पहली बार 'ऑल फीमेल क्रू' ऑक्सीजन एक्सप्रेस लेकर पहुँचा बेंगलुरु, रेल मंत्री ने की तारीफ

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने महिला लोको पायलट द्वारा ट्रेन चालने का वीडियो भी शेयर किया। दक्षिण पश्चिम रेलवे के अनुसार, लोको पायलट सिरीशा गजिनी और सहायक लोको पायलट अपर्णा आर पी ने जोलारपेट्टई से बेंगलुरु के लिए ट्रेन चलाई।

हाल ही में पूरी तरह से महिला चालक दल द्वारा संचालित ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन जमशेदपुर से 120 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन लेकर बेंगलुरु पहुंची है।


रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को ट्वीट किया, ‘कर्नाटक के लिए सातवीं ऑक्सीजन एक्सप्रेस शुक्रवार को टाटानगर (जमशेदपुर) से बेंगलुरु पहुंची है। केवल महिलाओं पर आधारित चालक दल द्वारा संचालित यह ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन राज्य में कोविड-19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करेगी।‘


उन्होंने ट्वीट के साथ महिला लोको पायलट द्वारा ट्रेन चालने का वीडियो भी शेयर किया। दक्षिण पश्चिम रेलवे के अनुसार, लोको पायलट सिरीशा गजिनी और सहायक लोको पायलट अपर्णा आर पी ने जोलारपेट्टई से बेंगलुरु के लिए ट्रेन चलाई।

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक 8वीं ऑक्सीजन एक्सप्रेस भी आज सुबह 109.2 मीट्रिक टन जीवन रक्षक गैस लेकर गुजरात के जामनगर से बेंगलुरु पहुंची। राज्य सरकार ने राज्य में बढ़ते कोविड मामलों को देखते हुए प्रतिदिन 1,200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग की है।


आपको बता दें कि दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर से अब तक सभी आक्सीजन ट्रेन का संचालन टाटानगर, राउरकेला व वेस्ट बोकारो से किया गया है। अब तक इन स्टेशनों से उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर, बरेली, मध्य प्रदेश के सागर, भोपाल, हरियाणा के फरीदाबाद, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तराखंड के देहरादून, कर्नाटक के बेंगलुरू सहित पंजाब के लुधियाना, आंध्र प्रदेश, केरल सहित केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली में लिक्विड मेडिकल आक्सीजन की सप्लाई की गई है।