शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 224 अंक टूटा; Infosys 4% से ज्यादा लुढ़का

By Ritika Singh
September 14, 2022, Updated on : Wed Sep 14 2022 12:51:34 GMT+0000
शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 224 अंक टूटा; Infosys 4% से ज्यादा लुढ़का
पूरे दिन में सेंसेक्स ने 60649.04 का उच्च स्तर और 59417.12 का निम्न स्तर छुआ.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में पिछले चार दिन से जारी तेजी पर बुधवार को विराम लगा. BSE Sensex 224 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ. उच्च मुद्रास्फीति को काबू में लाने के लिये आक्रामक रूप से ब्याज दर बढ़ाये जाने को लेकर चिंता के बीच आईटी और दवा कंपनियों के शेयरों में बिकवाली से बाजार नीचे आया. तीस शेयरों पर बेस्ड बीएसई सेंसेक्स में 1200 अंक से अधिक का उतार-चढ़ाव दर्ज किया गया. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 60649.04 का उच्च स्तर और 59417.12 का निम्न स्तर छुआ. अंत में यह 224.11 अंकों की गिरावट के साथ 60346.97 पर बंद हुआ.


सेंसेक्स के शेयरों में इन्फोसिस सबसे ज्यादा 4.53 प्रतिशत नीचे आया. इसके अलावा TCS, टेक महिंद्रा, HCL टेक, L&T, विप्रो और रिलायंस प्रमुख रूप से नुकसान में रहे. दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, पावरग्रिड, NTPC, SBI, कोटक बैंक, HDFC बैंक और HDFC लि. लाभ में रहे. इंडसइंड बैंक का शेयर सबसे ज्यादा 4.48 प्रतिशत के उछाल के साथ बंद हुआ.

Nifty50 पर कौन से शेयर आए नीचे

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (NSE Nifty) भी 66.30 अंक लुढ़ककर 18003.75 पर बंद हुआ. निफ्टी के सेक्टोरल इंडेक्सेज में गिरावट और तेजी का मिलाजुला रुख देखने को मिला. सबसे ज्यादा 3.36 प्रतिशत निफ्टी आईटी टूटा. इंडसइंड बैंक, NTPC, SBI, पावरग्रिड, कोटक बैंक टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर इन्फोसिस, TCS, टेक महिन्द्रा, HCL टेक, L&T टॉप लूजर्स रहे.


बैंक शेयरों में तेजी से बाजार को शुरुआती गिरावट से उबरने में मदद मिली लेकिन आईटी, ऊर्जा और दवा कंपनियों के शेयरों में बिकवाली से लाभ पर अंकुश लगा. इसके अलावा थोक महंगाई के आंकड़े जारी होने से भी निवेशक धारणा प्रभावित हुई. विनिर्मित वस्तुओं के सस्ता होने से घरेलू स्तर पर थोक मुद्रास्फीति लगातार तीसरे महीने अगस्त में नरम पड़कर 12.41 प्रतिशत रही. हालांकि अगस्त लगातार 17वां महीना है, जब थोक महंगाई दर दहाई अंक में बनी हुई है. कहा जा रहा है कि थोक महंगाई 11 माह के निचले स्तर पर आ गई है.

SBI का मार्केट कैप पहली बार 5 लाख करोड़ के पार

SBI का मार्केट कैप बुधवार को बीएसई पर कारोबार के दौरान पहली बार पांच लाख करोड़ रुपये के पार चला गया. एसबीआई इस क्लब में शामिल होने वाला तीसरा बैंक है. एचडीएफसी बैंक और आईसीआईसीआई बैंक पहले ही यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं. एसबीआई का मार्केट कैप इस वक्त 510130.81 करोड़ रुपये है. कारोबार बंद होने पर एसबीआई का शेयर बीएसई पर 2.39 प्रतिशत के उछाल के साथ 571.60 रुपये पर बंद हुआ. दिन में इसने 574.75 रुपये का स्तर छुआ जो 52 सप्ताह का हाई है. एनएसई पर शेयर 2.56 प्रतिशत की बढ़त के साथ 572.30 रुपये पर बंद हुआ. ओवरऑल मार्केट कैप रैंकिंग में एसबीआई अभी 7वें नंबर पर है. पिछले तीन महीनों मंे एसबीआई का शेयर 26 प्रतिशत चढ़ा है. मॉर्गन स्टेनले द्वारा ओवरवेट रेटिंग मेंटेन किए जाने के चलते एसबीआई के शेयर में उछाल आया.

Infosys क्यों टूटा

गोल्डमैन सैक्स द्वारा इन्फोसिस, टीसीएस और टेक महिन्द्रा की रेटिंग 'बाई' से 'सेल' कर दिए जाने यानी डाउनग्रेड कर दिए जाने के चलते इन्फोसिस के शेयर में तगड़ी गिरावट आई. गोल्डमैन सैक्स ने इस कदम के पीछे डॉलर रेवेन्यु ग्रोथ में स्लोडाउन का हवाला दिया है. एनएसई और बीएसई दोनों पर इन्फोसिस का शेयर 4.53 प्रतिशत गिरकर 1475 रुपये पर बंद हुआ.

वेदांता का शेयर 10% उछला

अनिल अग्रवाल की अगुवाई वाली डायवर्सिफाइड मेटल कंपनी वेदांता लिमिटेड का शेयर बीएसई पर 10 प्रतिशत से ज्यादा उछाल के साथ 305.45 रुपये पर बंद हुआ है. एनएसई पर शेयर 9.87 प्रतिशत की बढ़त के साथ 304.95 रुपये पर बंद हुआ. वेदांता और फॉक्सकॉन ने गुजरात सरकार के साथ एक एमओयू साइन किया है. यह एमओयू एक सेमीकंडक्टर व डिस्प्ले एफएबी मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी लगाने को लेकर है. एमओयू साइन होने के बाद वेदांता के शेयरों में तेजी आई.

खुल गया हर्षा इंजीनियर्स इंटरनेशनल का IPO

‘बेरिंग केज’ बनाने वाली हर्षा इंजीनियर्स इंटरनेशनल का आईपीओ (Harsha Engineers International IPO) 14 सितंबर को खुल गया. कंपनी ने अपने 755 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) के लिए प्रति शेयर 314 से लेकर 330 रुपये तक का प्राइस बैंड तय किया है. कंपनी अपने पात्र कर्मचारियों को 31 रुपये प्रति इक्विटी शेयर का डिस्काउंट दे रही है. कंपनी का आईपीओ 16 सितंबर को बंद होगा. कंपनी अपने निर्गम के तहत 455 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी करेगी और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 300 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री का प्रस्ताव यानी ऑफर फॉर सेल (OFS) रखा गया है. बिक्री पेशकश के हिस्से के रूप में राजेंद्र शाह, हरीश रंगवाला, पिलक शाह, चारुशीला रंगवाला और निर्मला शाह अपने शेयरों की बिक्री करेंगे.

दुनिया के विभिन्न बाजारों में गिरावट

अमेरिका में अगस्त महीने में महंगाई दर 8.3 प्रतिशत रही, जो कि अनुमान से अधिक है. इसके साथ ही यह चिंता भी है कि फेडरल रिजर्व आक्रामक रूप से ब्याज दर बढ़ा सकता है. इससे दुनिया के विभिन्न बाजारों में गिरावट रही. वैश्विक बाजारों में एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की, हांगकांग का हैंगसेंग और चीन का शंघाई कंपोजिट नुकसान में रहे. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में नुकसान का रुख था. विदेशी संस्थागत निवेशकों ने मंगलवार को 1956.98 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे.

रुपया 30 पैसे गिरकर 79.47 प्रति डॉलर पर

अमेरिका के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) के आंकड़े अनुमान से कहीं ऊंचे रहने की वजह से अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बुधवार को रुपया 30 पैसे गिरकर 79.47 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 79.58 पर खुला. दिन के कारोबार में रुपये ने 79.38 और 79.60 के दायरे में घूमने के बाद अंत में यह डॉलर के मुकाबले 30 पैसे की गिरावट के साथ 79.47 पर बंद हुआ. रुपया मंगलवार को 79.17 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था. इस बीच, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.35 प्रतिशत गिरकर 109.43 रह गया.