2 अप्रैल: देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

By रविकांत पारीक
April 02, 2022, Updated on : Sat Apr 02 2022 00:31:34 GMT+0000
2 अप्रैल: देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 2 अप्रैल वर्ष का 92 वाँ (लीप वर्ष में यह 93 वाँ) दिन है। साल में अभी और 273 दिन शेष हैं।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

2 अप्रैल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

1984 - स्क्वॉड्रन लीडर राकेश शर्मा, मिशन सोयूज़ टी-11 के तहत अंतरिक्ष जाने वाले पहले भारतीय अंतरिक्ष यात्री बने।


1989 - फिलिस्तीन मुक्ति संगठन के नेता यासर अराफात फिलिस्तीन के राष्ट्रपति निर्वाचित।


1999 - मास्को में स्वतंत्र राष्ट्रों के राष्ट्रकुल (सीआईएस) की शिखर बैठक सम्पन्न।


2001 - नेपाल में माओवादी विद्रोहियों द्वारा 35 पुलिस अधिकारियों की हत्या।


2007 - सोलोमन द्वीप में शक्तिशाली सुनामी आयी।


2008 - कर्नाटक में तीन चरणों में विधान सभा चुनाव कराने की घोषणा। रामराव समिति ने रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में रक्षा तकनीकी आयोग गठित करने की सिफारिश की। नेपाल में सत्तारूढ़ पार्टियों के शीर्ष नेताओं ने चुनाव से पहले भड़की हिंसा की जांच के लिए 10 सूत्री समझौते पर हस्ताक्षर किए। अमेरिका में हावर्ड विश्वविद्यालय से सम्बद्ध हावर्ड बिजनेस स्कूल ने सुश्री अंजली रैना को मुंबई स्थित अपने भारत अनुसंधान केन्द्र का कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया।


2011 - भारतीय क्रिकेट टीम ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका को हराकर आईसीसी विश्व कप, 2011 की ट्रॉफी अपने नाम की।

2 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति

1891 - टी. बी. कुन्हा, गोवा के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी


1902 - बड़े ग़ुलाम अली ख़ाँ - शास्त्रीय गायक


1942 - रोशन सेठ- अभिनेता


1969 - अजय देवगन - भारतीय बॉलीवुड फिल्‍मों के मशहूर अभिनेता, निर्देशक और निर्माता हैं।


1935 - ए. वी. रामा राव - भारतीय रसायनशास्त्री और आविष्कारक हैं।


1881 - वी. वी. सुब्रमण्य अय्यर - एक स्वतंत्रता सेनानी और क्रांतिकारी राष्ट्रभक्त थे।

2 अप्रैल को हुए निधन

1720 - बालाजी विश्वनाथ, शाहू के सेनापति धनाजी जादव ने 1708 ई. में उसे 'कारकून' (राजस्व का क्लर्क) नियुक्त किया था।


1825 - बन्धुल, एक प्रसिद्ध बर्मी (बर्मा) सेनापति था।


1933 - रणजी, भारतीय क्रिकेट का जादूगर कहा जाता है और उन्हें भारत का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ी माना जाता है।


1907 - राधाकृष्ण दास - हिंदी, बांग्ला, उर्दू, गुजराती आदि भाषाओं के अच्छे जानकार तथा साहित्यकार थे।

2 अप्रैल के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

विश्व ऑटिज़्म जागरूकता दिवस