कभी 18 लोगों को करोड़पति बनाने वाला Zomato अचानक 18% उछला, कमाई देखकर शेयरों पर टूटे निवेशक

पिछले कुछ दिनों से जोमैटो के शेयर गिरावट का रुख झेल रहे थे, लेकिन आज इसमें 18 फीसदी से भी अधिक की तेजी आई है, जानिए क्यों कंपनी के शेयरों पर टूट पड़े हैं निवेशक.
14 CLAPS
0

पिछले कुछ दिनों से Zomato का शेयर इसलिए चर्चा का विषय बना था क्योंकि उसमें भारी गिरावट आ रही थी. आज जोमैटो (Zomato) के शेयर ने इतनी तगड़ी तेजी दर्ज की है कि कई दिनों की कसर पूरी कर दी है. दरअसल, ये सब हुआ है जोमैटो के तिमाही नतीजों के चलते. 2023 की पहली तिमाही में भी कंपनी को हुआ तो नुकसान ही है, लेकिन यह नुकसान घटा है. अच्छी बात ये है कि कंपनी का रेवेन्यू बढ़ा है. ऐसे में लोगों ने तेजी से कंपनी के शेयर खरीदने शुरू कर दिए हैं, जिसके चलते शेयरों में तगड़ी तेजी देखने को मिल रही है. हफ्ते के दूसरे दिन जोमैटो का शेयर 55 रुपये (Zomato Share Price) के करीब जा पहुंचा. ये वही जोमैटो है, जिसने आईपीओ की लिस्टिंग के दिन ही 18 लोगों को करोड़पति बना दिया था.

जोमैटो के शेयरों पर टूटे निवेशक

मंगलवार को जोमैटो के शेयरों में कारोबार शुरू होने के सिर्फ सवा घंटे में ही करीब 18 फीसदी की तेजी देखने को मिली. कंपनी का शेयर सोमवार को 46.30 रुपये पर बंद हुआ था, जो 50 रुपये पर खुला. वहीं 10.30 बजे तक के कारोबार में ही जोमैटो ने 59.95 रुपये का उच्चतम स्तर छू लिया. शेयरों में आ रही तेजी का सीधा सा मतलब है कि इसे लोग तेजी से खरीद रहे हैं.

नुकसान के बावजूद लोग धड़ल्ले से खरीद रहे शेयर

जोमैटो कपंनी के 2023 की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून के नतीजे आ गए हैं. इस बार भी कंपनी को नुकसान ही हुआ है, लेकिन उसमें कमी देखने को मिली है. इस तिमाही में कंपनी का शुद्ध घाटा 186 करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले साल इसी तिमाही में 359 करोड़ रुपये था. लोगों को दरअसल इस बात की खुशी है कि कंपनी का रेवेन्यू तेजी से बढ़ा है. अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 67.44 फीसदी बढ़ा है. कंपनी का रेवेन्यू अप्रैल-जून तिमाही में 1413.90 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले साल इसी तिमाही में 844.40 करोड़ रुपये था.

सीईओ की बातों ने किया जोश भरने का काम

नतीजों के बाद जोमैटो के सीईओ ने ऐसी बात कही, जिसने ना सिर्फ कंपनी के कर्मचारियों, बल्कि निवेशकों में भी जोश भरने का काम किया है. दीपिंदर गोयल के कहा है कि पिछले कुछ महीनों में कंपनी का फोकस मुनाफे को लेकर तेज हुआ है. हालांकि, उन्होंने साफ किया कि इसके लिए वह कंपनी की ग्रोथ के साथ कोई समझौता नहीं कर रहे हैं. अब हर चीज का बारीकी से आकलन किया जा रहा है. साथ ही टिकाऊ ग्रोथ और मुनाफे को ध्यान में रखते हुए संसाधन आवंटित किए जा रहे हैं.

लिस्टिंग के दिन ही 18 निवेशकों को बनाया था करोड़पति

जोमैटो का आईपीओ एक-दो या तीन नहीं बल्कि 40 गुना से भी अधिक सब्सक्राइब हुआ था. इसका मतलब है कि हर एक शेयर के लिए 40 से भी ज्यादा दावेदार. पिछले साल 14 जुलाई को यह आईपीओ खुला था और 27 जुलाई को लिस्ट हुआ था. लिस्टिंग के दिन ही शेयर में निवेश करने वाले 18 लोग करोड़पति बन गए थे. शेयर का इश्यू प्राइस 76 रुपये था, लेकिन शेयर करीब 115 रुपये पर लिस्ट हुआ. अब यह शेयर इश्यू प्राइस से भी नीचे गिर चुका है.

Latest

Updates from around the world