इस बच्चे ने स्कूल की छुट्टियों में कमा लिए 3 करोड़ रुपये, बनाई थी बड़ी ही खास आर्ट

अपनी इस आर्ट के जरिये बेन्यामिन ने 2 करोड़ 93 लाख रुपये हासिल किए हैं। अपनी कलाकृति के लिए बेन्यामिन को क्रिप्टोकरेंसी के जरिये भुगतान किया गया है और उन्हें इसके लिए एथेरियम कॉइन मिले हैं।

इस बच्चे ने स्कूल की छुट्टियों में कमा लिए 3 करोड़ रुपये, बनाई थी बड़ी ही खास आर्ट

Wednesday September 08, 2021,

4 min Read

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक 12 साल के लड़के की चर्चा बड़ी तेजी से हो रही है क्योंकि इस बच्चे ने छुट्टियों के दौरान अपनी ‘विशेष कला’ के जरिये करीब 3 करोड़ रुपये की कमाई कर ली है। ये अविश्वासनीय काम करने वाले बेन्यामिन अहमद लंदन के रहने वाले हैं और उन्होंने ‘वियर्ड व्हेल्स’ नाम की एक खास आर्ट तैयार की है।


दरअसल यह कलाकृति पिक्सलेटेड आर्टवर्क है, जिसके जरिये ही बेन्यामिन ने करीब 3 करोड़ रुपये की कमाई की है। बेन्यामिन ने अपनी इन डिजिटल कलाकृतियों को NFT यानी नॉन फंजिबल टोकन को बेचा है।

हासिल किए 2 करोड़ 93 लाख रुपये

अपनी इस आर्ट के जरिये बेन्यामिन ने 2 करोड़ 93 लाख रुपये हासिल किए हैं। अपनी कलाकृति के लिए बेन्यामिन को क्रिप्टोकरेंसी के जरिये भुगतान किया गया है और उन्हें इसके लिए एथेरियम कॉइन मिले हैं। अब ऐसे में बेन्यामिन को मिली इस मुद्रा में उतार-चढ़ाव के अनुसार उनकी भौतिक राशि में भी उतार-चढ़ाव आता रहेगा।

12 साल के बेन्यामिन अहमद ने ‘वियर्ड व्हेल्स’ नाम की एक खास आर्ट तैयार की है और इसे बेचकर उन्होंने  2 करोड़ 93 लाख रुपये कमाएं हैं। (फोटो साभार: BBC)

12 साल के बेन्यामिन अहमद ने ‘वियर्ड व्हेल्स’ नाम की एक खास आर्ट तैयार की है और इसे बेचकर उन्होंने  2 करोड़ 93 लाख रुपय कमाएं हैं। (फोटो साभार: BBC)

बेन्यामिन एक यूट्यूबर भी हैं और अपने शौक आदि से जुड़े वीडियोज़ वे अपने चैनल पर अपलोड करते रहते हैं। इतना ही नहीं, बेन्यामिन इसी के साथ खेलों में भी ख़ासी रुचि रखते हैं। उन्हें तैराकी, बैडमिंटन और टाइक्वांडो खासा पसंद है।


‘वियर्ड व्हेल्स’ की बात करें तो बेन्यामिन के लिए यह उनका दूसरा डिजिटल कला संग्रह है। इससे पहले उन्होंने एक कलाकृति तैयार की थी जो माइनक्राफ्ट गेम से प्रेरित थी, हालांकि इसके लिए उन्हें अधिक कीमत नहीं मिल सकी थी। इन दिनों अब बेन्यामिन अपने तीसरे कला संग्रह पर काम कर रहे हैं जो सुपरहीरो थीम पर आधारित है। बेन्यामिन के पिता उनके द्वारा बनाई गई कलाकृतियों को बाकायदा रजिस्टर भी करवा रहे हैं।

पिता से मिली प्रेरणा

बेन्यामिन के पिता जो पेशे से खुद एक सॉफ्टवेयर डेवलपर हैं और उन्होंने ही बेन्यामिन और उनके भाई को महज 5 साल की उम्र से ही कोडिंग सीखने के लिए प्रेरित किया था। हालांकि अपने हमउम्र बच्चों को राय देते हुए बेन्यामिन कहते हैं कि किसी भी बच्चे को दबाव में आकर इस दिशा में आगे नहीं बढ़ना चाहिए, बल्कि अपनी रुचि पर ध्यान देना चाहिए।


बेन्यामिन के पिता के अनुसार दोनों भाइयों ने शुरुआत में मजे के तौर पर कोडिंग सीखने की शुरुआत की थी, लेकिन जल्द ही वे कोडिंग अपनी रुचि के साथ अधिक तेजी से सीखने लगे। पिता के अनुसार दोनों भाइयों ने हर रोज़ करीब 20 से 30 मिनट तक कोडिंग का अभ्यास किया है।

कैसे काम करती हैं NFT?

आपको बता दें कि NFT के जरिये किसी भी डिजिटल कलाकृति को टोकन किया जाता है, जिससे उसके लिए एक खास सर्टिफिकेट तैयार हो जाता है। इस तरह फिर किसी भी कलाकृति को खरीदा और बेचा भी जा सकता है। इस खरीद का पूरा रिकॉर्ड एक डिजिटल लेजर में रखा जाता है, जिसके जरिये यह पता लगाया जा सकता है कि किसके पास कौन सी डिजिटल कलाकृति मौजूद है। यह बिल्कुल क्रिप्टोकरेंसी के आधार पर ही काम करता है।


इस पूरे काम को अंजाम देने में बेन्यामिन को करीब 300 अमेरिकी डॉलर (करीब 22 हज़ार रुपये) का खर्च उठाना पड़ा है। अब आगे बढ़ते हुए बेन्यामिन खुद को जेफ बेजोस और एलोन मस्क जैसे उद्यमियों की तरह सफलता के शिखर पर देखना चाहते हैं।


YourStory की फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक और लीडरशिप कॉन्फ्रेंस 25-30 अक्टूबर, 2021 को अपने 13वें संस्करण के साथ शुरू होने जा रही है। TechSparks के बारे में अधिक अपडेट्स पाने के लिए साइन अप करें या पार्टनरशिप और स्पीकर के अवसरों में अपनी रुचि व्यक्त करने के लिए यहां साइन अप करें।


TechSparks 2021 के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें।


Tech30 2021 के लिए आवेदन अब खुले हैं, जो भारत के 30 सबसे होनहार टेक स्टार्टअप्स की सूची है। Tech30 2021 स्टार्टअप बनने के लिए यहां शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए अप्लाई करें या नॉमिनेट करें।


Edited by रविकांत पारीक