डिजिटल ट्विन स्टार्टअप Intangles ने सीरीज A राउंड में जुटाए 10 मिलियन डॉलर

इस फंडरेजिंग ट्रांजैक्शन के लिए E&Y ने एक्सक्लूसिव फाइनैंशियल एडवाइजर के तौर पर काम किया है. फंडिंग राउंड में हासिल हुई रकम का इस्तेमाल कंपनी नए कस्टमर पाइपलाइन, ग्लोबल मार्केट में मौजूदगी बढ़ाने और प्रोडक्ट इंजीनियरिंग, सेल्स और डिलीवरी टीम्स को मजबूत करने के लिए हायरिंग में करेगी.

डिजिटल ट्विन स्टार्टअप Intangles ने सीरीज A राउंड में जुटाए 10 मिलियन डॉलर

Wednesday February 22, 2023,

3 min Read

पुणे के स्टार्टअप Intangles ने सीरीज ए फंडिंग राउंड में 10 मिलियन डॉलर यानी करीबन 83 करोड़ रुपये जुटाए हैं. डिजिटल ट्विन सलूशन देने वाली कंपनी को इस राउंड में Baring Private Equity Partners India से यह निवेश हासिल हुआ है.

इस फंडरेजिंग ट्रांजैक्शन के लिए E&Y ने एक्सक्लूसिव फाइनैंशियल एडवाइजर के तौर पर काम किया है. फंडिंग राउंड में हासिल हुई रकम का इस्तेमाल कंपनी नए कस्टमर पाइपलाइन, ग्लोबल मार्केट में मौजूदगी बढ़ाने और प्रोडक्ट इंजीनियरिंग, सेल्स और डिलीवरी टीम्स को मजबूत करने के लिए हायरिंग में करेगी.

2016 में चार इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स द्वारा शुरू की गई ये कंपनी पेटेंटेड एल्गोरिद्म से लेकर एडवान्स्ड हार्डवेयर डिवाइसेज और क्लाउड बेस्ड डेटा एनालिटिक्स प्लैटफॉर्म स्पेस में इन-हाउस डिवेलप्ड फुल-स्टैक सर्विस देनी वाली चुनिंदा ग्लोबल कंपनियों में से एक होने का दावा करती है.

Intangles के सीईओ और को- फाउंडर अनूप पाटिल, नील उनादकट(सीटीओ), अमन सिंह (हेड ऑफ एनालिटिक्स) और जयश्री पाटिल(हेड ऑफ एंबेडेड सिस्टम्स) ने कहा, Intangles ने अपने खास डिजिटल ट्विन और मशीन लर्निंग मॉडल का इस्तेमाल करके इन-हाउस आईपी डिवेलप किए हैं.

इसके जरिए ओईएम और फ्लीट ऑपरेटर्स को प्रीडिक्टिव हेल्थ मॉनिटरिंग सूलशन ऑफर किए जा रहे हैं. अब हम दुनिया भर में पूरे कमर्शियल वीकल सेगमेंट में अपनी मौजूदगी बढ़ाने पर काम कर रहे हैं.

आने वाे सालों में हम अपने कॉग्निटिव एआई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके इलेक्ट्रिक वीकल सेगमेंट को बहुत से तेजी से ग्रो कराना चाह रहे हैं. डायरेक्ट मार्केट में इंडिया में जबरदस्त ग्रोथ देखने को मिली है और हम इस समय कई बड़े कमर्शियल वीकल OEM को जोड़ने पर काम कर रहे हैं.”

पाटिल ने आगे कहा, “हमारा लक्ष्य दुनिया भर में हर सेगमेंट में डिजिटल ट्विन ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर बनने का है. हम डिजिटल ट्विन टेक्नोलॉजी को सभी सेगमेंट में लाना चाहते हैं ताकि सभी लोगों तक इसका एक्सेस हो और सभी को इसका फायदा हो. हम ऑपरेटर्स मॉनिटर, बेंचमार्क और मौजूदा असेट्स का मेंटनेंस चेक करके, अडरपरफॉर्मिंग असेट्स की पहचान करके ओवरऑल ऑपरेशनल प्रॉफिट बढ़ाने पर काम करेंगे.''

वहीं इस फंडिंग राउंड को लेकर बैरिंग इंडिया के मैनेजिंग पार्टनर राहुल भसीन ने कहा, Intangles डिजिटल ट्विन टेक्नोलॉजी में लीडर है और यह ऑटोमोटिव के साथ ही इंडस्ट्रियल एप्लिकेशंस को बढ़ाने में मदद कर रही है.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, प्रीडिक्टिव एनालिटिक्स, एज कम्प्यूटिंग और कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजीज में डीप कॉम्पिटेंसी को इंटीग्रेट करने से एक खास तरह के प्रोडक्ट डिवेलप करना मुमकिन हो सका है.

भारतीय बाजारों में तगड़ी डिमांड मिलने के बाद अब कंपनी पश्चिमी देशों में बिजनेस को एक्सपैंड करनी की प्लानिंग है. हम Intangles के साथ पार्टनरशिप करके बेहद खुश हैं.”


Edited by Upasana