दुनिया के टॉप सॉफ्टवेयर कंपनियों की सीईओ में शुमार है भारतीय मूल की ये महिला

By yourstory हिन्दी
February 01, 2020, Updated on : Sat Feb 01 2020 07:31:31 GMT+0000
दुनिया के टॉप सॉफ्टवेयर कंपनियों की सीईओ में शुमार है भारतीय मूल की ये महिला
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टेक्नोलॉजी में, विशेष रूप से सीनियर लीडरशिप की पोजीशन पर महिलाओं का होना अभी भी एक बड़ी बात है। यही कारण है कि सेजल चोकसी पिएट्र्जक (Sejal Chokshi Pietrzak) जैसी महिलाओं की सफलताओं का जश्न मनाया जाना चाहिए, जो दुनिया की टॉप SaaS CEOs में शुमार हैं। सेजल ऑटोमोटिव सेगमेंट पर केंद्रित अमेरिका की सास कंपनी, डीलरसॉकेट (DealerSocket) की ग्लोबल प्रेजिडेंट और सीईओ हैं।


k

सेजल चोकसी पिएट्र्जक, डीलरसॉकेट की ग्लोबल प्रेजिडेंट और सीईओ  



वह सॉफ्टवेयर रिपोर्ट द्वारा घोषित टॉप 50 SaaS CEOs की सूची में सातवें स्थान पर रहीं। उन्होंने एक ऐसी लिस्ट में जगह बनाई है जिसमें बहुत कम महिलाएं जगह बना पाती हैं। ढाई साल पहले कंपनी की सीईओ के रूप में नियुक्त, सेजल आत्मविश्वास, दृढ़ता और कड़ी मेहनत को अपनी उपलब्धि का श्रेय देती हैं। वह विविधता और समावेश के लिए काफी मुखर रहती हैं, खासकर जब बात कॉर्पोरेट जगत की आती है तब।


अप्रवासी भारतीय माता-पिता की बेटी सेजल की परवरिश मिशिगन और न्यू जर्सी में हुई थी। उन्होंने विलियम एंड मैरी यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल स्टडी में डिग्री हासिल की और व्हार्टन स्कूल ऑफ बिजनेस से एमबीए किया। अपने व्यापक करियर में, उन्होंने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल, यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स और एक्टिव नेटवर्क के एक हिस्से के अलावा बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप और वेल्स फारगो जैसे प्रमुख ग्लोबल कारपोरेशन के साथ काम किया है।


टेक्नोलॉजी में कोई औपचारिक डिग्री या एजुकेशन नहीं होने के बावजूद, सेजल हमेशा इस बात से मोहित रहती थीं कि लाइफ को आसान बनाने के लिए कैसे इसका लाभ उठाया जा सकता है।


सफल होने के टिप्स

अपने शानदार करियर पर बातचीत में उन्होंने महिलाओं को सफलता के टिप्स दिए। टेक्नोलजी में छाप छोड़ने के लिए उत्सुक महिलाओं के लिए बतौर रोल मॉडल के रूप में, सेजल कहती हैं,

“आत्मविश्वास रखो, अपनी क्षमताओं पर विश्वास करो और बहुत मेहनत करो। यह निश्चित रूप से आपको सफल बनाएगा।”


वह इस बात पर भी जोर देती हैं कि महिलाओं के लिए यह भी जरूरी है कि वे दृढ़ता के साथ निरंतर लगी रहें। वे कहती हैं,

“यदि आप किसी भूमिका में रुचि रखते हैं तो इसके लिए आगे बढ़ें। छलांग लगाने के लिए आत्मविश्वास का होना जरूरी है क्योंकि बहुत सारे बेहतरीन अवसर मौजूद हैं।”


और सेजल इस दर्शन को पूरी तरह से प्रस्तुत करती हैं।


उन्होंने अपने करियर में कंसल्टिंग, बिल्डिंग ऑर्नाइजेशन्स और नेटवर्क बनाने सहित विभिन्न भूमिकाओं को निभाया है। उदाहरण के लिए, यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने भारत में निवेश के अवसरों को देखते हुए अमेरिका से कई व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।


विविधता की समर्थक

कॉर्पोरेट अमेरिका में हैंड्स-ऑन एक्सपीरियंस के साथ एक महिला नेता के रूप में, सेजल विविधता और समावेशिता की एक मजबूत समर्थक भी हैं। वे कहती हैं,

“कंपनियों के लिए विविधता और समावेशिता के बारे में सोचना महत्वपूर्ण है। जब अलग-अलग विचार एक साथ आते हैं तो समृद्ध कर्मचारी अनुभव और बेहतर तकनीक होती है। मैं महिलाओं को उस विविध प्रकार के अनुभव को लाने के लिए प्रोत्साहित करती हूँ और साथ ही साथ इसको लेकर काफी बोलती भी हूँ।”


अपनी बातों को अमल में लाने के लिए, सेजल लिंग विविधता में सुधार के लिए डीलरसॉकेट में एक विशिष्ट कार्यक्रम के शुभारंभ करेंगी। वे कहती हैं,

“इस साल हम डीलरसॉकेट वैश्विक कार्यक्रम में महिलाओं को लॉन्च कर रहे हैं। यह महिलाओं के लिए अन्य महिला लीडर द्वारा मेंटॉर किए जाने और जुड़ने का एक अवसर होगा।”


यह उन्हें इंटरैक्शन करने की सुविधा भी प्रदान करेगा जहां महिलाएं टेक्नोलॉजी और गैर-टेक्नोलॉजी दोनों दृष्टिकोणों से व्यवसाय के विभिन्न पहलुओं को सीख सकती हैं। सेजल कहती हैं,

ये ऐसी चीजें हैं, जिन्हें कंपनियों को करने की जरूरत है और हम ज्यादा से ज्यादा समावेशी होना चाहते हैं।


सेजल ने एक्टिव नेटवर्क में मुख्य प्रशासनिक अधिकारी के रूप में भी इसी तरह का कार्यक्रम शुरू किया। यहां उन्होंने डीलरसॉकेट ज्वाइन करने से पहले काम किया था। कॉर्पोरेट अमेरिका में लैंगिक समावेशिता और विविधता के बारे में पूछे जाने पर, सेजल कहती हैं, “चीजें हर दिन बेहतर हो रही हैं।”


वह उन महिलाओं के लिए भी सलाह देती हैं, जो अपने करियर में बाधाओं का सामना करते समय अक्सर मोहभंग हो जाती हैं।

“जब तक आपको सीखते रहना है तब भी अपने आप पर विश्वास रखें। यदि आप बाधाओं का सामना करते हैं, तो अपने आप को पुश करें और पूरी तरह से आगे बढ़ते रहें।”


भारत की योजना

डीलरसॉकेट के प्रमुख के रूप में, सेजल ने कंपनी के विस्तार की योजना भी बनाई है जिसमें बेंगलुरु में सेंटर ऑफ एक्सिलेंस (CoE) स्थापित करना भी शामिल है। सीओई के पास वर्तमान में लगभग 35 टेक्नोलॉजिस्ट हैं और अगले साल तक इन्हें 200 तक करने की योजना है। डीलरसॉकेट एक 19 वर्षीय कंपनी है जिसमें 1,000 से अधिक कर्मचारी हैं और ऑटोमोबाइल डीलरशिप पर प्राथमिक ध्यान देने के साथ सॉफ्टवेयर समाधान का एक पूरा सूट प्रदान करती है।


जैसा कि सीईओ कहती हैं,

अमेरिका में बेची जाने वाली हर तीन कारों में डीलरसॉकेट सॉफ्टवेयर का स्पर्श होता है।" सेजल भारत में टैलेंट पूल के बारे में भी स्पष्ट रूप से उत्साहित हैं। वे कहती हैं, "यहां के टैलेंट में इनोवेशन के बारे में शिक्षा, जिज्ञासा और उत्साह है।


इंडिया सेंटर अपने अमेरिकी मुख्यालय के साथ निकट समन्वय में डीलरसॉकेट के प्रमुख प्रौद्योगिकी क्षेत्रों पर काम करेगा। यह एक प्रकार से सेजल के लिए घर वापसी जैसा है क्योंकि यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल में उनकी पहले की भूमिका में, वह नियमित रूप से अमेरिका के विभिन्न व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ भारत का दौरा करती थीं।


लीडरशिप उनकी विशेष क्षमता है जैसा कि वे डीलरसॉकेट को विस्तार और विकास की दिशा में ले जा रही है। वे अंत में कहती हैं, “लीडरशिप का मतलब सुनना, इंटेग्रिटी, कम्युनिकेटिव होना और ट्रांसपैरेंट होना है।”