PhonePe ने IPO को लेकर संभावनाओं पर लगाया विराम

0 CLAPS
0

Walmart समर्थित पेमेंट कंपनी PhonePeने गुरुवार को IPO को लेकर मार्केट में उड़ रही अफवाहों पर विराम लगा दिया है. कंपनी ने कहा कि वह अभी IPO की योजना नहीं बना रही है. एक बार मुनाफे में आने के बाद इसे सार्वजनिक करने पर विचार किया जाएगा.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी ने एक बयान में कहा, "PhonePe की अभी IPO लाने की कोई योजना नहीं है. हम अपने बिजनेस को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. एक बार मुनाफे में आने के बाद IPO के बारे में सोचा जाएगा."

बयान में आगे कहा गया है, "हम अपनी होल्डिंग कंपनी को भारत ले जा रहे हैं और इस पर सक्रियता से काम कर रहे हैं." इसकी होल्डिंग कंपनी वर्तमान में सिंगापुर में रजिस्टर्ड है.

PhonePe की स्थापना एक्स-फ्लिपकार्ट एग्जिक्यूटिव समीर निगम, राहुल चारी और बुर्जिन इंजीनियर ने की थी. साल 2016 में इसे Flipkart ने एक्वायर कर लिया था. दो साल बाद, 2018 में Flipkart को Walmart ने एक्वायर कर लिया था. PhonePe भी इस डील का हिस्सा था. PhonePe में Flipkart की लगभग 87 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जबकि Walmart की लगभग 10 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

कंपनी के पास बेंगलुरु, पुणे, मुंबई और दिल्ली जैसे शहरों में 2,600 कर्मचारी और 2,800 ओपन जॉब पोजिशन हैं.

PhonePe ने आखिरी बार 2020 में अपने प्रमोटर Flipkart और Walmart के नेतृत्व में 5.5 बिलियन डॉलर की वैल्यूएशन पर 700 मिलियन डॉलर जुटाए थे. डिजिटल पेमेंट कंपनी ने 13 राउंड में कुल 1.7 बिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई है. Tiger Global Management और Tencent भी कंपनी में इन्वेस्टर्स है.

कंपनी ने म्यूचुअल फंड लाइसेंस और नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (NBFC) लाइसेंस के लिए अप्लाई किया है. इसने तीन कंपनियों - WealthDesk, OpenQ और GigIndia को एक्वायर किया है. PhonePe UPI स्पेस में अग्रणी है, मासिक ट्रांजेक्शन में 47 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी रखता है.

Latest

Updates from around the world