वाराणसी पुलिस का सिपाही बना असिस्टेंट प्रोफेसर, एसएसपी करेंगे सम्मानित

By yourstory हिन्दी
January 21, 2020, Updated on : Tue Jan 21 2020 06:01:30 GMT+0000
वाराणसी पुलिस का सिपाही बना असिस्टेंट प्रोफेसर, एसएसपी करेंगे सम्मानित
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

वाराणसी पुलिस में आरक्षी पद पर कार्यरत विनोद कुमार यादव का चयन असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर हुआ है। विनोद की इस सफलता के बाद अब एसएसपी प्रभाकर चौधरी भी उन्हे सम्मानित करेंगे।

आरक्षी विनोद कुमार यादव

आरक्षी विनोद कुमार यादव (बीच में)



वाराणसी में आरक्षी विनोद कुमार यादव का चयन असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर हुआ है। विनोद कुमार वाराणसी के रोहनिया थाने में तैनात हैं। विनोद ने अपनी कठिन ड्यूटी के साथ कड़ी मेहनत करते हुए यह मुकाम हासिल किया है।


विनोद कुमार यादव 5 भाई-बहन हैं, तीन भाई और दो बहनों में विनोद सबसे बड़े बेटे हैं। विनोद कुमार का चयन साल 2011 में उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही पद पर हुआ था। विनोद कुमार यादव ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिन्दी विषय में एमए की पढ़ाई की है।


उत्तर प्रदेश पुलिस में नौकरी लगने के बाद एक ओर विनोद की आर्थिक हालत में सुधार हुआ, हालांकि उन्होने नौकरी के साथ पढ़ाई को भी जारी रखा। विनोद शिक्षा के क्षेत्र में ही आगे बढ़ना चाहते थे, इसी के चलते उन्होने कभी सब इंस्पेक्टर पद के लिए परीक्षा भी नहीं दी।


विनोद कुमार ने साल 2015 में नेट जेआरएफ़ परीक्षा पास की थी। बीते साल पाँच जनवरी 2019 को उन्होने असिस्टेंट प्रोफेसर पद की परीक्षा दी, जिसमें पास होने के बाद 27 नवंबर को उनका साक्षात्कार हुआ, अब रिजल्ट जारी होने के बाद उनकी सफलता रंग लाई।


विनोद कुमार का असिस्टेंट पद पर चयन हो जाने के बाद उनके विभाग में ख़ासी खुशी का माहौल देखा जा रहा है। वाराणसी के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने विनोद की इस कामयाबी के बाद उन्हे सम्मानित करने का फैसला किया है।


अपनी इस सफलता के बाद विनोद अपने भाइयों को भी सफलता की सीढ़ी चढ़ते हुए देखना चाहते हैं। विनोद ने अपने छोटे भाई संजय और विवेक की पढ़ाई की ज़िम्मेदारी भी अपने कंधों पर उठाई हुई है।