गूगल के साथ मिलकर अब जियो विकसित करेगी एंड्रॉइड आधारित OS

गूगल ने जियो में 33,737 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है।
0 CLAPS
0

यह जानकारी रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में साझा की है।

रिलायंस की यह एजीएम वर्चुअल माध्यम से हुई है।


रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने बुधवार को घोषणा की कि उसकी टेलीकम्युनिकेशन आर्म जियो अब गूगल के साथ एक एंड्रॉइड-आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम विकसित करने के लिए साझेदारी कर रही है, जो एंट्री लेवल के स्मार्टफोन के लिए होगा।

यह जानकारी रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में साझा की। यह बैठक कोरोनवायरस महामारी के कारण इस बार ऑनलाइन हुई थी।

एजीएम के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा कि कंपनी का लक्ष्य भारत को “2जी मुक्त" बनाना है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कंपनी एंड्रॉइड-आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले सस्ते 4जी या आ5जी स्मार्टफोन प्रदान करने की उम्मीद करती है।

गूगल और जियो के बीच होने जा रही साझेदारी के बारे में बात करते हुए रिलायंस के मुखिया मुकेश अंबानी ने कहा,

“इस साझेदारी के माध्यम से हम प्रत्येक भारतीय के हाथ में एक स्मार्ट डिवाइस होने के राष्ट्रीय मिशन में तेजी ला सकते हैं।”

मुकेश अंबानी ने आगे कहा कि जियो भारत में 35 करोड़ उपयोगकर्ताओं को किफायती स्मार्टफोन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

गूगल ने जियो में 33,737 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है। इस निवेश के जरिये गूगल जियो में 7.7 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीद लेगा। गौरतलब है कि 3 महीनों के भीतर ही जियो में यह 14वां बड़ा निवेश है।

बीते कुछ महीनों से जारी लॉकडाउन के बावजूद जियो प्लेटफॉर्म्स ने निवेशकों से 1 लाख 52 हज़ार 56 करोड़ रुपये जुटाये हैं।