एयर इंडिया के विमानों के बेड़े में शामिल होंगे 150 नए 737 मैक्स विमान

By Rajat Pandey
December 10, 2022, Updated on : Mon Dec 12 2022 06:42:24 GMT+0000
एयर इंडिया के विमानों के बेड़े में शामिल होंगे 150 नए 737 मैक्स विमान
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयर इंडिया लिमिटेड (Air India Limited), बोइंग कंपनी (Boeing Co.) के साथ 150 737 मैक्स विमान (737 Max Planes) खरीदने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के वाली है. इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार एयर इंडिया 50 737 मैक्स जेट के लिए एक फर्म ऑर्डर दे सकती है, जिसमें 150 से अधिक का अधिग्रहण करने का विकल्प है. टाटा ने औपचारिक रूप से इस साल की शुरुआत में कर्ज से डूबी  एयर इंडिया की कमान संभाली है.


यह ऑर्डर निजीकरण के बाद एयर इंडिया का पहला बड़ा विमान ऑर्डर होगा. पिछले साल अकासा एयर (Akasha Air) से 75 विमानों के लिए ऑर्डर हासिल करने के बाद अमेरिकी विमान निर्माता बोइंग का भारत में यह पहला बड़ा बिक्री सौदा होगा. अमेरिकी विमान निर्माता ने मार्च 2023 तक 50 विमान देने का वादा किया है. एयर इंडिया-बोइंग सौदे को अगले कुछ दिनों में अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है.


इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार फ्रांसीसी कंपनी एयरबस (Airbus) को भी एयर इंडिया से ऑर्डर मिल सकता है क्योंकि आक्रामक विस्तार योजनाओं (agressive expansion plans) के बीच टाटा समूह एयरलाइन द्वारा अधिक विमान खरीदने की संभावना है. बोइंग के पास एयरबस पर बढ़त थी क्योंकि अमेरिकी निर्माता ने अगले साल की शुरुआत में 50 737 मैक्स विमानों को जल्द से जल्द वितरित करने का वादा किया है, जबकि फ्रांसीसी कंपनी 2025 तक ए320 नियो (A320 Neo) की डिलीवरी का वादा नहीं कर सकती थी.


एयर इंडिया लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैंबेल विल्सन (Campbell Wilson) द्वारा संचालित एक नए प्रबंधन के तहत, एयर इंडिया ने प्रमुख विस्तार योजनाओं का अनावरण किया है, जिसमें अगले पांच वर्षों में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय फ्रोंट्स पर 30% बाजार की  हिस्सेदारी हासिल करना शामिल है.


हाल ही में विस्तारा एयरलाइंस (Vistara Airlines) के एयर इंडिया में विलय (Air India-Vistara Merger) को मंजूरी मिली है. सिंगापुर एयरलाइंस ने इस पर मुहर लगाते हुए कहा कि विस्तारा एयरलाइंस का टाटा संस की एयर इंडिया में विलय किया जाएगा. बता दें कि अभी विस्तारा एयरलाइंस में टाटा संस की 51 फीसदी हिस्सेदारी है, जबकि सिंगापुर एयरलाइंस की 49 फीसदी हिस्सेदारी है. 


नए समझौते के तहत एयर इंडिया में सिंगापुर एयरलाइंस की 25.1 फीसदी हिस्सेदारी होगी. सिंगापुर एयरलाइंस के मुताबिक कंपनी एयर इंडिया में 250 मिलियन डॉलर (करीब 2058 करोड़ रुपये) का निवेश करेगी. मार्च 2024 तक इस सौदे के पूरे होने की उम्मीद है. यह भी माना जा रहा है कि इस डील के बाद कंपनी को एयरलाइन सेक्टर में दबदबा रखने वाली इंडिगो से तगड़ी टक्कर लेने में मदद मिलेगी.


इस मर्जर के बाद 218 विमानों के बेड़े के साथ एयर इंडिया देश का सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय और दूसरा सबसे बड़ा स्थानीय वाहक बनाने के लिए तैयार है.