Paycorp और Dhanlaxmi Bank ने रिकरिंग पेमेंट्स के लिए लॉन्च किया आधार-बेस्ड API E-Mandate

0 CLAPS
0

फिनटेक स्टार्टअप Paycorp.ioने Dhanlaxmi Bank के साथ मिलकर ग्राहकों के रिकरिंग पेमेंट मैंडेट को सुविधाजनक बनाने के लिए नया फीचर लॉन्च किया है. यह आधार (AADHAR) ऑथेंटिकेशन के जरिए API-बेस्ड E-Mandate को आसान बनाता है.

रिकरिंग पेमेंट्स का मतलब होता है कि जब कोई यूजर अपने अकाउंट से एक खास वक्त पर खास लिमिट की वैल्यू ऑटो डेबिट करने देता है.

इसकी परमिशन देते वक्त कस्टमर को खुद को ऑथेंटिकेट करने की आवश्यकता होती है. ऑथेंटिकेशन अलग-अलग ऑप्शंस द्वारा किया जा सकता है जिनमें से आधार-बेस्ड ऑथेंटिकेशन सबसे पसंदीदा है.

अब तक, पेमेंट करने वाले कस्टमर्स को थर्ड-पार्टी ऑथेंटिकेशन सर्विस प्रोवाइडर्स के जरिए आधार-बेस्ड ऑथेंटिकेशन के इनडायरेक्ट मैकेनिज़्म से गुजरना पड़ता था. यह मैकेनिज़्म कम कारगर था और इससे पेमेंट करने वालों और प्राप्त करने वालों को काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ा. थर्ड-पार्टी पार्टनरशिप ने इसे बैंकों के लिए एक महंगा विकल्प बना दिया.

Paycorp और धनलक्ष्मी बैंक आधार ऑथेंटिकेशन का उपयोग करके API-बेस्ड ई-मैंडेट को लागू करके इस मुद्दे को हल करने के लिए आगे बढ़े, जिससे ऑथेंटिकेशन आसान, जल्दी होता है और थर्ड-पार्टी की जरुरत भी नहीं है.

धनलक्ष्मी बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ शिवन जेके ने कहा, "धनलक्ष्मी बैंक में, हम अपने बिजनेस को तेजी से बढ़ाने के लिए अपनी रणनीति में ग्राहक सुविधा का ख़याल रखते हैं. हम हमेशा अपने बाजार नेतृत्व की आकांक्षाओं की सहायता के लिए टेक्नोलॉजी समाधानों की तलाश करते हैं. Paycorp Solutions ग्राहकों की सुविधा और दक्षता के लिए इनोवेटिव, शानदार सॉल्यूशन प्रोवाइड करता है. हमें इस बात पर बेहद गर्व है कि हम इस API-बेस्ड ई-मैंडेट आधार ऑथेंटिकेशन सॉल्यूशन को लागू करने वाले पहले हैं."

Paycorp Solutions के सीईओ बालाजी जगन्नाथन ने कहा, "ऐसे रेग्यूलर पेमेंट्स के लिए ई-मैंडेट बनाने का यूजर एक्सपीरियंस सरल, तेजी से, और परेशानी मुक्त भी होना चाहिए. आधार-बेस्ड सेटअप को पूरा होने में 3 दिन लगते थे. हमने अब इस प्रोसेस को सरल बना दिया है. हम उम्मीद करते हैं कि रिकरिंग पेमेंट्स के लिए यह फीचर कस्टमर के लिए फायदेमंद साबित होगा."

Latest

Updates from around the world