आज खुल गए ये दो IPO, जानें कब तक लगा सकेंगे पैसा

By yourstory हिन्दी
December 13, 2022, Updated on : Tue Dec 13 2022 07:26:55 GMT+0000
आज खुल गए ये दो IPO, जानें कब तक लगा सकेंगे पैसा
Droneacharya Aerial Innovations, एसएमई कैटेगरी का आईपीओ है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

ड्रोन सॉल्युशंस प्रोवाइडर DroneAcharya और वाहन डीलरशिप कारोबार से जुड़ी लैंडमार्क कार्स लिमिटेड (Landmark Cars Limited) का आईपीओ आज यानी 13 दिसंबर को खुल गया. लैंडमार्क कार्स लिमिटेड ने 552 करोड़ रुपये की शुरुआती शेयर बिक्री के लिए प्राइस बैंड 481-506 रुपये प्रति शेयर तय किया है. कंपनी का कहना है कि तीन दिन का आईपीओ 15 दिसंबर को बंद होगा.


आईपीओ में 150 करोड़ रुपये तक के नये शेयर जारी किये जायेंगे. इसमें 402 करोड़ रुपये तक की बिक्री पेशकश (ओएफएस) शामिल है. कंपनी निर्गम से प्राप्त राशि का उपयोग कर्ज भुगतान और सामान्य कारोबारी जरूरतों को पूरा करने के लिए करेगी.

रिजर्व्ड हिस्से की डिटेल

निर्गम का आधा हिस्सा पात्र संस्थागत निवेशकों के लिए, 35 प्रतिशत खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों के लिए और शेष 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए आरक्षित किया गया है. निवेशक न्यूनतम 29 शेयरों के लिए और उसके बाद उसके गुणकों में बोली लगा सकते हैं. टीपीजी समर्थित लैंडमार्क कार्स भारत में मर्सिडीज-बेंज, हुंदै, जीप, फॉक्सवैगन और रेनो के लिए डीलरशिप के साथ वाहनों के खुदरा कारोबार से जुड़ी है. कंपनी का शेयर 23 दिसंबर को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध होगा.

Droneacharya Aerial Innovations का IPO

Droneacharya Aerial Innovations, एसएमई कैटेगरी का आईपीओ है. कंपनी की योजना आईपीओ से करीब 34 करोड़ रुपये जुटाने की है. ग्रे मार्केट में कंपनी का शेयर 65 रुपये के प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा है. Droneacharya के आईपीओ में 62.90 लाख इक्विटी शेयर का फ्रेश इश्यू रहेगा. आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 52 से लेकर 54 रुपये प्रति शेयर रहेगा. आईपीओ 15 दिसंबर को बंद होगा. निवेशक मिनिमम 2000 शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं और उसके बाद 2000 शेयरों के मल्टीप्लाई में बोली लगाई जा सकती है.

रिजर्व्ड हिस्से की डिटेल

Droneacharya Aerial Innovations के इश्यू का 50 प्रतिशत हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए रिजर्व रहेगा. वहीं 15 प्रतिशत हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल और बाकी का 35 प्रतिशत हिस्सा रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए रिजर्व है. आईपीओ के लिए Corporate Capital Ventures, बुक रनिंग लीड मैनेजर और Bigshare Services रजिस्ट्रार है. कंपनी आईपीओ से मिलने वाले पैसे को ड्रोन्स व अन्य एक्सेसरीज की खरीद के लिए इस्तेमाल कर सकती है. इसके अलावा कमाई का कुछ हिस्सा जनरल कॉरपोरेट उद्देश्यों के लिए रखा जा सकता है.

12 दिसंबर को भी दो IPO ओपन

12 दिसंबर को भी दो IPO ओपन हुए हैं. एक आईपीओ दिग्गज वाइन कंपनी सुला वाइनयार्ड्स (Sula Vineyards IPO) का है और दूसरा Abans समूह की वित्तीय सेवा इकाई Abans Holdings का. Sula Vineyards का आईपीओ 14 दिसंबर को और Abans Holdings का आईपीओ 15 दिसंबर को बंद होगा.


Edited by Ritika Singh

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close