सस्ता सोना खरीदने का मौका, खुल गई सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 की पहली किस्त

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड गवर्मेंट सिक्योरिटीज हैं, जिन्हें केंद्रीय बैंक RBI, सरकार की ओर से जारी करता है.
0 CLAPS
0

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond or SGB) स्कीम 2022-23 की पहली सीरीज के तहत बिक्री आज यानी 20 जून से शुरू हो गई है. इसके लिए इश्यू प्राइस 5,091 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. यानी 10 ग्राम सोना 50910 रुपये में खरीदा जा सकता है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, SGB स्कीम 2022-23 की पहली सीरीज, खरीद के लिए 20 से 24 जून 2022 तक खुली रहेगी. ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से गोल्ड बॉन्ड के लिए आवेदन और भुगतान करने वाले निवेशकों के लिए इश्यू प्राइस 50 रुपये प्रति ग्राम कम होगा, यानी 5,041 रुपये प्रति ग्राम.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड गवर्मेंट सिक्योरिटीज हैं, जिन्हें केंद्रीय बैंक RBI, सरकार की ओर से जारी करता है. ये निवासी व्यक्तियों, अविभाजित हिंदू परिवार (HUF), ट्रस्ट्स, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थाओं को ही बेचे जा सकते हैं. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2022-23 की दूसरी सीरीज आवेदन के लिए 22 से 26 अगस्त के दौरान उपलब्ध होगी.

कितना सोना खरीद सकते हैं

कोई भी व्यक्ति और हिंदू अविभाजित परिवार मैक्सिमम 4 किलोग्राम मूल्य तक का गोल्ड बॉन्ड खरीद सकता है. ट्रस्ट और समान संस्थाओं के लिए खरीद की मैक्सिमम लिमिट 20 किलोग्राम है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), नामित डाकघरों और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों- नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड (BSE) के माध्यम से की जाती है.

न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, कोविड महामारी के प्रकोप वाले वर्षों में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश के प्रति सबसे अधिक आकर्षण देखने को मिला. निवेशकों द्वारा सुरक्षित विकल्प की तलाश के चलते इस योजना में निवेश तेजी से बढ़ा. वर्ष 2020-21 और 2021-22 के दौरान शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव के कारण भी गोल्ड बॉन्ड के प्रति झुकाव बढ़ा.

शुरुआत से अब तक कितने करोड़ रुपये जुटाए गए

रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, नवंबर 2015 में इस योजना की शुरुआत से अब तक कुल 38,693 करोड़ रुपये (90 टन सोना) जुटाए गए हैं. वित्त वर्ष 2021-22 और 2020-21 में कुल 29,040 करोड़ रुपये की राशि जुटाई गई, जो कुल जुटाई गई राशि का लगभग 75 प्रतिशत है. आरबीआई ने 2021-22 के दौरान एसजीबी की 10 किस्तें जारी कर 12,991 करोड़ रुपये (27 टन) की कुल राशि जुटाई. केंद्रीय बैंक ने 2020-21 में एसजीबी की 12 किस्तें जारी कर 16,049 करोड़ रुपये (32.35 टन) की कुल राशि जुटाई.

Latest

Updates from around the world