यूट्यूब से एनिमेशन सीखा, अब उसी आर्ट से कंटेंट क्रिएट कर लाखों की कमाई कर रही हैं क्रिस्टीना

By Upasana
December 29, 2022, Updated on : Thu Dec 29 2022 11:45:35 GMT+0000
यूट्यूब से एनिमेशन सीखा, अब उसी आर्ट से कंटेंट क्रिएट कर लाखों की कमाई कर रही हैं क्रिस्टीना
इस समय क्रिस्टीना potatoface नाम से इंस्टाग्राम पर अपना पेज चलाती हैं जिसके 750,000 फॉलोअर्स हैं. क्रिस्टीना फर्टाडो अपने इलस्ट्रेशन, डूडलिंग से फॉलोअर्स को क्वॉलिटी डिजिटल एक्सपीरियंस दे रही हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सोशल मीडिया पर क्रिएटर्स अपने पैशन, टैलंट के जरिए लाखों लोगों की इंस्पिरेशन बन रहे हैं. ऐसी ही एक क्रिएटर हैं क्रिस्टीना फर्टाडो, जो इंस्टाग्राम पर अपने इलस्ट्रेशन से फॉलोअर्स को क्वॉलिटी डिजिटल एक्सपीरियंस दे रही हैं. हमने उनसे बात की और जानने की कोशिश की आखिर उन्होंने कैसे कंटेंट क्रिएटर बनने का सफर शुरू किया.


क्रिस्टीना फर्टाडो ने मैकेनिकल इंजीनियर से ग्रेजुएशन किया है और सप्लाई चेन मैनेजमेंट में मास्टर्स की डिग्री हासिल की हुई है. क्रिस्टीना ने एक कॉरपोरेट एंप्लॉयी की तरह अपने करियर की शुरुआत की लेकिन लॉकडाउन में उनकी नौकरी चली गई.


तब उनके पास कोई काम नहीं था. वो बताती हैं, एक दिन मैं YouTube कुछ ब्राउज कर रही थी और उस दिन मुझे कई शानदार एनिमेटर्स के बारे में पता चला. वो लोग अपनी व्यक्तिगत जीवन की कहानियों को YouTube पर पांच, छह-मिनट के छोटे वीडियो में शेयर करते थे. उनके वीडियोज ने मुझे काफी प्रभावित किया.


मैं उसी वक्त समझ गई कि ये काम तो मैं भी सीखना चाहती हूं, करना चाहती हूं. तभी मैंने एनिमेशन सीखने का फैसला किया और वास्तव में ये फैसला ही उनके लिए टर्निंग पॉइंट साबित हुआ.


क्रिस्टीना ने यूट्यूब से ही एनिमेशन सीखा और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट करने लगीं. वहां जिस तरह का रेस्पॉन्स क्रिस्टीना को मिला उससे उनका कॉन्फिडेंस बिल्कुल दोगुना हो गया.


मैंने सीखने के लिए आर्ट ही क्यों चुना इसका जवाब मेरे बचपन में छिपा है. मैं हमेशा से एक आर्ट स्टूडेंट थी. मम्मी-पापा और अपने टीचर्स के लिए टीचर्स डे और उनके जन्मदिन पर ग्रीटिंग कार्ड बनाकर देती थी. दोस्तों के लिए भी मैं तरह-तरह की आर्टिस्टिक चीजें बनाती रहती थी. इस तरह मैंने अपने बचपन के पैशन को समय देना शुरू किया.


इस समय क्रिस्टीना potatoface नाम से इंस्टाग्राम पर अपना पेज चलाती हैं जिसके 750,000 फॉलोअर्स हैं. वो बताती हैं कि मैंने कभी भी कंटेंट क्रिएटर बनने का सपना नहीं देखा था. मैं तो बस अपनी पर्सनल कहानियां, अनुभव और मेमोरीज को एनिमेशन के रूप में ऑनलाइन अपलोड करना चाहती थी.


मुझे तो अंदाजा भी नहीं था कि सोशल मीडिया से भी एक स्टेबल इनकम बना सकते हैं. जब मैंने शुरुआत की तो कुछ समय बाद नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम और कुछ अन्य बड़े ब्रैंड मुझसे कॉन्टैक्ट करने लगे.


मुझे असल में आर्ट बनाने का शौक है, चाहे वह एनीमेशन हो या ड्राइंग. जब मैं देखती हूं कि लोग मेरे काम से खुद को रिलेट कर पा रहे हैं और उन्हें मेरा काम पसंद आ रहा है तो ये देखकर मुझे खुशी मिलती है. 


कंटेंट क्रिएशन से पहले भी मैं एक कंपनी में प्लानर और एक दूसरी कंपनी सेल्स रेप्रेजेंटेटिव की तरह काम कर रही थी. दोनों ही जगहों पर शुरुआत के दिनों में काम करने में तो काफी मजा आया लेकिन कुछ समय के बाद मुझे ये काम बिल्कुल बोरिंग लगने लगते थे.


लेकिन कंटेंट क्रिएशन में मुझे कभी बोरियत नहीं होती. अगर सही मायने में देखूं तो आज मैं अपना पैशन भी फॉलो कर पा रही हूं और उससे पैसे भी कमा रही हूं, दोनों ही चीजें एक साथ मिलना अपने आप में खुशी देने वाली चीज है.


आगे की बात करूं तो मुझे इतना भरोसा है कि मैं ये काम एक लंबे समय कर सकती हूं. हालांकि आप कभी नहीं जानते कि फ्यूचर मैं कौन सा नया ट्रेंड आएगा. कौन से नए कंटेंट क्रिएटर्स उभर आएंगे. लेकिन ये फील्ड इसी तरह काम करती है.


इसमें सर्वाइव करने का एक ही तरीका है. खुद को समय के साथ अपडेट करना होगा. मैं हर कदम पर खुद को अपग्रेड करने और हर साल खुद को बेहतर बनाने की कोशिश करने के लिए तैयार हूं. 


जो लोग भी कंटेंट क्रिएटर बनने की चाह रख रहे हैं, कुछ नया सीखने के लिए अपने कंफर्ट जोन से बाहर आना चाह रहे हैं मैं उनकी तारीफ करना चाहती हूं. क्योंकि यही वो एक फैसला है जो आपकी जिंदगी को पूरी तरह बदल सकता है, आपके लिए ढेरों मौके खोल सकता है.


मैं जब शुरू करने की सोच रही थी तब मेरे अंदर इसी हिम्मत की कमी थी. जो मैं कर रही थी उसे छोड़कर कुछ नया शुरू करने की मेरे अंदर हिम्मत नहीं थी. लेकिन, जैसे ही मैंने वो कदम दिया उसके बाद मेरा करियर गेम ही पूरी तरह बदल गया.


तो कुल मिलाकर मेरी यही राय होगी कि सबसे पहले अपने कंफर्ट जोन को छोड़कर कुछ नया शुरू करने की हिम्मत लाएं. सबसे मुश्किल काम यही होता है. उसके बाद तो रास्ता बनता ही जाता है.

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close