विदेश में बैठ-बैठे भारत बिल पेमेंट सिस्टम से भरिए घर का बिजली-पानी बिल, RBI ने जारी किया सर्कुलर

By Ritika Singh
September 16, 2022, Updated on : Fri Sep 16 2022 09:35:23 GMT+0000
विदेश में बैठ-बैठे भारत बिल पेमेंट सिस्टम से भरिए घर का बिजली-पानी बिल, RBI ने जारी किया सर्कुलर
भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS), स्टैंडर्डाइज बिल पेमेंट्स के लिए एक इंटरऑपरेबल प्लेटफॉर्म है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

प्रवासी भारतीय (Non Resident Indian or NRI), देश में अपने परिजनों के बिजली, पानी (यूटिलिटी) और शिक्षा बिलों का भुगतान करने के लिए अब भारत बिल भुगतान प्रणाली (Bharat Bill Payment System) का उपयोग कर सकते हैं. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से इस बारे में सर्कुलर जारी हो चुका है. सर्कुलर में RBI (Reserve Bank of India) ने कहा, ‘रुपया आहरण व्यवस्था (RDA) के तहत प्राप्त होने वाले विदेशी धन को भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS) के जरिये लाभार्थी के KYC अनुपालन वाले बैंक खाते में ट्रांसफर करने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है.’


इस संबंध में RBI गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने पिछले महीने एक घोषणा की थी. दास ने कहा था कि इस कदम से NRI, भारत में अपने परिवारों की तरफ से यूटिलिटी, शिक्षा और ऐसे अन्य बिलों का भुगतान कर सकेंगे. इससे विशेष तौर पर बुजुर्गों को बेहद फायदा होगा. इस फैसले से BBPS प्लेटफॉर्म पर एक इंटरऑपरेबल मैनर में ऑनबोेर्डेड किसी भी बिलर के बिलों के पेमेंट में भी फायदा होगा.

मासिक आधार पर 8 करोड़ लेनदेन

भारत बिल भुगतान प्रणाली (BBPS), स्टैंडर्डाइज बिल पेमेंट्स के लिए एक इंटरऑपरेबल प्लेटफॉर्म है. BBPS से बिल भेजने वाली करीब 20,000 इकाइयां जुड़ी हैं. इस प्रणाली पर मासिक आधार पर आठ करोड़ लेनदेन होते हैं. BBPS ने भारत में यूजर्स के बिल भुगतान के अनुभव को बदला है. अब इसमें सीमा पार से बिल भुगतान की प्रणाली को भी शुरू किया जा रहा है. वर्तमान में RDA के तहत प्राप्त होने वाला विदेशी धन, केवल इलेक्ट्रॉनिक मोड जैसे NEFT (National Electronic Funds Transfer), IMPS (Immediate Payment Service) आदि के माध्यम से KYC (Know your Customer) कंप्लायंट लाभार्थी बैंक खातों में ट्रांसफर किया जा सकता है.


Edited by Ritika Singh