रेल मंत्रालय ने IRCTC सुविधा शुल्क साझा करने से जुड़ा फैसला वापस लिया

By रविकांत पारीक
October 29, 2021, Updated on : Fri Oct 29 2021 11:48:59 GMT+0000
रेल मंत्रालय ने IRCTC सुविधा शुल्क साझा करने से जुड़ा फैसला वापस लिया
DIPAM सचिव तुहिन कांत पांडे ने ट्विटर पर लिखा, "रेल मंत्रालय ने IRCTC सुविधा शुल्क पर फैसला वापस लेने का फैसला किया है।"
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

निवेश और लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के सचिव ने शुक्रवार को कहा कि रेल मंत्रालय ने ट्रेन टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग पर IRCTC द्वारा अर्जित सुविधा शुल्क को साझा करने के अपने फैसले को वापस लेने का फैसला किया है।


DIPAM सचिव तुहिन कांत पांडे ने ट्विटर पर लिखा, "रेल मंत्रालय ने IRCTC सुविधा शुल्क पर फैसला वापस लेने का फैसला किया है।"


पीटीआई-भाषा की एक रिपोर्ट के अनुसार, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड ट्रांसपोर्टेशन कॉरपोरेशन (IRCTC) ने बृहस्पतिवार को कहा था कि रेल मंत्रालय ने उसे अपनी वेबसाइट पर बुकिंग से होने वाले अपने राजस्व का 50 प्रतिशत हिस्सा भारतीय रेल के साथ साझा करने के लिए कहा है।


ग्राहकों से वसूले जाने वाले सुविधा शुल्क से IRCTC के लिए एक बड़े राजस्व का सृजन होता है। शुल्क रेल किराए का हिस्सा नहीं है। यह IRCTC द्वारा दी जाने वाली ऑनलाइन टिकट बुकिंग की सेवा के लिए वसूला जाता है।


वहीं, गुरुवार को रेलवे बोर्ड का फैसला आने के बाद IRCTC का शेयर 20 फीसदी गिर गया था।


(साभार: PTI)

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें