इस खास वजह से लॉकडाउन के बीच पुलिस अधिकारी ने किया डॉक्टर का कन्यादान

इस खास वजह से लॉकडाउन के बीच पुलिस अधिकारी ने किया डॉक्टर का कन्यादान

Monday May 04, 2020,

2 min Read

यह शादी दो मई को देहरादून में होनी थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते सभी तैयारियों में पानी फिर गया।

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



पुणे, महाराष्ट्र के पुणे जिले में एक पुलिस अधिकारी और उनकी पत्नी ने लॉकडाउन के बीच शनिवार को एक डॉक्टर के माता-पिता बनकर उसका कन्यादान किया।


दरअसल मार्केटिंग प्रोफेशनल आदित्य बिष्ट और डॉक्टर नेहा कुशवाहा की दो मई को उत्तराखंड के देहरादून में शादी होनी थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते उनकी इस योजना पर पानी फिर गया।


एक अधिकारी ने बताया कि बिष्ट और कुशवाहा के परिजनों ने पुणे में हुई शादी में वीडियो कॉल के जरिये नागपुर और देहरादून से शिरकत की।


सहायक पुलिस निरीक्षक प्रसाद लोनारे ने बताया,

'पिछले महीने आदित्य के पिता देवेन्द्र बिष्ट ने यह पूछने के लिये पुणे पुलिस नियंत्रण कक्ष को फोन किया कि क्या आदित्य और नेहा लॉकडाउन के दौरान देहरादून जा सकते हैं। उन्हें मेरा नंबर दिया गया क्योंकि मैं हदपसार पुलिस थाने का नोडल अधिकारी हूं।'

लोनारे ने कहा,

'जब हमने उन्हें बताया कि लॉकडाउन के दौरान आवाजाही संभव नहीं है तो देवेन्द्र बिष्ट ने हमसे पूछा कि क्या वह यहां शादी कराने में मदद कर सकते हैं। मैंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों से बात की तो उन्हें इसकी अनुमति दे दी।'

उन्होंने कहा,

'हमने यहां एक शादी घर में सभी इंतजाम कराने में मदद की और अपने एक साथी मनोज पाटिल और उनकी पत्नी को दुल्हन की ओर से रस्में पूरी करने लिये कहा। इस दौरान दूल्हा-दुल्हन के परिजनों ने नागपुर और देहरादून से वीडियो कॉल के जरिये शादी में शिरकत की।'

दुल्हे आदित्य बिष्ट के पिता सेना के सेवानिवृत कर्नल जबकि दुल्हन नेहा कुशवाहा के पिता सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर हैं और फिलहाल नागपुर के एम्स में कोविड-19 ड्यूटी पर तैनात हैं।


आदित्य ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया,

'फरवरी में हमारी सगाई हुई थी और दो मई को देहरादून में शादी होनी थी, लेकिन लॉकडाउन ने सारी योजना पर पानी फेर दिया। हालांकि एपीआई लोनारे और उनकी टीम ने जो मदद की, वह अकल्पनीय है। हम हमेशा उनके आभारी रहेंगे।'