शेयर बाजार लगातार चौथे दिन लाल निशान में, सेसेंक्स 215 अंक लुढ़का

बुधवार सुबह सेंसेक्स 62,615.52 पर खुला. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 62,759.97 का उच्च स्तर और 62,316.65 का निचला स्तर छुआ.

शेयर बाजार लगातार चौथे दिन लाल निशान में, सेसेंक्स 215 अंक लुढ़का

Wednesday December 07, 2022,

3 min Read

नीतिगत ब्याज दर में 0.35 प्रतिशत वृद्धि करने के भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के फैसले से बुधवार को घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में बिकवाली का जोर रहा. सेंसेक्स लगातार चौथे कारोबारी दिवस पर 215 अंक गिरकर बंद हुआ. रिलायंस इंडस्ट्रीज, बजाज फिनसर्व एवं टाटा स्टील के शेयरों में बिकवाली होने के अलावा विदेशी निवेशकों के भी बाजार से मुंह मोड़ने से घरेलू बाजारों में गिरावट रही. एशियाई बाजारों के कमजोर प्रदर्शन से भी घरेलू बाजार प्रभावित हुए.

बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित मानक सूचकांक सेंसेक्स (BSE Sensex) 215.68 अंक गिरकर 62,410.68 पर बंद हुआ. यह सेंसेक्स में गिरावट का लगातार चौथा सत्र रहा. बुधवार सुबह सेंसेक्स 62,615.52 पर खुला. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 62,759.97 का उच्च स्तर और 62,316.65 का निचला स्तर छुआ. सेंसेक्स पर लिस्टेड 30 कंपनियों में से 8 के शेयर बढ़त के साथ बंद हुए हैं. सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से एनटीपीसी को सर्वाधिक दो प्रतिशत का नुकसान हुआ. इसके अलावा बजाज फिनसर्व, इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील, रिलायंस इंडस्ट्रीज और सन फार्मा के शेयर भी घाटे में रहे. दूसरी तरफ, एशियन पेंट्स, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एलएंडटी, एक्सिस बैंक और आईटीसी के शेयरों में बढ़त दर्ज की गई. सबसे ज्यादा 2.10 प्रतिशत एशियन पेंट्स चढ़ा. इसके बाद हिंदुस्तान यूनिलीवर रही, जिसका शेयर 2 प्रतिशत चढ़ा है.

Nifty50 पर कौन से शेयर लुढ़के

इसी तरह एनएसई के सूचकांक निफ्टी (NSE Nifty) में भी 82.25 अंकों की गिरावट रही और यह 18,560.50 पर बंद हुआ. एनएसई पर एफएमसीजी, पीएसयू बैंक को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में ​बंद हुए हैं. एनएसई पर हिंदुस्तान यूनिलीवर, बीपीसीएल, एशियन पेंट्स, एलएंडटी, एक्सिस बैंक टॉप गेनर्स रहे. वहीं एसबीआई लाइफ, एनटीपीसी, बजाज फिनसर्व, टाटा मोटर्स और बजाज ऑटो टॉप लूजर्स रहे. भारतीय बाजारों के प्रदर्शन पर आरबीआई के रेपो दर में 0.35 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने के फैसले का काफी असर देखा गया. मई से अब तक लगातार पांचवीं बार दर वृद्धि करने के पीछे आरबीआई ने मुद्रास्फीति को काबू करने की मंशा जताई है.

वैश्विक बाजारों की चाल

एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, हांगकांग, सोल और टोक्यो के सूचकांकों में तगड़ी गिरावट रही. यूरोप के शेयर बाजार दोपहर के सत्र में बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे. इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.56 प्रतिशत की गिरावट के साथ 78.11 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर आ गया. जहां तक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) का सवाल है तो वे पिछले कुछ दिनों से लगातार बिकवाल बने हुए हैं. उपलब्ध आंकड़़ों के मुताबिक, एफआईआई ने मंगलवार को 635.35 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध बिक्री की.