आखिर क्यों ऑल टाइम लो पर पहुंचा Nykaa का शेयर, एक्सपर्ट से जानिए कब खरीद लेना चाहिए

By Anuj Maurya
January 18, 2023, Updated on : Wed Jan 18 2023 11:45:42 GMT+0000
आखिर क्यों ऑल टाइम लो पर पहुंचा Nykaa का शेयर, एक्सपर्ट से जानिए कब खरीद लेना चाहिए
कभी नायका के आईपीओ ने तमाम निवेशकों को मालामाल कर दिया था. अब नायका की हालत इतनी खराब है कि इसका शेयर ऑल टाइम लो पर जा पहुंचा है. जानिए शेयरों में इतनी बड़ी गिरावट क्यों आई.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कभी अपने निवेशकों को तगड़ा रिटर्न देने वाली कंपनी नायका (Nykaa) की हालत अभी बेहद खराब हो चुकी है. हालात ये हैं कि कंपनी का शेयर ऑल टाइम लो पर पहुंच गया है. तमाम निवेशक कंपनी के शेयर बेचकर इससे बाहर निकल रहे हैं. मंगलवार को कंपनी का शेयर 5 फीसदी तक गिरा और 133.30 रुपये के स्तर पर बंद हुआ. आज यानी बुधवार को भी कंपनी के शेयरों में गिरावट का ही रुख देखा जा रहा है. निवेशक अब इस सोच में हैं कि और नुकसान से बचने से बाहर निकल जाएं या फिर रुकना चाहिए? आइए एक नजर डालते हैं कंपनी के आंकड़ों पर और समझने की कोशिश करते हैं कि शेयरों की चाल क्या हो सकती है.

कैसी है कंपनी की वित्तीय हालत?

बात अगर वित्तीय हालत की करें तो कंपनी पिछले 3 सालों से लगातार मुनाफे में है. 2020 में कंपनी को 15 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. वहीं 2021 में कंपनी का मुनाफा बढ़कर 36 करोड़ रुपये हो गया. इसके बाद 2022 में कंपनी का मुनाफा 103 करोड़ रुपये हो गया. अगर 2023 की दूसरी तिमाही की बात करें तो उसमें कंपनी का मुनाफा करीब 61 करोड़ रुपये रहा, जो साल दर साल के आधार पर करीब 112 फीसदी अधिक था. यानी कंपनी के नतीजे तो शानदार दिख रहे हैं.

कंपनी के मैनेजमेंट का क्या है हाल?

ऐसा कहना सही नहीं होगा कि कंपनी के मैनेजेंट में सब कुछ बहुत अच्छा चल रहा है. अगर ऐसा होता तो पिछले साल नवंबर में कंपनी के सीएफओ अरविंद अग्रवाल ने इस्तीफा नहीं दिया था. अरविंद ने इस्तीफा देते हुए ये कहा है कि वह डिजिटल इकनॉमी और स्टार्टअप की दुनिया में नए मौकों की तलाश में अपनी जिम्मेदारियों से मुक्त हुए हैं. खैर, अगर इसकी कोई दूसरी भी वजह होगी तो उसके बारे में अभी लोग नहीं जानते. हालांकि, अगर किसी कंपनी से बड़े अधिकारी इस्तीफा देते हैं तो निवेशक काफी हद तक घबरा जाते हैं.

क्यों गिरता जा रहा है कंपनी का शेयर?

जब नायका का आईपीओ आया था, तो उसने निवेशकों को तगड़ा मुनाफा कराया था. हालांकि, अब कंपनी के शेयरों का हाल बहुत ही ज्यादा खराब है. कंपनी के शेयर ऑल टाइम लोग तक जा पहुंचे हैं. इसकी एक बड़ी वजह है कंपनी का फोकस कई सारे बिजनेस पर शिफ्ट होना. बिजनेस में डायवर्सिफिकेशन अच्छी बात है, लेकिन बिना लोगों का भरोसा जीते ऐसा नहीं करना चाहिए.


नायका के मामले में डायवर्सिफिकेशन एक बड़ी गलती की तरह भी देखा जा सकता है. कंपनी ने सितंबर 2022 में ही NykaaMan की शुरुआत की. कंपनी B2C से B2B सेंगमेंट की तरफ जाने लगी और Nykaa Super Store लॉन्च कर दिए. कंपनी ने अपना ध्यान फैशन समेत अलग-अलग सेक्टर पर भी शिफ्ट किया. ऐसे कई बदलावों से हमेशा ही मुनाफा में गिरावट या यूं कहें कि नुकसान उठाने का जोखिम रहता है. निवेशकों को कभी ऐसी चीजें पसंद नहीं आतीं और नायका से तमाम निवेशकों की दूरी बनाए जाने की एक ये बड़ी वजह हो सकती है.

किस्मत भी नहीं दे रही साथ

नायका ने पिछले ही साल के अंत में अपने शेयरधारकों को हर 1 शेयर पर 5 बोनस शेयर जारी किए थे. बोनस शेयर देने की खबर के बाद कंपनी के शेयरों में अचानक से एक उछाल देखने को मिला था, लेकिन बाद में वह फिर से गिरने लगे. अमूमन कंपनियां बोनस शेयर इसलिए देती हैं, क्योंकि वह शेयर की लिक्विडिटी को बढ़ाना चाहती हैं.


मान लीजिए कि कोई शेयर 500 रुपये का है, ऐसे में प्रति शेयर एक बोनस शेयर दिए जाएं तो एक शेयर की कीमत 250 रुपये हो जाएगी. इससे शेयर सस्ता दिखने लगेगा और कम पैसे लगाने वाले निवेशक भी इसमें पैसा लगा सकेंगे. वहीं अगर अधिक बोनस शेयर दिए जाते हैं तो शेयर की कीमत और ज्यादा कम दिखने लगेगी. शुरुआत में तो नायका के लिए इस स्ट्रेटेजी ने काम किया भी, लेकिन कुछ ही दिन में फिर से गिरावट का दौर शुरू हो गया.

बड़े-बड़े निवेशक बेच रहे शेयर

नायका की पैरेंट कंपनी FSN E-Commerce Ventures Limited के एक शेयर होल्डर ने इसके करीब 1.4 करोड़ शेयर ब्लॉक डील में बेचने का फैसला किया था. इस शेयर होल्डर का नाम है Citi, जिसने कंपनी के शेयर बल्क में बेचे. Citi ने डील से करीब 26 मिलियन डॉलर यानी लगभग 211.4 करोड़ रुपये जुटाए थे.

पहले भी निवेशक बेच चुके हैं शेयर

पिछले महीने भी ऐसी ही एक बड़ी डील हुई थी, जिसमें करीब 3.7 करोड़ शेयर बेचे गए थे. यह कंपनी की करीब 1.5 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है. उससे पहले Lighthouse India ने भी 1.8 करोड़ शेयर मतलब 0.65 फीसदी हिस्सेदारी बेची थी. देखा जाए तो बहुत सारे लोगों ने पिछले कुछ महीनों में नायका के शेयर बड़ी-बड़ी डील के तहत बेच दिए हैं. इसकी एक बड़ी वजह 10 नवंबर 2022 को कंपनी के आईपीओ के तहत जारी किए गए शेयरों का लॉक-इन पीरियड खत्म होना भी है. उसके बाद लोगों ने तेजी से ढेर सारे शेयर बेचे.

आईपीओ ने दिया था तगड़ा रिटर्न

नायका का इश्यू प्राइस 1125 रुपये था, जबकि इसका शेयर लगभग 83 फीसदी के प्रीमियम पर 2054 रुपये पर लिस्ट हुआ था. इसका आईपीओ भी करीब 82 गुना सब्सक्राइब हुआ था. 10 नवंबर को यह शेयर लिस्ट हुआ था और 26 नवंबर तक इसकी कीमत 2574 रुपये के ऑल टाइम हाई पर पहुंच गई. हालांकि, उसके बाद से अब तक इसमें गिरावट देखने को मिल रही है.

तो शेयर खरीदें या नहीं?

शेयर इंडिया सिक्योरिटीज लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट और रिसर्च हेड रवि सिंह बताते हैं कि अगर आप नायका में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो अभी रुकना चाहिए. रवि सिंह कहते हैं कि इस शेयर को खरीदने का टारगेट 110 रुपये होना चाहिए. बता दें कि अभी शेयर करीब 130 रुपये के लेवल के आस-पास है.