TechSparks 2021 में SAP इंडियन सबकॉन्टिनेंट के एमडी और अध्यक्ष कुलमीत बावा ने कहा- ‘हम एक ट्रू ब्लू क्लाउड कंपनी में बदल गए हैं’

वर्ष 2021 कंपनी के लिए एक ऐतिहासिक वर्ष रहा है क्योंकि SAP ने भारत में लॉन्च के 25 साल पूरे कर लिए हैं। श्रद्धा शर्मा के साथ बातचीत में, कुलमीत SAP India की उपलब्धियों, नए लॉन्च किए गए Project Nakshatra, भारतीय स्टार्टअप आंत्रप्रेन्योर्स के लिए आगे की चुनौतियों और सलाह के बारे में गहराई से बताते हैं।
1 CLAP
0

पूर्व सैन्यकर्मी से कॉरपोरेट लीडर बने कुलमीत बावा जब जुलाई 2020 में महामारी के बीच SAP India में शामिल हुए तो उनके पास इस बात को लेकर एक स्पष्ट विजन था कि अब उन्हें आगे की नई लड़ाई कैसे लड़नी है। भारतीय उपमहाद्वीप में कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए ड्राइविंग और 'असाधारण SAP एक्सपिरियन्स' देने के लिए जिम्मेदार होने के चलते उन्होने ‘क्लाउड‘ को अपने प्राथमिक हथियार के रूप में चुना।

कुलमीत ने TechSparks 2021 आयोजन के पहले दिन की बातचीत में YourStory की फाउंडर और सीईओ श्रद्धा शर्मा से कहा,

"SAP में हमने खुद को एक ऑन-प्रिमाइसेस समाधान प्रदाता से क्लाउड कंपनी में बदल लिया है, जो आज दुनिया में एंटरप्राइज़ एप्लिकेशन स्पेस में सबसे बड़ी क्लाउड कंपनियों में से एक है। हम समझते हैं कि कैसे नई बाजार स्थितियों के अनुकूल होना है और कैसे नए व्यापार मॉडल को बनाना है। इस तरह आज हम पूरी तरह ब्लू क्लाउड कंपनी में बदल गए हैं।”

वर्ष 2021 कंपनी के लिए एक ऐतिहासिक वर्ष रहा है क्योंकि SAP ने भारत में लॉन्च के 25 साल पूरे कर लिए हैं। श्रद्धा के साथ बातचीत में कुलमीत SAP इंडिया की उपलब्धियों, नए लॉन्च किए गए ‘प्रोजेक्ट नक्षत्र’, भारतीय स्टार्टअप उद्यमियों के लिए आगे की चुनौतियों और सलाह के बारे में गहराई से बात की है।

भारत में SAP के 25 साल के सफर पर

कुलमीत के अनुसार, आज भारत में SAP विश्व स्तर पर दूसरा सबसे बड़ा प्रतिष्ठान है। देश में लगभग 13 हज़ार ग्राहकों जिसमें 80 प्रतिशत छोटे और मध्यम आकार के ग्राहक हैं, SAP के पास कुछ अद्भुत इनोवेशन और इंटेलेक्चुवल प्रॉपर्टी है जिसे देश में तैयार किया गया है।

कुलमीत का मानना है कि पिछले 25 साल स्पष्ट रूप से एक राष्ट्र के रूप में भारत के भविष्य को परिभाषित करने वाले रहे हैं। यह एक अद्भुत समय रहा है जिसके दौरान भारत ने अपने भविष्य को फिर से लिखा है और हितधारकों ने लगभग हर एक सामाजिक-आर्थिक पैरामीटर में परिवर्तनकारी विकास देखा है।

इन सभी वर्षों में SAP बिजली जैसे क्षेत्रों को बदलने में सक्रिय रूप से काम कर रहा है, जहां यह 50 मिलियन से अधिक घरों और गैस और बिजली के उपभोक्ताओं का समर्थन करने का दावा करता है। एक अन्य प्रमुख क्षेत्र ऑटोमोटिव भी है, जहां यह भारत में लगभग सभी ऑटोमोटिव कंपनियों के साथ पारंपरिक और साथ ही नए इलेक्ट्रिक मोबिलिटी स्पेस में काम करता है।

वे आगे कहते हैं, “आज भारत में बिकने वाली 10 कारों में से 8 का निर्माण SAP चलाने वाली कंपनियों द्वारा किया जाता है। तेल और गैस क्षेत्र में, हमारे समाधान भारत में सभी 20 तेल रिफाइनरियों को उनके कच्चे तेल के उत्पादन का प्रबंधन करने में मदद कर रहे हैं।”

भारत के विकास के अन्य क्षेत्रों जैसे शिक्षा, दूरसंचार और रेलवे जैसे क्षेत्रों में भी यही कहानी है।

वे कहते हैं, "भारत लगभग 10 गुना विकसित हुआ है और मुझे यह कहते हुए सौभाग्य का अनुभव होता है कि आज भारत के सकल घरेलू उत्पाद का एक बहुत बड़ा हिस्सा जो 60 प्रतिशत से अधिक है, SMP (SAP Mobile Platform) को छूता है और हम देख रहे हैं कि उसे और कैसे विकसित किया जाए। इसलिए हमने अब तक जो किया है उस पर हमें बहुत गर्व है, लेकिन इस यात्रा के अगले चरण के लिए हम निश्चित रूप से तैयार हैं, जिस पर भारत आगे बढ़ रहा है।”

स्टार्टअप स्केल में मदद

SAP इंडिया ने हाल ही में भारतीय स्टार्टअप्स के लिए अपनी नई पहल “Project Nakshatra” शुरू की है। स्टार्टअप्स को एक बाइट साइज स्टार्टर पैक मिलेगा जो बदलते लैंडस्केप को ध्यान में रखकर बनाया गया है।

जैसा कि कुलमीत ने बताया कि आज सभी SAP ऑफरिंग क्लाउड-नेटिव हैं, जो स्टार्टअप्स को उनकी स्केल की जरूरत के आधार पर अपने पैमाने पर एक बहुत ही मॉड्यूलर दृष्टिकोण रखने की अनुमति दे सकते हैं।

कंपनी आज एंड-टू-एंड प्रक्रियाओं को देखती है और स्टार्टअप्स को ट्रू कस्टमर 360 और अनुभव के साथ मदद करती है। कुलदीप कहते हैं क्योंकि आज डिजिटल इकॉनमी में सब कुछ एक एक्सपिरियन्स इकॉनमी है।

वे कहते हैं, "SAP को पता है कि कैसे स्केल करना है, एक व्यापार को वैश्विक बनाने का क्या मतलब है, और उस व्यवसाय को मजबूती के साथ-साथ कैसे आगे ले जाया जा सकता है। मुझे लगता है कि हम यह कर चुके हैं और हम समझते हैं कि इसे कैसे करना है।"

भारतीय स्टार्टअप के लिए आगे की राह और उद्यमियों के लिए सलाह

कुलमीत हमेशा से स्टार्टअप्स की ऊर्जा, जुनून और जिस तरह से सपने हकीकत में तब्दील होने लगते हैं उसे लेकर आकर्षित रहे हैं, लेकिन वह स्वीकार करते हैं कि यहाँ भी चुनौतियां हैं।

सबसे पहले, जिस गति से स्टार्टअप बढ़ रहे हैं उनके जीवन चक्र के सभी चरणों में बहुत अधिक निवेश करने की आवश्यकता है, साथ ही उनके लिए एक बड़े व्यापार नेटवर्क का हिस्सा बनना बेहद महत्वपूर्ण है ताकि उन्हें वैश्विक आपूर्ति-मांग ईकोसिस्टम तक पहुंच प्राप्त हो सके।

उन्होंने आगे कहा, “अगली चुनौती प्रतिभा अधिग्रहण के साथ-साथ प्रबंधन भी है। ह्यूमन एक्सपिरियन्स डिजाइन में बहुत अधिक निवेश करने की आवश्यकता है, क्योंकि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ेंगे, यह संगठनों के लिए विभेदक होने वाला है।”

आज यूनिकॉर्न का संयुक्त मूल्यांकन बीएसई के मार्केट कैप का करीब 7 फीसदी है। यह भविष्यवाणी की गई है कि जब हम 2030 तक पहुंचेंगे, तब तक यह दोहरे अंकों में होगा। इसके पीछे टियर टू, टियर थ्री शहरों में शुरू हो रहे स्टार्टअप्स का बड़ा हाथ होगा।

उन्होंने आगे कहा, “जैसा कि हम अधिक यूनिकॉर्न और अधिक आईपीओ देखते हैं, भविष्य के विकास की खोज को राष्ट्र-निर्माण या स्थिरता के स्तरों का उपयोग करके देश में एक बड़ा बदलाव नज़र आयेगा। आज हम हर जगह बड़े पैमाने पर इसे अपनाते हुए देख रहे हैं।”

उन्होंने आगे स्टार्टअप उद्यमियों को सलाह दी कि वे विकास के लिए तैयारी न करें बल्कि पैमाने के लिए तैयार रहें क्योंकि यह उन पर उससे भी अधिक तेजी से आ रहा है जितना वे सोच सकते हैं। उनके द्वारा साझा की गई कुछ अन्य सलाहें हैं:

●           भविष्य पर नजर रखते हुए अपने स्टार्टअप के दिल के रूप में एक मजबूत डिजिटल कोर को अपनाएं।

●           तेजी से स्केलिंग के लिए बिल्डिंग ब्लॉक्स की मदद लें।

●           स्थिरता, ग्राहक अनुभव, इंटेलिजेंस स्पैन के बारे में सोचें। तत्काल संतुष्टि के बजाय पहले उन सभी पहलुओं को देखें।

●           एक एक्स्पोनेंशियल माइंडसेट रखें। कुछ भी वृद्धिशील उबाऊ है, लेकिन यह बीत जाएगा।

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि आज हमारी युवा आबादी वाले देश के रूप में हमारे पास एक बड़ा प्रतिस्पर्धात्मक लाभ है जो अद्वितीय है। इसलिए दुनिया का कोई भी देश कभी भी हमारा अनुकरण नहीं कर सकता। तो आइए इसका अधिकतम लाभ उठाएं। मैं इस बात को मानता हूँ कि अगर आपके पास सही संस्कृति है, तो यह आपके आगे बढ़ने पर आपका सबसे बड़ा प्रतिस्पर्धात्मक लाभ बन जाता है।”


हमारे वर्चुअल इवेंट प्लेटफॉर्म में लॉग इन करने और दुनिया भर के हजारों अन्य स्टार्टअप-टेक उत्साही लोगों के साथ TechSparks2021 का अनुभव करने के लिए, यहां जुड़ें। जब आप TechSparks2021 के अपने अनुभव, सीख और पसंदीदा पलों को साझा करते हैं तो #TechSparks2021 को टैग करना न भूलें।

YourStory के फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक कॉन्फ्रेंस में सभी एक्शन से भरपूर सत्रों की एक लाइन-अप के लिए, TechSparks 2021 वेबसाइट देखें।

Edited by Ranjana Tripathi

Latest

Updates from around the world