इन जगहों पर निवेश करने से और भी रौशन होगी आपकी दीपावली

By yourstory हिन्दी
October 21, 2022, Updated on : Fri Oct 21 2022 11:50:39 GMT+0000
इन जगहों पर निवेश करने से और भी रौशन होगी आपकी दीपावली
धनतेरस पर सोने-चांदी की खरीद के अलावा इस दीवाली अपने पैसों का करें सही जगह पर निवेश और पाएं बेहतर रिटर्न.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

दीपावली रौशनी और खुशियों का त्‍योहार है. यह अनायास नहीं कि इस त्‍योहार पर धन की देवी लक्ष्‍मी की पूजा की जाती है. मान्‍यता है कि इस दिन धन की देवी स्‍वयं आती हैं. धनतेरस के दिन सोने-चांदी खरीदने की परंपरा है. इस त्‍योहार का सीधा संबंध वैभव, संपदा और समृद्धि से है.


इस दीपावली आप भी अपने पैसों को सुरक्षित और ज्‍यादा बेहतर रिटर्न देने वाली जगहों पर निवेश करके अपने त्‍योहार को और भी रौशन कर सकते हैं. आइए हम आपको बताते हैं निवेश के कुछ सुरक्षित और आसान विकल्‍प, जहां रिटर्न भी अच्‍छा मिलता है और रिस्‍क भी कम होता है.

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS)

नेशनल पेंशन सिस्टम (nps) नौकरीपेशा लोगों के लिए इंवेस्‍टमेंट और टैक्‍स बचाने का अच्‍छा विकल्‍प है. इसमें आप हर साल कम से कम 50 हजार रुपए निवेश कर सकते हैं. सबसे सुरक्षित विकल्‍प होने और रिटायरमेंट पर टैक्‍स सेविंग के साथ-साथ बेहतर रिटर्न देने के कारण यह निवेशकों की पहली पसंद है. इस समय NPS पर एक, तीन या पांच साल का रिटर्न 9.5, 8.5 और 11 फीसदी है.  

पीपीएफ (PPF)

पीपीएफ भी नौकरीपेशा लोगों के लिए न सिर्फ निवेश का बेहतर विकल्‍प है, बल्कि उनके बीच सबसे ज्‍यादा लोकप्रिय भी है. भारत सरकार के आयकर कानून के सेक्शन 80C के तहत पीपीएफ में निवेश करने पर इनकम टैक्‍स में छूट मिलती है. पीपीएफ के तहत साल में अधिकतम डेढ़ लाख रुपए जमा किया जा सकते हैं.    

इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity Mutual Funds)

इक्विटी म्यूचुअल फंड भी एक तरह का म्यूचुअल फंड ही है. यह म्यूचुअल फंड की वह श्रेणी है, जहां निवेशक का पैसा शेयर मार्केट में इंवेस्‍ट किया जाता है. सेबी के नियमों के मुताबिक जिस भी म्यूचुअल फंड स्कीम का 65% हिस्‍सा शेयरों में इंवेस्‍ट होता है, उसे इक्विटी म्यूचुअल फंड कहा जाता है. इक्विटी म्यूचुअल फंड में थोड़ा रिस्‍क तो होता है, लेकिन रिटर्न बहुत अच्‍छा मिलता है. शेयर मार्केट की समझ रखने वाले स्‍मार्ट मैनेजर आपके पैसे को इंवेस्‍ट करने का काम करते हैं. आप यूं समझ लें कि इक्विटी म्यूचुअल फंड

में इंवेस्‍ट करने पर आपको 15 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है.

डेट म्यूचुअल फंड (Date mutual funds)

डेट म्यूचुअल फंड उन लोगों के लिए होता है, जो रिस्‍क नहीं लेना चाहते और  गारंटेड रिटर्न पाना चाहते हैं. म्यूचुअल फंड की इस श्रेणी में बैंक सरकारी सिक्योरिटीज, ट्रेजरी बिल्स, कॉरपोरेट बांड्स और कमर्शियल पेपर आदि में  इंवेस्‍ट करते हैं. यहां आपको 6-7 फीसदी तक रिटर्न मिलता है, लेकिन वो रिटर्न गारंटेड होता है.  

बैंक FD या फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट

फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट निवेश का सबसे सुरक्षित विकल्‍प है. आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में FD करा सकते हैं. FD के जरिए टैक्‍स में भी बचत की जा सकती है, लेकिन इसके लिए आपको पांच साल की अवधि वाली टैक्‍स सेविंग एफडी करवानी होगी. इनकम टैक्‍स कानून के सेक्शन 80C के तहत पांच साल की टैक्‍स सेविंग FD पर आयकर में छूट भी मिलती है. यह सबसे सुरक्षित और गारंटेड रिटर्न वाला इंवेस्‍टमेंट है. हालांकि FD पर जो ब्‍याज मिलता है, उस पर इनकम टैक्स देना पड़ता है.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS)

पोस्ट ऑफिस की यह स्‍कीम सीनियर सिटिजन्‍स यानी बुजुर्गों के लिए है. रिटायरमेंट के बाद लोग इस स्‍कीम में निवेश करना पसंद करते हैं. सेवानिवृत्‍त होने पर यह एक सतत आय का जरिया भी बना रहता है. इस योजना में एक व्‍यक्ति के नाम से अधिकतम 15 लाख रुपए ही जमा किए जा सकते हैं और 60 वर्ष की आयु के बाद ही आप यह स्‍कीम ले सकते हैं.  


Edited by Manisha Pandey