इंजीनियरों को इंडस्ट्री के लिए तैयार कर रहा है भुवनेश्वर का स्टार्टअप Protrainy

Protrainy, सिविल इंजीनियरों को कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री का प्रैक्टिकल नॉलेज हासिल करने में मदद करता है। कंस्ट्रक्शन के बारे में स्टार्टअप के पास 60 से अधिक कोर्स हैं, और 9 हजार से अधिक रजिस्टर्ड यूजर हैं।
9 CLAPS
0

कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री भारत की दूसरी सबसे बड़ी रोजगार देने वाली इंडस्ट्री है, जो लगभग 5.1 करोड़ लोगों को रोजगार देती है। इंडस्ट्री के अनुमानों के अनुसार, ये लोग देश के ग्रोस डोमेस्टिक प्रोडक्ट में लगभग 9 प्रतिशत का योगदान देते हैं। इस साल, यह इंडस्ट्री एग्रीकल्चर सेक्टर को पछाड़कर देश की सबसे बड़ी रोजगार देने वाली बन सकती है, ऐसी उम्मीद है।

कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में श्रमिकों और इंजीनियरों की मांग लगातार बढ़ती जा रही है और यह आगे बढ़ने के लिए तैयार है, हर साल इंजीनियरिंग कॉलेजों से ग्रेजुएट होने वाले लाखों छात्रों को अभी भी नौकरी पाने में मुश्किल होती है - और यह सब प्रैक्टिकल स्किल की कमी के कारण होता है।

भुवनेश्वर के एक सिविल इंजीनियर बिस्वजीत शॉ उनमें से एक थे। कॉलेज के अपने प्री-फाइनल ईयर में, उन्होंने एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में इंटर्नशिप करने के लिए संघर्ष किया। जब उन्होंने अंततः एक कॉर्पोरेट के साथ काम करना शुरू किया, और इंडस्ट्री में कुछ समय बिताने के बाद उन्हें एहसास हुआ कि कंपनियां नए लोगों को हायर करना पसंद नहीं करती हैं क्योंकि उनके पास अनुभव और प्रैक्टिकल नॉलेज की कमी है।

बिस्वजीत YourStory को बताते हैं, "कॉलेज की एजुकेशन आपको नॉलेज देती है, लेकिन स्किल की अभी भी कमी है। यह सभी मसालों की तरह है, लेकिन आपको किसी को यह बताने की जरूरत है कि उन मसालों और कच्चे माल को पनीर-दो-प्याजा में कैसे बदला जाए।”

उन्होंने इंजीनियरों और उन लोगों के लिए एक अपस्किलिंग प्लेटफॉर्म शुरू करने का फैसला किया, जो कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के बारे में प्रैक्टिकल नॉलेज/स्किल हासिल करना चाहते थे। बस, इसी तरह Protrainyकी शुरुआत हुई।

बिजनेस मॉडल

Protrainy अपने ऑनलाइन एजुकेशन प्लेटफॉर्म के जरिए इंडस्ट्री के लिए तैयार कंस्ट्रक्शन इंजीनियरों और श्रमिकों को तैयार करने में मदद करता है, जहां वर्तमान में इसके 60 से अधिक कोर्स हैं। प्लेटफॉर्म का उद्देश्य कॉरपोरेट्स, शैक्षणिक संस्थानों और व्यक्तियों की मदद करना है।

बिस्वजीत, जिन्होंने 2019 में कंपनी की सह-स्थापना की और 2021 में इसे फुलटाइम करने के लिए स्विच किया। बाद में उनके भाई बिशाल शॉ भी जुड़ गए। आयुष शर्मा, जोकि पहले हिंदुजा ग्रुप में जॉब करते थे; और आयुष कुमार, जिन्होंने भुवनेश्वर में बतौर इंटर्न 1.5 साल काम किया।

इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स द्वारा पढ़ाए जाने वाले कोर्स, अंग्रेजी और अधिकांश प्रमुख स्थानीय भाषाओं में हैं, और या तो 15 से 30 दिन या तीन से छह महीने में पढ़ाए जाते हैं।

15-30 दिन के कोर्स की कीमत 1,500-3,000 रुपये प्रति यूनिट है, और Protrainy के बिजनेस का 95 प्रतिशत हिस्सा है, जबकि 3-6 महीने के कोर्स की कीमत 25,000 रुपये से 40,000 रुपये प्रति यूनिट है, जो इसके रेवेन्यू का 5 प्रतिशत है।

Protrainy प्लेसमेंट सर्विसेज भी देता है जहां यह सक्रिय रूप से छात्रों और कोर्स करने वालों को AECOM, L&T, SACPL, और AU Finance Bank में नौकरी दिलाने में मदद करता है।

बिस्वजीत कहते हैं, "हम चाहते हैं इसमें ऐसे प्रोफेशनल्स भी शामिल हों जो कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में स्विच करना चाहते हैं। हम उन्हें ट्रेनिंग देते हैं ताकि वे इंडस्ट्री के भीतर अधिक करियर के रास्ते तलाश सकें।"

स्टार्टअप की शुरूआत के बाद से पिछले 1.5 वर्षों में, Protrainy का दावा है कि उसने ग्रोस रेवेन्यू में 25 लाख रुपये कमाए हैं और ऑपरेशंस के हिसाब से लाभदायक है। स्टार्टअप के 2,500+ पेड यूजर्स हैं।

इसमें 9,000 से अधिक रजिस्टर्ड छात्र हैं जिन्होंने स्टार्टअप के घंटे भर के डेमो सेशन के बाद प्लेटफॉर्म पर साइन अप किया है। उनमें से कई डेमो के ठीक बाद कोर्स करने के लिए अप्लाई करते हैं, जबकि अन्य विकल्प की तलाश में अन्य डेमो में भाग लेते हैं।

सेल्फ-फंडेड स्टार्टअप फंडिंग जुटाने की तलाश में है और पहले से ही इन्वेस्टर्स के साथ बातचीत कर रहा है। इसे IIM अहमदाबाद के स्टार्टअप इनक्यूबेटर, CIEE.CO से अनुदान प्राप्त हुआ।

आउटलुक

बिस्वजीत का कहना है कि स्टार्टअप आगे मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स विषयों से संबंधित कोर्स लॉन्च करना चाहता है। इसके साथ ही कंस्ट्रक्शन पर अपने मौजूदा एजुकेशनल प्रोडक्ट्स का विस्तार करना चाहता है।

स्टार्टअप जल्द ही एक नई वेबसाइट लॉन्च करने के लिए तैयार है, जो कोर्स तक पहुंचने के मामले में एक आसान प्रवाह प्रदान करेगी।

वर्तमान में इसका लक्ष्य अगले तीन वर्षों में एक लाख पेड यूजर्स तक पहुंचना है। प्लेटफॉर्म ने 10 विदेशी देशों के बीटा यूजर्स को भी देखा है, लेकिन यह केवल 2023 में इंटरनेशनल लेवल पर विस्तार करने की योजना बना रहा है।

नई फंडिंग के साथ, स्टार्टअप को अपने मार्केटिंग प्रयासों का विस्तार करने के साथ-साथ अपने कोर्स को और अधिक प्रभावशाली बनाने की उम्मीद है।

Protrainy के प्रतिस्पर्धियों में Udemy, Skill Lync, और CADD ट्रेनिंग सेंटर शामिल हैं, लेकिन यह दावा करता है कि यह दूसरों की तुलना में तीन गुना कम कीमत पर काफी अधिक कोर्स प्रदान करता है।

Latest

Updates from around the world