दिमाग को शांत करने में काम आएंगे ये 10 तरीके

By yourstory हिन्दी
August 30, 2022, Updated on : Mon Sep 05 2022 10:36:32 GMT+0000
दिमाग को शांत करने में काम आएंगे ये 10 तरीके
अगर आप तनाव में हैं तो आप किसी भी काम को पूरे मन से नहीं कर पाते, ना ही खुश होकर अच्छा समय बिता पाते हैं. वैसे तो अलग-अलग तरह का तनाव दूर करने के लिए मेडिकल साइंस में अलग-अलग तरीके हैं. मगर कुछ छोटी- छोटी चीजों को करके आप अपने खुद ही अपने दिमाग का ख्याल रख सकते हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आजकल हर इंसान किसी न किसी तकलीफ, या तनाव से जूझ रहा है. भागदौड़ भरी जिंदगी में, दुनिया भर के काम, और उनके लिए खुद को हमेशा अलर्ट मोड पर रखने रहना किसी के भी लिए भी शारीरिक तौर पर और मानसिक तौर पर काफी थकाऊ हो सकता है. डॉक्टरों की मानें तो हर तरह के तनाव को दूर करने के अलग अलग तरीके होते हैं. लेकिन, कई ऐसे छोटे छोटे उपाय भी हैं जो आप खुद से घर पर करके अपने दिमाग को शांत कर सकते हैं. 


इंसान को तनाव कई कारणों से हो सकता है. लेकिन जब आपको लगे की ये तनाव आप पर भारी पड़ रहा है तो इसे बर्दाश्त करने या अनदेखा करने की बजाय किसी भरोसेमंद शख्स से इस बारे में बात करें. या फिर किसी डॉक्टर की मदद जरूर लें.

हालांकि, इन १० तरीकों को अपना कर आप तनाव और चिंता को दूर कर सकते हैं.

1. गाने सुनकर 

दुनिया की ऐसी कोई परेशानी नहीं है जिसे एक शानदारी दिल को खुश करने वाला म्यूजिक हल न कर सके. ऐसी कई वैज्ञानिक स्टडी हैं जो बताती हैं कि म्यूजिक आपके मूड को पॉजिटिव करता है और आपको खुश रखता है.

आप अलग अलग मूड के हिसाब से प्लेलिस्ट बनाकर रख सकते हैं. इसमें कुछ इंस्ट्रमेंटल म्यूजिक, मोटिवेशनल सॉन्ग, या फिर कुछ सिर्फ डांस वाले गाने भी रख सकते हैं. जब भी मन थोड़ा उदास हो पसंद के हिसाब से वो प्लेलिस्ट चला सकते हैं. इसके अलावा अगर इंस्ट्रूमेंट बजाना पसंद है तो आप कोई इंस्ट्रूमेंट भी प्ले कर सकते हैं.

2. बातें करो

भले ही आपको कोई चिंता न हो, आप बिल्कुल खुश हों तो भी किसी दोस्त या किसी करीबी से कुछ समय बात करने में कोई बुराई नहीं है. किसी अपने के साथ बातें करने से आपके दिमाग को हमेशा सुकून ही मिलता है. जब किसी बात को लेकर मन में उधेड़बुन हो या बहुत ज्यादा तनाव हो रहा हो तो बेहतर है कि आप अपने किसी दोस्त को फोन लगाएं उससे दिल खोल कर अपनी तकलीफ, मानसिक स्थिति के बारे में बता दें. अगर आपके पास पालतू जानवर हैं तो उनके साथ खेलने कर भी मूड को खुशमिजाज बना सकते हैं. पालतू जानवर तनाव दूर करने में सबसे माहिर होते हैं. सबसे बड़ी बात वो आपको या आपकी स्थिति को लेकर कोई नजरिया भी नहीं बनाएंगे. 

3. डायरी लिखें

कई लोगों के लिए दूसरों के साथ अपनी परेशानी बांटना या उनसे बताना आसान नहीं होता. अगर आप भी ऐसे लोगों में से हैं तो जर्नल राइटिंग दो तरीकों से आपके काम आ सकती है. आप एक ग्रेटफुल जर्नल रख सकते हैं जिसमें आप उन चीजों के लिए शुक्रिया अदा कर सकते हैं जिन्हें पाकर आप खुद को बहुत खुशकिस्मत मानते हैं. दूसरी डायरी आप रख सकते हैं अपने बारे में, अपने साथ होने वाली चीजों, अपने विचारों, डर, शंका जैसी किसी भी चीज के बारे में लिख सकते हैं. जर्नल यानी डायरी लिखना आपके मेंटल हेल्थ के लिए बहुत ही कारगर साबित हो सकती है. 

4. खुली हवा का जवाब नहीं

आजकल पूरा दिन मीटिंग के बाद मीटिंग करने में ही गुजर जाता है. कु्र्सी पर बैठे बैठे न जाने कितनी देर तक आंखें स्क्रीन पर जमी रहती हैं. अगर आपका भी शेड्यूल कुछ ऐसा ही बीत रहा है तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए. जब भी मौका मिले कुछ देर के लिए पार्क में या प्रकृति के बीच जरूर बीताना चाहिए. कई रिसर्च में इस बात का दावा किया गया है कि प्रकृति के बीच समय बीताने से आपका 55 फीसदी तनाव गायब हो सकता है. अगर आपको भी कुर्सी पर बैठे बहुत देर हो चुके हैं तो एक ब्रेक लेकर कुछ देर बाहर जाना आपकी मानसिक और शारीरिक सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है.

calm

5. एक्सरसाइज

अगर टहलने भर से आपका तनाव इतना कम हो सकता है तो सोचिए जरा नियमित रूप से एक्सरसाइज करके आपका दिमाग कितना शांत हो सकता है. आजकल अगर आपके पास बाहर जाने का समय नहीं है तो घर बैठे बैठे भी एक्सरसाइज करने के लिए इतने विकल्प मौजूद हैं. रिसर्च स्टडी में रसिस्टेंस ट्रेनिंग से तनाव कम होने का दावा किया गया है. योगा करके दिमाग को शांत किया जा सकता है. आप हल्के फुल्के स्ट्रेचिंग वाले एक्सरसाइज या फिर एक्सरसाइज रूटीन को भी अपना सकते हैं. अगर इतना भी आपको भारी लग रहा है तो आप हर दिन सिर्फ २० मिनट टहलने जा सकते हैं. कुल मिलाकर आपको अपने शरीर से थोड़ी एक्टिविटी करानी है. फिजिकल एक्टिविटी न सिर्फ आपको फिट रखती है बल्कि स्ट्रेस भी कम करती है.

6. अच्छा खाना खाएं 

हमें अच्छी तरह मालूम होता है कि कौन सा खाना या ड्रिंक हमारे फिजिकल हेल्थ के लिए सही है और कौन सी चीज नहीं. जैसे कैफीन के सेवन से हमारे दिल की धड़कन बढ़ जाती है जबकि कार्ब वालू फूड और तेल मसाले आपके अंदर एंजाइटी बढ़ा सकते हैं. रोजाना कई कप कॉफी पीने की बजाय, ग्रीन टी, पेपरमिंट या फिर कैमोमाइल टी भी ट्राई कर सकते हैं.

आप खाने में होल फूड, फर्मेंटेड फूड या फिर मैग्नीशियम से भरपूर डाइट को भी शामिल कर सकते हैं. ये फूड न सिर्फ आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को हेल्दी रखते हैं बल्कि आपके मसल को भी रिलैक्स करते हैं, जिससे अंततः आपकी थकान और तनाव दूर सकते हैं.

7. नींद से समझौता नहीं

इंसान के लिए आठ घंटे की नींद बहुत जरूरी होती है. अच्छी नींद के लिए सोने से एक घंटे पहले अपने फोन को दूर रख दें. आप इस समय में बस शांत बैठ सकते हैं, रिलैक्स हो सकते हैं. चाय पसंद हो तो कैमोमाइल टी पी सकते हैं. इसके अंदर ऐसी प्रॉपर्टी होती है जो अच्छी नींद लाने में मददगार होती है. बेहतर होगा कि आप सोने का एक टाइमटेबल तैयार कर लें. उसी के हिसाब से उठें और उसी के हिसाब से सो जाएं. ऐसा होने से शरीर भी उस रूटीन का आदी हो जाता है.   

8. खुल के हंसो

सुनने में अटपटा लगा सकता है कि कोई परेशान है, तनाव में है तो हंस कैसे सकता है? तो जवाब है बिल्कुल हंस सकता है. हंसना तनाव में एक मेडिसिन की तरह काम करता है. एक ठहाकेदार हंसी दिमाग को शांत कर सकती है और आपका तनाव दूर कर सकती है. आप किसी स्टैंड अप कमिडियन को देख सकते हैं, कोई कॉमिक किताब भी पढ़ सकते हैं.

9. पॉजिटिव अफर्मेशन 

दिमाग को शांत करने का एक और अनूठा तरीका है. जब भी कभी आपको ऐसा महसूस हो कि आप किसी मुश्किल स्थिति में हैं तो जोर से अपने आप से बात करते हुए कहें. ‘आई एम काम’. यानी कि मैं शांत हूं, मेरा दिमाग शांत है. ‘आई ट्रस्ट माईसेल्फ’ यानी कि मैं अपने आप पर भरोसा करता हूं. इन तरह के पॉजिटिव लाइन को अफर्मेशन कहते हैं. आजकल आपको ऐसे कई ऐप मिल जाएंगे जहां आपको हर स्थिति के हिसाब से तैयार की गई अफर्मेशन लाइन मिल जाएंगी. इन लाइनों को खुद से बोलने से आपको मोटिवेशन मिलता है और आपका दिमाग शांत होता है. इन लाइन को जब आप बार बार बोलते हैं तो आपके मन एक आत्मविश्वास बनता है और उन चुनौतियों का डट कर सामना कर पाते हैं.

10. खुद पर भी प्यार बरसाएं

अब हम जानेंगे खुद को शांत करने का सबसे आखिर और सबसे खूबसूरत तरीका. अगर आप खुद को लेकर नरमी से पेश नहीं आएंगे तो आपका मन कभी भी शांत नहीं हो सकता है. लगातार टॉप पर बने रहने की चाहत और दुनिया भर की चिंताओं की वजह से हम खुद के साथ बहुत सख्त हो जाते हैं. ऊपर जितने भी तरीके बताए गए हैं उनको फॉलो करके आप खुद की तरफ शारीरिक और मानसिक दोनों तौर पर थोड़े दयालु और उदार होंगे. खुद को कभी स्पा के लिए ले जाएं, अच्छी जगह खाने जाएं, कहीं बाहर नहीं जाना तो घर पर ही सेल्फ केयर रूटीन फॉलो कर लें. ये छोटी छोटी चीजें आपको अंदर से खुशी देती हैं जिससे आपका दिमाग शांत होता है.

एक शातं दिमाग कई बड़ी चीजें करने के काबिल होता है. इसलिए ऊपर बताए गए तरीकों को फॉलो करके आप अपने दिमाग को स्टेबल करने की ओर कदम बढ़ाएंगे. अगर आप पहले से इन्हें अपनाते आ रहे हैं तो अब इन्हें ज्यादा समय दें. वैसे भी अच्छी सेहत, अच्छी हंसी, अच्छा एक्सरसाइज और बढ़िया सी चाय किसी का दिन बना सकती हैं इससे कुछ बिगड़ेगा तो नहीं. 

(Translated By- Upasana)