महामारी के बीच पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने चेन्नई सुपर किंग्स के आधिकारिक मोची तक पहुंचाई मदद

By yourstory हिन्दी
June 16, 2020, Updated on : Wed Jun 17 2020 05:37:51 GMT+0000
महामारी के बीच पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने चेन्नई सुपर किंग्स के आधिकारिक मोची तक पहुंचाई मदद
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना महामारी के चलते बंद हुए क्रिकेट के खेल ने चेन्नई सुपर किंग्स के आधिकारिक मोची को आर्थिक रूप से बुरी तरह प्रभावित किया है।

ada

कोरोना वायरस महामारी ने ना जाने कितने ही लोगों का रोजगार छीन लिया है। इस बीच बड़ी संख्या में लोग मुहिम चलाकर ऐसे जरूरतमंद लोगों की मदद करने का काम कर रहे हैं। कुछ इसी तरह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सदस्य इरफान पठान भी लोगों की मदद करने में लगे हुए हैं।


इसके पहले लॉकडाउन के दौरान इरफान अपने बड़े भाई यूसुफ पठान के साथ मास्क, खाने के पैकेट और दवाइयां बांटते हुए देखे गए हैं, लेकिन हाल ही में इरफान ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के आधिकारिक मोची आर भास्करन को 25,000 रुपये देकर उनकी आर्थिक मदद की है, क्योंकि आईपीएल के स्थगित होने के कारण भास्करन के लिए यह बेहद मुश्किल समय चल रहा है।


भास्करन 1993 से चेन्नई के वालजाह रोड पर बैठते हैं और वह पिछले 12 वर्षों से सीएसके का आधिकारिक मोची हैं। मैच के दिनों के दौरान वे खिलाड़ियों के आधिकारिक क्षेत्र के बाहर बैठकर काम करते हैं।


इरफान पठान के इस काम की तारीफ टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर की है।


इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार इरफान को मीडिया रिपोर्ट पढ़ने के बाद भास्करन की दुर्दशा का पता चला और तब उन्होने उनकी मदद करने का फैसला किया। भास्करन ने मीडिया को बताया, “मुझे प्रति मैच 1,000 रुपये मिलते थे और सीएसके के खिलाड़ी मेरा ख्याल रखते थे, इसी के साथ धोनी भी मुझे मदद करते थे।”


भास्करन ने बताया, “पिछले हफ्ते इरफान पठान ने कुछ पैसे (25,000 रुपये) भेजे थे। मैंने परिवार के लिए किराने का सामान खरीदा। कोई पास कोई काम नहीं था, इसलिए मैंने पैसे उधार लिए थे और इसे वापस करना पड़ा। मुझे नहीं पता है कि अगर क्रिकेट वापस नहीं लौटा तो मैं कैसे जीवित रहूंगा।”


हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें