11 अस्पतालों में 10,000 करोड़ रुपये का करेगा निवेश NHS की अगुवाई वाला गठजोड़

पीटीआई


image


भारत-ब्रिटेन के प्रवर्तकों की अगुवाई वाले गठजोड़ इंडो-यूके हेल्थकेयर ने प्रतिष्ठित एनएचएस हास्पिटल्स ऑफ इंग्लैंड को भारत लाने के लिए 10,000 करोड़ रुपये का निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई है। इसके अलावा समूह अगले कुछ साल में ब्रिटेन के प्रसिद्ध शैक्षणिक संस्थानों और विश्वविद्यालयों को भी भारत लाएगा।

इस पहल को हेल्थकेयर यूके का समर्थन हासिल है, जो ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग, ब्रिटेन व्यापार और निवेश तथा इंग्लैंड की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा की संयुक्त पहल है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन की उपस्थिति में इस करार पर दस्तखत किए गए। इंडो-यूके हेल्थकेयर के एक बयान में कहा गया है कि पहला अस्पताल किंग्स कॉलेज हॉस्पिटल न्यू चंडीगढ़ में 10 करोड़ पौंड या करीब 1,000 करोड़ रुपये के निवेश से स्थापित किया जाएगा। हालांकि, बयान में यह नहीं बताया गया है कि पहला अस्पताल कब परिचालन शुरू करेगा।

बयान में कहा गया है कि प्रत्येक 11 भारत-ब्रिटेन स्वास्थ्य संस्थानों में 11 राज्यों में करीब 1,000 करोड़ रुपये का निवेश आएगा। इसमें एनएचएस ब्रांड का मल्टी स्पेशियल्टी अस्पताल, क्लिनिकल सपोर्ट सेवाएं, एनएचएस ई-स्वास्थ्य, कर्मचारियों के लिए रहने की जगह, मेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज, शोध एवं विकास की सुविधाएं, मेडिकल विनिर्माण सुविधाएं और मेडिकल मॉल की सुविधा होगी।

यह परियोजना पूरी होने पर 11,000 बिस्तरों के लिए करीब 5,000 चिकित्सकों, 25,000 नर्सों तथा संबद्ध स्वास्थ्य विशेषज्ञों की नियुक्ति की जाएगी। इस परियोजना में करीब 1,00,000 रोजगार के अवसरों के सृजन की क्षमता है। मेडिकल व नर्सिंग कॉलेजों में 15,000 नए एमबीबीएस डॉक्टरों तथा 20,000 नर्सों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

परियोजना के लिए धन बैंकों के समूह से रिण व इक्विटी के रूप में जुटाया जाएगा।

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors