडियो

Friday July 31, 2020,

2 min Read

यात्री सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भारतीय रेलवे ने एक नई और अनोखी प्रणाली शुरू की है। हाल ही में, राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने निरीक्षण, निगरानी और तत्काल मरम्मत के लिए रेल पटरियों पर जल्दी से यात्रा करने के लिए एक रेल साइकिल की शुरुआत की है।


क

फोटो साभार: NewIndianExpress


रेल मंत्रालय के अनुसार, मानसून के मौसम के दौरान, कभी-कभी स्थिति बहुत कठिन हो जाती है, जिससे ट्रेन सेवाओं पर रोक लग जाती है। रेल साइकिल की मदद से किसी भी आपातकालीन स्थान पर अब तत्काल मरम्मत के लिए आसानी से पहुंचा जा सकता है।


भारी बारिश की बौछार के बाद, रेल साइकिल के साथ कम समय में कर्मचारियों द्वारा पुल और अन्य कमजोर स्थानों का आसानी से निरीक्षण किया जा सकता है।


इसकी जानकारी देते हुए केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर किया है।


रेल मंत्रालय के अनुसार, आपातकालीन परिस्थितियों के अलावा, गर्मी के मौसम के दौरान पैट्रोलिंग के साथ-साथ रेल पटरियों की दैनिक निगरानी के लिए रेल साइकिल बहुत मददगार साबित होगी।


चल रही कोविड-19 महामारी के कारण, वर्तमान में भारतीय रेलवे नेटवर्क पर कुछ खंड यातायात के लिए बंद हैं। इन वर्गों में, रेल साइकिल का उपयोग सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए गश्त के लिए किया जा सकता है।


यह लगभग 20 किलोग्राम की हल्के वजन की है और इसे केवल एक व्यक्ति द्वारा उठाया जा सकता है। साइकिल को एक व्यक्ति द्वारा आसानी से असेंबल और डिसमेंटल किया जा सकता है। रेल साइकिल की औसत गति 10 किमी प्रति घंटा है और अधिकतम गति 15 किमी प्रति घंटा है। यह रेल साइकिल दो व्यक्तियों को ले जा सकती है।


इस रेल साइकिल के निर्माण के लिए, फ्रंट व्हील्स के लिये अलाइनमेंट, पुरानी साइकिल, और हल्के वजन वाले लोहे के पाइप का उपयोग किया गया है।


रेल मंत्रालय के अनुसार, इन रेल साइकिलों का निर्माण बहुत ही किफायती दरों पर आसानी से किया जा सकता है। रेल साइकिल की कुल लागत केवल 5000 रुपये है।



Edited by रविकांत पारीक