कोल्ड सप्लाई चेन मार्केटप्लेस Celcius ने जुटाई 100 करोड़ रुपये की फंडिंग

कंपनी का उद्देश्य कोल्ड सप्लाई चेन सेक्टर में टेक्नोलॉजिकल इनोवेशंस के लिए फंडिंग का उपयोग करना है और खराब होने वाली चीजों में अपव्यय को कम करना है जिससे एक स्थायी भविष्य की ओर निर्माण किया जा सके.

कोल्ड चेन मार्केटप्लेस स्टार्टअप Celcius Logistics ने IvyCap Ventures के नेतृत्व में सीरीज ए फंडिंग राउंड में 100 करोड़ रुपये जुटाएं हैं. इसी सीरीज़ ए फंडिंग राउंड के हिस्से के रूप में, कंपनी ने पहले अपने मौजूदा निवेशकों - Mumbai Angels, Supply Chain Labs, Endurance Capital, VCats, Huddle, Eaglewings Ventures (EVAN) और अन्य से 35 करोड़ रुपये जुटाए थे.

एसेट-लाइट प्लेटफॉर्म होने के नाते कंपनी का दावा है कि इसके पास 4500+ रीफर वाहनों, 107 कोल्ड स्टोरेज सुविधाओं, 7 डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर, 100+ हाइपरलोकल राइडर्स और 125 कर्मचारियों की टीम है और यह देश भर में 350+ शहरों में काम कर रहा है.

कंपनी का उद्देश्य कोल्ड सप्लाई चेन सेक्टर में टेक्नोलॉजिकल इनोवेशंस के लिए फंडिंग का उपयोग करना है और खराब होने वाली चीजों में अपव्यय को कम करना है जिससे एक स्थायी भविष्य की ओर निर्माण किया जा सके.

Celcius एक इंटीग्रेटेड ऑनलाइन स्मार्ट प्लेटफॉर्म मुहैया करता है जो कोल्ड चेन नेटवर्क में सभी स्टैकहोल्डर्स के लिए ट्रांसपोर्ट, वेयरहाउस, अंतिम-मील और हाइपरलोकल डिलीवरी सेवाओं सहित एंड-टू-एंड सप्लाई चेन सॉल्यूशन प्रदान करता है. टेक प्लेटफॉर्म कुशलतापूर्वक और पारदर्शी रूप से उपयोगकर्ताओं को उनकी कोल्ड सप्लाई चेन जरूरतों के बारे में पता लगाने, बुक करने, निगरानी करने और रीयल-टाइम अपडेट और डेटा एनालिटिक्स प्राप्त करने की अनुमति देता है.

Celcius एक लास्ट-माइल डिलीवरी सेवा भी प्रदान करता है जो मौजूदा छोटे रीफर वाहनों के एकत्रीकरण पर ध्यान केंद्रित करता है और इस सेक्टर में नई एसेट पेश करने के लिए अपनी अनूठी वाहन विकास योजना (Vahaan Vikas Yojana) का उपयोग करता है, जिससे पूरे भारत में छोटे ट्रांसपोर्टरों के लिए अवसर पैदा होते हैं. अपनी तरह की पहली तापमान-नियंत्रित हाइपर-लोकल सेवा देश भर में 18 घंटे के भीतर 500 ग्राम से 500 किलोग्राम तक के खराब होने वाले सामानों के परिवहन के लिए बाइक सवारों के अपने बेड़े के माध्यम से और हवाई, रेल और सड़क नेटवर्क का लाभ उठाने की अनुमति देती है.

कंपनी के अब तक के सफर और योजनाओं के बारे में बात करते हुए, फाउंडर और सीईओ, स्वरूप बोस ने कहा, “Celcius के विजन और मिशन में उनके अटूट समर्थन और विश्वास के लिए हम अपने निवेशकों के आभारी हैं. COVID महामारी के दौरान सिर्फ 5 कर्मचारियों के साथ हमने शुरुआत की थी. आज यह 125 कर्मचारियों की टीम है और देश भर के 350+ शहरों में उपस्थिति के साथ कोल्ड सप्लाई चेन उद्योग में एक अग्रणी खिलाड़ी बन गई हैं.”

उन्होंने आगे कहा, "हमने हाल ही में लास्ट-माइल डिलीवरी और हाइपरलोकल कोल्ड-चेन ट्रांसपोर्टेशन की विशिष्ट जरूरतों को पूरा करने के लिए स्मार्ट समाधान लॉन्च किए हैं. ताजा फंडिंग जुटाने के बाद, हमारा लक्ष्य सभी के लिए खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए अपने कारोबार का और विस्तार करना और एक सहज, और सही मायने में अखंड कोल्ड सप्लाई चेन का निर्माण करना है. हम फार्मा सेक्टर में चुनौतियों का समाधान करने के लिए स्मार्ट टेक इनोवेशंस को पेश करने की दिशा में भी काम कर रहे हैं. हमारा लक्ष्य इनोवेटिव टेक समाधानों के माध्यम से जल्दी खराब होने वाले प्रोडक्ट्स की बर्बादी को कम करने और इकोसिस्टम पर एक सार्थक प्रभाव पैदा करके एक स्थायी भविष्य की दिशा में काम करना है.”

भारत में कोल्ड-चेन सिस्टम पर हाल की रिपोर्ट के अनुसार, इंडस्ट्री फूड और फार्मा जैसे सेक्टर सहित कई अक्षमताओं से ग्रस्त है. मौजूदा असंगठित और अकुशल कोल्ड चेन सिस्टम से हर साल करीब 14 अरब डॉलर का खाद्य नुकसान होता है और पारगमन के दौरान नुकसान और तापमान में बदलाव के कारण लगभग 29% वैक्सीन की बर्बादी होती है. Celcius सभी हितधारकों (निर्माताओं, छोटे ट्रांसपोर्टर और अंतिम उपभोक्ता) के लिए इन चुनौतियों को पूरा करने के लिए अपने मालिकाना तकनीकी समाधानों का उपयोग कर रहा है.

निवेश के बारे में बोलते हुए, IvyCap Ventures के फाउंडर और मैनेजिंग पार्टनर विक्रम गुप्ता ने कहा, “Celcius Logistics के साथ साझेदारी करके हमें खुशी है, जो अपनी इनोवेटिव अप्रोच के साथ कोल्ड सप्लाई चेन सेक्टर में क्रांति ला रहा है. इसके फोकस और टीम की विशेषज्ञता को देखते हुए, हमें विश्वास है कि Celcius इस स्पेस में अग्रणी ब्रांड के रूप में उभरेगा.”

IvyCap Ventures के मैनेजिंग पार्टनर तेज कपूर, IvyCap Ventures की ओर से Celcius के बोर्ड में शामिल होंगे.

Celcius का दावा है कि पिछले एक साल में इसने 20 गुना की वृद्धि दर्ज की है. कंपनी के ग्राहकों की लिस्ट में Zepto, Zomato, Maersk, Prabhat Dairy, Baskin Robbins, Vadilal, Domino's, Keventers, और Godrej Agrovet शामिल हैं. सेल्सियस ने भारत में 350+ शहरों में डेयरी, ताजा कृषि उत्पाद, फार्मा, फल, समुद्री भोजन और टीकों जैसे क्षेत्रों के लिए 125, 000 टन से अधिक खराब होने वाले कार्गो का परिवहन किया है. विदेशी फलों और समुद्री भोजन जैसे उत्पादों के निर्यात और आयात को सक्षम करने के लिए स्टार्टअप ने सीमा पार भी उद्यम किया है.

यह भी पढ़ें
घूमना है लेकिन पैसे नहीं है? स्टार्टअप SanKash करेगा आपकी मदद, जानिए कैसे...