Rajasthan Startup Connect: स्टार्टअप्स को जुड़ने, आगे बढ़ने और कारोबार बढ़ाने के टिप्स मिले

YourStory के सहयोग से iStart द्वारा आयोजित, राजस्थान स्टार्टअप कनेक्ट: नेटवर्किंग फॉर ग्रोथ इवेंट 10 नवंबर, 2023 को जयपुर, राजस्थान के भामाशाह टेक्नो हब में आयोजित हुई.

Rajasthan Startup Connect: स्टार्टअप्स को जुड़ने, आगे बढ़ने और कारोबार बढ़ाने के टिप्स मिले

Tuesday January 16, 2024,

4 min Read

राजस्थान स्टार्टअप कनेक्ट: नेटवर्किंग फॉर ग्रोथ इवेंट, iStart Rajasthan और YourStory की एक सहयोगी पहल, एक ऐसा कार्यक्रम है जो उद्यमशीलता की भावना को प्रज्वलित करने, इनोवेशन को बढ़ावा देने और कनेक्शन बनाने का वादा करता है जो स्टार्टअप को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा.

iStart, राजस्थान सरकार के आईटी और संचार विभाग की एक पहल, राज्य में नवाचार, रोजगार सृजन और उद्यमिता को बढ़ावा देने में सबसे आगे है. नए उद्यमों को फंडिंग देकर और आगे बढ़ाकर, iStart क्षेत्र में आर्थिक विकास और समृद्धि को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है.

इस पहल के हिस्से के रूप में, iStart राजस्थान स्टार्टअप कनेक्ट: नेटवर्किंग फॉर ग्रोथ इवेंट का आयोजन किया गया. इस इवेंट में प्रतिष्ठित वक्ताओं (स्पीकर) द्वारा तीन सेशन आयोजित हुए और इसका लक्ष्य उद्यमियों को सशक्त बनाना और विचारों को संपन्न व्यवसायों में बदलना है.

सेशन 1: ऑन्त्रप्रेन्योरियल नेक्सस - चुनौतियों पर काबू पाना और आगे बढ़ना

वक्ता: अनिल गोयल, CapSavvy Consultants के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर

अनिल गोयल तीन दशकों से अधिक के अनुभव के साथ एक अनुभवी ऑन्त्रप्रेन्योर और फाइनेंस पेशेवर हैं. वे CapSavvy Consultants Pvt Ltd के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. CapSavvy मुंबई स्थित पुरस्कार विजेता निवेश बैंकिंग फर्म है, जो इक्विटी और डेट फंडरेज़, CXO सेवाओं, CRM प्लेटफॉर्म और व्यावसायिक रणनीतियों में विशेषज्ञता रखती है.

गोयल एक चार्टर्ड अकाउंटेंट और IIM-बैंगलोर से प्रमाणित व्यवसाय रणनीतिकार हैं. उन्होंने Cap70 Angel Platform की सह-स्थापना की, जो शुरुआती चरण के व्यवसायों को समर्थन देने के लिए समर्पित है. उन्होंने भारत में अग्रणी एडटेक सेवा प्रदाता Mexus Education के निदेशक और सीईओ के रूप में भी काम किया.

गोयल का अनुभव और उपलब्धियाँ उन्हें "ऑन्त्रप्रेन्योरियल नेक्सस - ओवरकमिंग चैलेंजेस एंड स्केलिंग अप" सेशन के लिए खास बनाती हैं. उनकी वित्तीय विशेषज्ञता और उद्यमशीलता अंतर्दृष्टि ने उद्यमिता की चुनौतियों से निपटने और स्केलेबल ग्रोथ का लक्ष्य रखने वालों का मार्गदर्शन किया.

सत्र 2: नेटवर्किंग की शक्ति - उद्यम पूंजीपतियों के साथ जुड़ना

वक्ता: सिबा पांडा, फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर, ValuAble

दूसरे सेशन में वेंचर डेट, फंड मैनेजमेंट और रणनीतिक योजना की दुनिया में दो दशकों से अधिक के अनुभव वाले अनुभवी पेशेवर सिबा पांडा ने शिरकत की. पांडा की यात्रा ऑन्त्रप्रेन्योर और वेंचर कैपिटलिस्ट्स के बीच सेतु बनाने का काम करती है.

कॉमर्स और लॉ में दोहरी डिग्री के साथ एक योग्य चार्टर्ड अकाउंटेंट और कंपनी सेक्रेटरी के रूप में, पांडा के पास शानदार अनुभव और विशेषज्ञता है. वे Stride Ventures के पूर्व सीएफओ और फाउंडिंग मेंबर रहे हैं. उनकी यात्रा विशिष्ट वेंचर डेट फंडों के निर्माण, अद्वितीय निवेश और सफल निकास द्वारा चिह्नित है. तकनीक-आधारित व्यवसायों, विशेष रूप से फिनटेक, उपभोक्ता, एग्रीटेक और एड-टेक क्षेत्रों में उनकी गहरी डोमेन विशेषज्ञता, उन्हें उद्योग में एक सच्चा प्रकाशक बनाती है.

वे वेंचर कैपिटल ट्रांजेक्शन सेक्टर को आकार देने में मदद करते हुए नियामक मामलों में सक्रिय रूप से संलग्न है. उनका लेटेस्ट वेंचर, ValuAble, भारत का पहला उद्देश्य-आधारित वेंचर डेट फंड है, जिसे मूल्य बनाने और शानदार परिणाम देने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

सत्र 3: कानूनी परिदृश्य को नेविगेट करना - स्टार्टअप के लिए तेज यात्रा

वक्ता: रजनीश सिंघवी, Aspire Consulting FZE LLC के को-फाउंडर

Aspire Consulting FZE LLC के को-फाउंडर रजनीश सिंघवी अकाउंटेंसी बैकग्राउंड से आते हैं और अनुभवी पेशेवर हैं. वह जटिल प्रबंधन मुद्दों को सुलझाने में माहिर हैं और अंतरराष्ट्रीय कराधान और सीमा पार सलाह में विशेषज्ञ हैं. अपनी पेशेवर उपलब्धियों के अलावा, सिंघवी सामाजिक संगठनों में भी सक्रिय रूप से योगदान देते हैं और उन्होंने व्यवसाय और पेशेवर मंचों पर विभिन्न नेतृत्वकारी भूमिकाएँ निभाई हैं. एक वक्ता और मीडिया टिप्पणीकार के रूप में उनके व्यापक अनुभव के साथ उनकी विशेषज्ञता ने इस इवेंट में एक गतिशील आयाम जोड़ा है.

राजस्थान स्टार्टअप कनेक्ट: नेटवर्किंग फॉर ग्रोथ इवेंट केवल वक्ताओं के बारे में नहीं थी; यह कहानियों, कनेक्शनों और उद्यमशीलता की दुनिया की असीमित संभावनाओं से भरपूर रही.

(Translated by: रविकांत पारीक)