कोविड-19: दिल्ली और कर्नाटक समेत इन राज्यों में लगाया गया लॉकडाउन

कोरोनावायरस की चेन को तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने का अधिकार राज्यों को दिया है।

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने त्राहिमाम मचा रखा है, और सकारात्मक मामलों की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने का अधिकार राज्यों को दिया है।


इसी के चलते अलग-अलग राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है और इसके लिए नई गाइडलाइंस भी जारी कर दी गई है।

f

दिल्ली में कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए केजरीवाल सरकार ने 26 अप्रैल से 3 मई तक के लिए लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। 3 मई सुबह पांच बजे तक लॉकडाउन रहेगा। राष्ट्रीय राजधानी में पहले लॉकडाउन को 26 अप्रैल की सुबह पांच बजे खत्म होना था।


कर्नाटक में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए 14 दिन के लॉकडाउन का ऐलान राज्य सरकार द्वारा किया गया है। यह लॉकडाउन कल यानी मंगलवार रात नौ बजे से लागू होगा। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने आज कैबिनेट की बैठक के बाद लॉकडाउन के फैसले का ऐलान किया।


राजस्‍थान में राज्‍य सरकार ने बीते सोमवार से 15 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है और यह 3 मई तक लागू रहेगा। अशोक गहलोत सरकार ने इसको लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर दी थी। इसके तहत 3 मई तक जन अनुशासन पखवाड़ा होगा। 


महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक बार फिर लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। लॉकडाउन के तहत पाबंदियां 14 अप्रैल की शाम 8 बजे से लागू हो चुकी हैं जो एक मई तक जारी रहेंगी। पूरे राज्‍य में धारा 144 भी लागू कर दी गई हैं।


उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के बीच 15 मई तक अब प्रत्येक शनिवार और रविवार को प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन (कर्फ्यू) लगाने का फैसला लिया है। 


बिहार में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 19 अप्रैल से नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है। आगामी 15 मई तक रात्रि नौ बजे से सुबह सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा।


छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण अभी भी कम नहीं हुआ है। ऐसे में रायपुर, धमतरी और सूरजपुर जिला प्रशासन ने लॉकडाउन पांच मई तक बढ़ा दिया है। 


उत्तराखंड में भी कोरोना हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहा है। यहां रोजाना 4-5 हजार मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना के कहर को देखते हुए राजधानी देहरादून, कोटद्वार और स्वर्गाश्रम में आज यानी 26 अप्रैल से 3 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू की गई हैं। हालांकि इसे लॉकडाउन नाम न देकर कर्फ्यू बताया गया है।


झारखंड में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 22 अप्रैल से धनबाद समेत पूरे झारखंड में आंशिक लॉकडाउन जारी है। इसकी अवधि 29 अप्रैल सुबह छह बजे तक है।


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राजधानी भोपाल समेत छिंदवाड़ा, रतलाम, सागर और जबलपुर में जारी पाबंदियों को बढ़ा दिया है। भोपाल में अब तीन मई तक लॉकडाउ जैसी पाबंदियां लागू रहेंगी। वहीं, छिंदवाड़ा, रतलाम, सागर और जबलपुर में ये प्रतिबंध 1 मई तक के लिए रहेगा। हालांकि सरकार ने इसे कर्फ्यू बताया है, लेकिन पाबंदियां लॉकडाउन जैसी ही हैं।


जम्मू-कश्मीर के सभी बीस जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है। 


तमिलनाडु में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राज्य सरकार ने पिछले शनिवार को रविवार को (एक दिन के) पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की थी।


हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने भी कोरोना पर काबू पाने के लिए कई प्रतिबंधों की घोषणा की है। खट्टर सरकार ने गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार, करनाल, सोनीपत और रोहतक के उपायुक्तों से जरूरत पड़ने पर धारा 144 लागू करने के लिए कहा गया है, ताकि कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी को काबू किया जा सके।


केरल सरकार ने कई नए प्रतिबंध लागू करने का फैसला किया। इनमें दो हफ्ते के लिए रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू शामिल है।