NDTV की प्रमोटर कंपनी ने अडानी ग्रुप के VCPL को ट्रांसफर किए 99.5% शेयर

By yourstory हिन्दी
November 29, 2022, Updated on : Tue Nov 29 2022 06:21:32 GMT+0000
NDTV की प्रमोटर कंपनी ने अडानी ग्रुप के VCPL को ट्रांसफर किए 99.5% शेयर
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मीडिया फर्म नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (NDTV) की प्रमोटर कंपनी आरआरपीआर (RRPR) होल्डिंग ने सोमवार को कहा कि उसने अपनी इक्विटी पूंजी के 99.5 प्रतिशत शेयरों को अडानी समूह के स्वामित्व वाली विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (VCPL) को ट्रांसफर कर दिया है.


शेयरों के हस्तांतरण से अडानी समूह को NDTV में 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी का नियंत्रण मिल जाएगा. इसके साथ ही पोर्ट-टू-पावर समूह मीडिया फर्म में 26 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए भी एक खुली पेशकश कर रहा है. बीएसई के आंकड़ों के अनुसार 22 नवंबर को शुरू हुई खुली पेशकश में अब तक 53 लाख शेयर या 31.78 फीसदी शेयरों की पेशकश की जा चुकी है.


अडानी समूह की फर्म की ओर से पेशकश का प्रबंधन करने वाली फर्म जेएम फाइनेंशियल (JM Financial) ने एक नोटिस में कहा कि यह पेशकश पांच दिसंबर को बंद होगी.


भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड (सेबी) ने सात नवंबर को प्रस्तावित 492.81 करोड़ रुपये की खुली पेशकश को मंजूरी दी थी. खुली पेशकश के तहत 294 रुपये प्रति शेयर की कीमत पर 1.67 करोड़ शेयरों की पेशकश की जा रही है.


गौतम अडानी की अगुवाई वाले अडानी समूह ने गत अगस्त में विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (वीसीपीएल) का अधिग्रहण करने की घोषणा की थी. वीसीपीएल ने एनडीटीवी के संस्थापकों को एक दशक पहले 400 करोड़ रुपये से अधिक राशि कर्ज के तौर पर दी थी. इस कर्ज के एवज में ऋणदाता को किसी भी समय एनडीटीवी में 29.18 प्रतिशत हिस्सेदारी लेने का प्रावधान रखा गया था.


अडानी समूह के हाथों अधिग्रहण के बाद वीसीपीएल ने 17 अक्टूबर को ऐलान किया था कि वह एनडीटीवी के अल्पांश शेयरधारकों से अतिरिक्त 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए खुली पेशकश लाएगी. वीसीपीएल के साथ एएमजी मीडिया नेटवर्क्स और अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड यह 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदेंगे.


गौतम अडानी ने एनडीटीवी (NDTV) के अगले चेयरमैन को लेकर भी बयान दिया है जिसमें अडानी ने एनडीटीवी खरीद को ‘व्‍यावसाय‍िक अवसर’ (Business Opportunity) से ज्‍यादा ‘दाय‍ित्‍व’ (Responsibility) बताया है. फाइनेंसियल टाइम्स (Financial Times) को डाई गए एक इंटरव्‍यू में कहा कि नई दिल्ली टेलीविजन लिमिटेड (एनडीटीवी) को खरीदना व्यवसाय से अधिक जिम्मेदारी है. अडानी ने यह भी कहा कि प्रणय रॉय (Prannoy Roy) इसके चेयरमैन बने रहें, उन्हें कोई दिक्कत नहीं है.


गौतम अडानी ने कहा, “स्वतंत्रता का मतलब है कि अगर सरकार ने कुछ गलत किया है, तो आप उसे गलत कहें. साथ ही आपको साहस होना चाहिए क‍ि जब सरकार हर दिन सही काम कर रही हो, तो यह भी दिखाएं.” उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि उनकी ओर से एनडीटीवी के मालिक और संस्थापक प्रणय रॉय को अधिग्रहण पूरा होने के बाद भी प्रमुख बने रहने का ऑफर है.


Edited by Prerna Bhardwaj