PhonePe को General Atlantic से मिली 10 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त फंडिंग

जनरल अटलांटिक ने जनवरी 2023 में कंपनी में 350 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. इसके साथ ही पिछले तीन महीनों में बेंगलुरु स्थित डेकाकॉर्न द्वारा जुटाई गई कुल फंडिंग 750 मिलियन डॉलर हो गई है.

PhonePe को General Atlantic से मिली 10 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त फंडिंग

Thursday April 13, 2023,

3 min Read

फिनटेक प्लेटफॉर्म PhonePeने जनरल अटलांटिक (General Atlantic) से अतिरिक्त 100 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई हैं. जनरल अटलांटिक ने जनवरी 2023 में कंपनी में 350 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. इसके साथ ही पिछले तीन महीनों में बेंगलुरु स्थित डेकाकॉर्न द्वारा जुटाई गई कुल फंडिंग 750 मिलियन डॉलर हो गई है.

ताजा फंडिंग PhonePe के 1 बिलियन डॉलर राउंड के हिस्से के रूप में आई है. पिछले साल ही कंपनी ने भारत में अपना हेडक्वार्टर शिफ्ट किया था. PhonePe ने 12 बिलियन डॉलर की प्री-मनी वैल्यूएशन पर ताजा फंडिंग हासिल की है. Flipkart और Byju’s के बाद PhonePe देश की तीसरी सबसे निजी तौर पर मूल्यवान कंपनी है. गौरतलब है कि बायजू के मूल्यांकन में हाल ही में उसके निवेशक BlackRock द्वारा 50% की कटौती की गई थी.

पिनकोड के लॉन्च के साथ ऑनलाइन कॉमर्स में प्रवेश के ठीक बाद कंपनी को यह फंडिंग मिली है. बता दें कि पिनकोड, ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ONDC) प्रोटोकॉल से जुड़ा एक हाइपरलोकल कंज्यूमर ऐप है. इसे लॉन्च करते हुए कंपनी ने कहा था कि यह न केवल स्थानीय खुदरा विक्रेताओं को प्रोत्साहन देगी, बल्कि MSME's और किसानों सहित पूरे लोकल इकोसिस्टम को शक्ति प्रदान करेगी.

कंपनी के अनुसार, यह अगले कुछ वर्षों में भारत में अपने पेमेंट और इंश्योरेंस बिजनेस को बढ़ाने के साथ-साथ लोन देने, स्टॉकब्रोकिंग, ओएनडीसी, और अकाउंट एग्रीगेटर जैसे नए बिजनेसेज को लॉन्च करने और आक्रामक रूप से बढ़ाने के लिए ताजा फंडिंग का उपयोग करेगी.

कंपनी 2023 में अपने कोर बिजनेस को लाभदायक बनाने का लक्ष्य बना रही है और लोन देने, क्रॉस-सेल अवसरों, गेटवे बिजनेस और अब ई-कॉमर्स पर बड़ा दांव लगा रही है. हालाँकि, पिछले वर्ष के आंकड़ों के अनुसार, PhonePe का रेवेन्यू वित्त वर्ष 21 में 690 करोड़ रुपये से 2.4 गुना बढ़कर 1,646 करोड़ रुपये हो गया. पिछले वित्त वर्ष के दौरान फर्म का घाटा केवल 16.5% बढ़कर 2,014 करोड़ रुपये हो गया. कंपनी ने अपनी बैलेंस शीट में और सुधार किया है और 2022 के पहले नौ महीनों (जनवरी से सितंबर) में रेवेन्यू में 1,913 करोड़ रुपये दर्ज किए हैं. कंपनी की वेल्यूएशन रिपोर्ट एक नियामक फाइलिंग के माध्यम से प्राप्त हुई है.

400 मिलियन से अधिक पंजीकृत उपयोगकर्ताओं के साथ, फोनपे 1 ट्रिलियन डॉलर (लगभग 84 लाख करोड़ रुपये) की वार्षिक टीपीवी (कुल भुगतान मूल्य) रन रेट तक पहुंचने का दावा करता है. यह यूपीआई स्पेस में भी सबसे आगे है जहां मूल्य के हिसाब से इसकी 50% से अधिक बाजार हिस्सेदारी है.

यह भी पढ़ें
क्रिकेटर हार्दिक पांड्या ने कंज्यूमर फूड ब्रांड 'Yu' में किया निवेश