स्विट्ज़रलैंड की फ्लाइट टिकट से भी सस्ता है इस ऐप के जरिये स्विस गोल्ड में निवेश करना

स्विस गोल्ड में निवेश को सरल बना रही है ये ऐप, भारतीय सोने की तुलना में यूजर्स को मिल रहा है अधिक फायदा
0 CLAPS
0

"गिल्डेड आज लोगों को डिजिटल सोने में आसानी से और सुरक्षित तरीके से निवेश करने का माध्यम उपलब्ध करा रहा है, जहां लोग आमतौर पर सस्ता सोना खरीद पाने में सक्षम हो रहे हैं।"

App interface (साभार: Gilded)

अमेरिका के आयोवा में पले-बढ़े अशरफ रिज़वी ने अपने जीवन के शुरुआती दिनों में ही सोने में निवेश के महत्व और मूल्य के बारे में जानना शुरू कर दिया था। उन्हें यह समझ आ चुका था कि भारतीय घरों में सहेज कर रखी जाने वाली इस पीली धातु को ना सिर्फ एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक विरासत के रूप में पहुंचाया जाता है, बल्कि इसे समय के साथ बढ़ते मूल्य को देखते हुए इसका भंडारण भी किया जाता है।

जैसे-जैसे वे बड़े हुए हुए उन्होने अपने पैसों को निवेश करना शुरू किया, उन्होने यह महसूस किया कि दरअसल सोना खरीदने, उसे सहेज कर रखने और फिर उसे बेचने की प्रक्रिया कितनी कठिन थी। विभिन्न देशों में सोने की कीमतों में भिन्नता भी उनके सामने एक समस्या थी। भारतीय सोना दुनिया के अन्य हिस्सों में उपलब्ध सोने की तुलना में अधिक महंगा था और इसके साथ तमाम मुश्किलें भी जुड़ी थीं।

योरस्टोरी से बात करते हुए अशरफ कहते हैं,

“सोना खरीदने की पूरी प्रक्रिया आपका पूरा एक दिन बर्बाद कर देती थी, जबकि मैं इसे खेल खेलने या कुछ और करने में बेहतर ढंग से खर्च करना चाहता था। इसी के साथ मुझे पता चल गया था कि मैं दुनिया भर के लोगों को एक आसान और सरल तरीके से सोने जैसी संपत्ति में निवेश करने की स्वतंत्रता देना चाहता था।”

अशरफ जब महज 13 साल के थे तभी उन्होने उद्यमिता की ओर अपना रुझान दिखाना शुरू कर दिया था, तब अशरफ पैसे कमाने के लिए अखबार डिलीवर करने व किराने का सामान पहुंचाने जैसे काम किया करते थे। अशरफ ने अपने कदम इस दिशा में आगे बढ़ाते हुए साल 2019 में गिल्डेड की स्थापना की थी।

पहले डिजिटल स्विस गोल्ड के रूप में पहचाने जाने वाले गिल्डेड ने इस महीने की शुरुआत में ही खुद को रीब्रांड किया गया था। यह एक ऐसी ऐप है जो यूजर्स को स्विस रिफाइनरियों से प्राप्त सोने में आंशिक मात्रा में निवेश करने की अनुमति देती है। यह सोना शुद्ध होता है और लंदन बुलियन मार्केट एसोसिएशन (LBMA) द्वारा प्रमाणित भी है।

ऐप को अब तक लगभग दो लाख से अधिक डाउनलोड और 75,000 से अधिक ग्राहक मिल चुके हैं। ऐप पर आम दिनों में कुछ हज़ार विजिटर आते, जबकि शुभ अवसरों और विशेष प्रमोशन के दौरान इनकी संख्या में बड़ी वृद्धि होती है।

कैसे काम करता है यह?

App interface (साभार: Gilded)

अशरफ का कहना है कि स्विस गोल्ड न केवल अन्य की तुलना में उच्च गुणवत्ता का है, बल्कि बाकी सोने से सस्ता भी है। गिल्डेड के माध्यम से हुई सोने की खरीद को डिजिटल गोदामों में इकट्ठा किया जाता है और हर यूजर की खरीद का विवरण एक ब्लॉकचैन पर स्थायी रूप से दर्ज किया जाता है, ताकि इसके साथ कोई छेड़छाड़ न की जा सके।

गिल्डेड अपने यूजर्स से जो वादे करता है, उसमें पारदर्शी मूल्य निर्धारण, सुरक्षा और गुणवत्ता सबसे आगे हैं, इसी के साथ और प्रत्येक खरीद के साथ सोना के स्वामित्व का प्रमाण पत्र भी जारी किया जाता है। इस प्रमाण पत्र में महत्वपूर्ण जानकारी होती है जैसे कि गोल्ड होल्डिंग का खाता नंबर, गोल्ड बार सीरियल नंबर, प्रामाणिकता का प्रमाण पत्र, एक रसीद जिसमें डिजिटल वेयरहाउस के बारे में जानकारी दर्ज़ होती है और साथ ही गोल्ड बार की एक तस्वीर शामिल होती है।

अशरफ कहते हैं,

“इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप भारत में कहां हैं, जब तक आपके पास स्मार्टफोन और इंटरनेट कनेक्शन है, आप हमारे ऐप के माध्यम से सोने में निवेश शुरू कर सकते हैं और भारतीय सोने की कीमतों की तुलना में 6-10 प्रतिशत की बचत कर सकते हैं क्योंकि यहाँ बिचौलिए शामिल नहीं हैं।”

वे आगे कहते हैं,

"हमारा सबसे बड़ा अंतर यह है कि हमारा प्लेटफॉर्म भारतीयों को अपने घरों में आराम से रहते हुए और न्यूनतम प्रयास के साथ प्रामाणिक स्विस सोने में निवेश करने की अनुमति देता है।”

स्टार्टअप ने हाल ही में देश में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए भारत में अलंकित के साथ पार्टनरशिप की है, और यह अभी और भी कई नई पार्टनरशिप पर काम कर रहा है, जिसकी घोषणा आने वाले हफ्तों में की जाएगी।

प्लेटफ़ॉर्म पर निवेश की शुरुआत करना आसान है- सभी यूजर्स को अपना केवाईसी विवरण दर्ज करना होता है और एक बार स्वीकृत होने के बाद यूजर सोना खरीदना शुरू कर सकते हैं। सोने की रीयल-टाइम कीमतें, कीमतों में उतार-चढ़ाव के ग्राफ और सोने के बाजार की ताजा खबरें आदि भी ऐप पर आसानी से उपलब्ध हैं।

अशरफ कहते हैं,

"हमने अपनी ऐप को इस्तेमाल में आसान बनाने पर ध्यान केंद्रित किया है और पाया है कि अधिकांश लोग ऐप डाउनलोड कर सकते हैं, साइन अप कर सकते हैं और 5-8 मिनट के भीतर खरीदारी कर सकते हैं। दूसरी खरीदारी करने का सामान्य समय एक मिनट से भी कम है।”

गौरतलब है कि यह ऐप लोगों को नकद के बदले में जब चाहें अपना सोना बेचने का विकल्प भी प्रदान करता है।

कैसा है राजस्व मॉडल?

गिल्डेड का कहना है कि वह अपने यूजर्स से सोने के भंडारण के लिए चार्ज नहीं करता है, इसी के साथ ये गैर-बैंक वॉल्ट सुविधाओं का उपयोग नहीं करता है, जिससे उपयोगकर्ताओं के लिए सोने को जब तक चाहें स्टोर करना सुविधाजनक हो जाता है। यह मुख्य रूप से अपनी सेवाओं के लिए प्रशासनिक शुल्क से अपना राजस्व अर्जित करता है और इसी के साथ डेबिट/क्रेडिट कार्ड उपयोग शुल्क भुगतान सेवा प्रदाताओं को दी जाने वाले फ़ॉरेन एक्स्चेंज रेट भी इसमें शामिल हैं।

अशरफ का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि उनकी फर्म अगले दो वर्षों में लाभ कमाएगी। कंपनी में अधिकांश पैसा अभी भागीदारों और संस्थापकों द्वारा निवेश किया गया है, लेकिन कंपनी इस साल के अंत में निवेश फंड जुटाने पर विचार कर रही है।

हर महीने लेनदेन में 100 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि के साथ गिल्डेड बड़े पैमाने पर विस्तार के लिए अब अपनी कमर कस रहा है। यह आने वाले हफ्तों और महीनों में इंडोनेशिया, तुर्की, मलेशिया, फिलीपींस, कतर और अमेरिका जैसे वैश्विक बाजारों में अपनी ऐप लॉन्च करने की तैयारी में है।

इस पर बात करते हुए अशरफ कहते हैं,

“हम सभी आयु वर्ग के लोगों को अपनी संपत्ति की सुरक्षा के लिए और सोने द्वारा ऐतिहासिक रूप से प्रदान किए गए लंबे समय के रिटर्न से लाभ उठाने के इरादे से निवेश शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं। इस समय हम कई महिला निवेशकों को अपने प्लेटफॉर्म पर निवेश उपकरण के रूप में डिजिटल गोल्ड की खोज करते हुए भी देख रहे हैं और हम निवेशकों के उस वर्ग को सेवा देना जारी रखना चाहते हैं।”

इस क्षेत्र में गिल्डेड के प्रतिस्पर्धियों में पेटीएम मनी, ज़ेरोधा, अपस्टॉक्स और ग्रो शामिल हैं। ये सभी ऑनलाइन निवेश प्लेटफॉर्म हैं जो निवेशकों को स्टॉक से लेकर म्यूचुअल फंड और सोने तक हर चीज में अपना पैसा निवेश में सक्षम बनाते हैं। तनिष्क और पीसी ज्वैलर्स जैसे आभूषण निर्माताओं ने भी भारत में 100 रुपये तक पर डिजिटल सोना बेचना शुरू कर दिया है।

विशेष रूप से पिछले वर्ष के दौरान कोरोना महामारी ने लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया है और इससे लोगों द्वारा की जाने वाली सोने की खरीद की प्रवृत्ति में काफी बदलाव आया है।आज युवाओं के साथ ही अधिकतर अधिक लोग डिजिटल सोने में निवेश कर रहे हैं। 2019 में 50 करोड़ से 2020 तक स्मार्टफोन यूजर्स की संख्या 80 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद के साथ ही अब डिजिटल गोल्ड के कई और नए खरीदार मिलने की उम्मीद है।

Edited by Ranjana Tripathi