Pine Labs ने 548 करोड़ रुपये में फिनटेक स्टार्टअप Setu को खरीदा

0 CLAPS
0

मर्चेंट कॉमर्स फिनटेक यूनिकॉर्न Pine Labsने हाल ही में बेंगलुरु स्थित फिनटेक स्टार्टअप Setu को खरीद लिया है. यह डील लगभग 70-75 मिलियन डॉलर (करीब 548-587 करोड़ रुपये) में हुई है. Setu एक API (एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस) इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइड करता है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस साल पाइन लैब्स का यह तीसरा अधिग्रहण है. इससे पहले Pine Labs ने अप्रैल में पेमेंट कंपनी Mosambee और फरवरी में मुंबई स्थित पेमेंट स्टार्टअप Qfix में बहुमत हिस्सेदारी खरीदी थी.

अधिग्रहण की शर्तों के तहत एक समझौते के रूप में, पाइन लैब्स Setu के लगभग 100 कर्मचारियों को फुलटाइम हायर करेगा.

Setu की स्थापना 2018 में साहिल किनी और निखिल कुमार ने की थी. इसके एपीआई और सॉफ्टवेयर्स का इस्तेमाल सैकड़ों बिजनेसेज द्वारा अपने अंतिम ग्राहकों के लिए बेहतर ऑनबोर्डिंग, पेमेंट्स, डिपोजिट, उधार और डेटा एनालिसिस के लिए किया जाता है.

Setu अकाउंट एग्रीगेटर पार्टनर्स के साथ काम करता है, जिन्हें नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (NBFCs) के रूप में क्लासिफाई किया गया है. जो भारतीय रिजर्व बैंक से NBFC-AA लाइसेंस के तहत काम कर रहे हैं. वे एक ही जगह पर यूजर्स के पूरे फाइनेंशियल डेटा को कंसोलिडेट करते हैं. यह यूजर्स को जल्दी से सेवाओं तक पहुंचने की अनुमति देते हैं. ये अकाउंट एग्रीगेटर नीति आयोग के सहमति-आधारित डेटा-शेयरिंग फ्रेमवर्क के तहत काम करते हैं, जिसे डेटा एम्पावरमेंट एंड प्रोटेक्शन आर्किटेक्चर (DEPA) कहा जाता है.

SETU ने अपने API के लिए बड़ी मांग देखी है. इसमें अलग-अलग सेक्टर्स/इंडस्ट्रीज जैसे स्टार्टअप, रिटेल एंटरप्राइज, बैंक, इंश्योरेंस और उधार देने वाली कंपनियां शामिल हैं.

Pine Labs के सीईओ बी अमरीश राव ने अपने एक बयान में कहा, "SETU पाइन लैब्स प्लेटफॉर्म में को मजबूती देगा. एंबेडेड फाइनेंशियल सर्विसेज और ओपन बैंकिंग का भविष्य अच्छा है. एम्बेडेड फाइनेंस की मार्केट वैल्यू 2026 तक 138 बिलियन डॉलर पार होने की उम्मीद है. क्योंकि API प्रतिस्पर्धी फिनटेक लैंडस्केप को तेजी दे रहे हैं. SETU अपने ग्राहकों, व्यापारियों और ब्रांडों को सुखद अनुभव बनाने में मदद करता है. इसलिए कस्टमर अपनी शर्तों पर पेमेंट और फाइनेंशियल सर्विसेज के साथ जुड़ सकते हैं.”

SETU के को-फाउंडर और सीईओ साहिल किनी ने कहा, "हम मानते हैं कि जब फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स को सभी के लिए सुलभ बनाने की बात आती है तो टेक्नोलॉजी के डेमोक्रेटाइजेशन से बेहतर परिणाम मिलेंगे. इसलिए हमारे API डेवलपर कम्यूनिटी के लिए खुले हैं.”

आपको बता दें कि पाइनलैब्स को Sequoia Capital, Mastercard और अन्य जैसे प्रमुख निवेशकों का समर्थित मिला हुआ है. यह भारत और दक्षिण पूर्व एशिया में फुल-स्टैक मर्चेंट कॉमर्स प्लेटफॉर्म प्रोवाइड करता है.

Latest

Updates from around the world