दुनिया में लक्जरी घरों की कीमतों में वृद्धि में बेंगलुरु और दिल्ली को मिले ये स्थान

By yourstory हिन्दी
August 18, 2020, Updated on : Tue Aug 18 2020 07:01:30 GMT+0000
दुनिया में लक्जरी घरों की कीमतों में वृद्धि में बेंगलुरु और दिल्ली को मिले ये स्थान
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नई दिल्ली, दुनिया में लक्जरी आवासीय संपत्तियों की कीमतों में सालाना आधार पर वृद्धि के मामले में भारतीय शहर बेंगलुरु 26 वें और दिल्ली 27 वें स्थान पर हैं। इस सूची में चिली की राजधानी मनीला पहले नंबर पर है।


k

फोटो साभार: shutterstock


नाइट फ्रैंक की फ्रैंक प्रमुख वैश्विक शहर सूचकांक दूसरी तिमाही-2020 की रिपोर्ट के अनुसार सूची में मुंबई को 32 वें स्थान हासिल हुआ है। पहली तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही में बेंगलुरु और मुंबई एक-एक पायदान चढ़े हैं, जबकि दिल्ली में पांच स्थानों की छलांगें हैं।


रिपोर्ट के अनुसार, अप्रैल-जून की तिमाही में पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही की तुलना में बैंगलोर में लक्जरी आवासीय संपत्तियों के पूंजीगत मूल्य 0.6 प्रतिशत और दिल्ली में 0.3 प्रतिशत बढ़ा। मुंबई में 0.6 प्रतिशत की गिरावट आई।


नाइट फ्रैंक ने कहा कि सालाना आधार पर कीमतों में वृद्धि के लिहाज से बैंगलोर 26 वें स्थान पर है। दूसरी तिमाही में बेंगलुरु में लक्जरी घरों की कीमत 0.60 प्रतिशत बढ़कर 19,727 रुपये प्रति वर्ग फुट रह गई।


दिल्ली इस सूची में 27 वें स्थान पर हैं। यहां सालाना आधार पर औसत कारों का 0.30 प्रतिशत 33,625 रुपये प्रति वर्ग फुट रहा। रिपोर्ट के अनुसार दूसरी तिमाही में मुंबई में अपार्टमेंट 0.60 प्रतिशत घटकर औसतन 64,388 रुपये प्रति वर्ग फुट रहे। मुंबई सूची में 32 वें स्थान पर है।


रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के 45 शहरों में लक्जरी आवासीय संपत्तियों के मूल्य औसतन 0.9 प्रतिशत बढ़े हैं। यह पिछले 11 साल में सबसे ज्यादा सालाना वृद्धि है।


इस सूची में चिली की राजधानी मनीला पहले स्थान पर है। मनीला में जून, 2020 तक सालाना आधार पर लक्जरी घरों के मूल्य 14.4 प्रतिशत बढ़े हैं। उसके बाद जापान के तोक्यो (8.60 प्रतिशत) और स्वीडन के स्टॉकहोम (4.40 प्रतिशत) का नंबर आता है। थाइलैंड की राजधानी बैंकॉक का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है। वहाँ सालाना आधार पर लक्जरी आवासीय संपत्तियों की कीमतों में 5.8 प्रतिशत की गिरावट आई।


नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा,

‘कोरोनावायरस महामारी की वजह से वैश्विक सुपरमार्केट में अनिश्चितता है। दुनिया के अमीर लोग खुराक खरीदने को अभी टाल रहे हैं। वे इसके बजाय सोने की तरह संपीड़ित अधिकारियों में निवेश करने को प्राथमिकता दे रहे हैं।'

(सौजन्य से- भाषा पीटीआई)


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close