PhysicsWallah ने 100 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

PW के CHRO सतीश खेंग्रे ने YourStory को बताया, “हमारी वर्कफोर्स के 0.8% से भी कम, करीब 70 से 120 कर्मचारियों को परफॉर्मेंस में कमी के चलते निकाला जा सकता है.”

PhysicsWallah ने 100 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

Monday November 20, 2023,

2 min Read

एडटेक कंपनी Physics Wallah (PW) ने 120-150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है.

PW के CHRO सतीश खेंग्रे ने YourStory को बताया, “PW में, हम नियमित रूप से मध्यावधि और अंतिम अवधि चक्रों के माध्यम से परफॉर्मेंस का आकलन करते हैं. अक्टूबर में समाप्त होने वाले चक्र के लिए, हमारी वर्कफोर्स के 0.8% से भी कम, करीब 70 से 120 कर्मचारियों को परफॉर्मेंस में कमी के चलते निकाला जा सकता है.”

उन्होंने आगे कहा, “हमारा प्राथमिक ध्यान एक बेहतरीन, हाई परफॉर्मेंस वाली टीम को बढ़ावा देना है. हम विकास के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत करते हुए अगले छह महीनों में अतिरिक्त 1000 कर्मचारियों की भर्ती करने की योजना बना रहे हैं. हम अपने मौजूदा कर्मचारियों के समर्पण को गहराई से महत्व देते हैं और एजुकेशन टेक्नोलॉजी के भविष्य को आकार देने में उनकी अभिन्न भूमिका को पहचानते हैं.”

इससे पहले, TechSparks 2023 के दौरान PW के फाउंडर और सीईओ अलख पांडे ने उल्लेख किया था कि PW ने वित्त वर्ष 23 में अपने ऑनलाइन कारोबार में 100% की वृद्धि देखी है, यहां तक कि छात्रों के ऑफ़लाइन चैनलों पर जाने के बावजूद भी.

शिक्षा के लोकतंत्रीकरण पर ध्यान केंद्रित करने वाली कई नई एडटेक कंपनियों की आमद को स्वीकार करते हुए, पांडे ने यह भी कहा, "यह हमारे लिए एक चुनौती पेश करता है, लेकिन यह सकारात्मक है, क्योंकि यह हमें ज़मीन पर रखता है."

PhysicsWallah की शुरुआत 2016 में अलख पांडे ने की थी और बाद में प्रतीक माहेश्वरी इसमें शामिल हुए. यह एक एडटेक प्लेटफॉर्म है जो ऑनलाइन और ऑफलाइन कोर्स के साथ-साथ JEE, NEET और अन्य इंजीनियरिंग प्रवेश और राज्य बोर्ड परीक्षाओं सहित विभिन्न प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए तैयार अध्ययन सामग्री में विशेषज्ञता रखता है.

उपरोक्त परीक्षाओं की तैयारी में छात्रों की सहायता के लिए मंच लाइव कक्षाओं, वीडियो लेक्चर, टेस्ट सीरीज सहित संसाधनों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है.

नोएडा मुख्यालय वाली कंपनी ने 2022 में 1.1 बिलियन डॉलर के मूल्यांकन पर Westbridge और GSV Ventures से सीरीज़ ए फंडिंग में 100 मिलियन डॉलर जुटाए थे.

(Translated by: रविकांत पारीक)