रिलायंस जियो IIT-बॉम्बे के साथ मिलकर 'Bharat GPT' पर काम कर रही है: आकाश अंबानी

IIT-बॉम्बे के वार्षिक टेकफेस्ट में बोलते हुए, 32 वर्षीय अंबानी ने कहा कि "डेवलपमेंट का इकोसिस्टम" बनाना कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, और कहा कि "Jio 2.0" के दृष्टिकोण पर काम पहले से ही जारी है.

रिलायंस जियो IIT-बॉम्बे के साथ मिलकर 'Bharat GPT' पर काम कर रही है: आकाश अंबानी

Thursday December 28, 2023,

3 min Read

रिलायंस जियो इन्फोकॉम के चेयरमैन आकाश अंबानी ने कहा कि देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी 'भारत जीपीटी' (Bharat GPT) कार्यक्रम शुरू करने के लिए IIT-बॉम्बे के साथ काम कर रही है.

उन्होंने कहा, जियो इन्फोकॉम, जोकि रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी है, टेलीविजन के लिए एक ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च करने के लिए भी "व्यापक रूप से सोच रही है". उन्होंने कहा कि कंपनी पिछले कुछ समय से इस पर काम कर रही है.

IIT-बॉम्बे के वार्षिक टेकफेस्ट में बोलते हुए, 32 वर्षीय अंबानी ने कहा कि "डेवलपमेंट का इकोसिस्टम" बनाना कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, और कहा कि "Jio 2.0" के दृष्टिकोण पर काम पहले से ही जारी है.

उन्होंने जियो और IIT-बॉम्बे के बीच साझेदारी के बारे में बात करते हुए कहा, "हम भारत जीपीटी कार्यक्रम शुरू करने के लिए आईआईटी बॉम्बे के साथ एक परियोजना पर काम कर रहे हैं."

उन्होंने कहा, फिलहाल, हमने बड़े लैंग्वेज मॉडल और जेनरेटिव एआई के साथ सतह को खंगाला है और अगले दशक को इन अनुप्रयोगों द्वारा परिभाषित किया जाएगा.

अंबानी ने कहा कि AI प्रोडक्ट्स और सेवाओं के हर क्षेत्र को बदल देगी और उन्होंने कहा, "हम एआई को न केवल हमारे संगठन के अंदर बल्कि हमारे सभी क्षेत्रों में लॉन्च करने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं."

उन्होंने कहा कि कंपनी मीडिया सेक्टर, कॉमर्स, कम्यूनिकेशन और डिवाइसेज में प्रोडक्ट और सेवाएं लॉन्च करेगी.

अंबानी ने कहा, "हम पिछले कुछ समय से टीवी के लिए अपने खुद के ओएस (ऑपरेटिंग सिस्टम) पर काम कर रहे हैं और हम इस बारे में व्यापक रूप से सोच रहे हैं कि इसे कैसे लॉन्च किया जाए."

अंबानी ने कहा कि 2024 परिवार के लिए एक विशेष वर्ष है, क्योंकि इस वर्ष उनके भाई की शादी होने वाली है.

उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी 5G प्राइवेट नेटवर्क की पेशकश को लेकर बहुत उत्साहित है, जहां वह किसी भी एंटरप्राइज को 5G स्टैक की पेशकश करेगी, चाहे वह कितनी भी बड़ी हो.

अंबानी ने भारत को अगले दशक के लिए "सबसे बड़ा इनोवेशन सेंटर" बताया और विश्वास जताया कि दशक के अंत तक देश 6 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा.

उन्होंने कहा कि जियो में, कंपनी इस विश्वास के साथ काम करती है कि वह जो कर रही है वह भारत के लिए अच्छा है, और उन्होंने पैसे को देश को प्रदान की गई सेवा का "उपोत्पाद" बताया.

जियो को दुनिया का सबसे बड़ा स्टार्टअप बताते हुए अंबानी ने कहा कि युवा उद्यमियों को असफलता से डरने की जरूरत नहीं है.

अंबानी ने उद्यमियों से सामाजिक भलाई के लिए काम करने के लिए भी कहा, खासकर यदि कोई उपभोक्ता क्षेत्र में काम कर रहा है, और सभी से अपने काम के प्रति गहरी लगन रखने को भी कहा.

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors