दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम के स्वच्छता स्टार्टअप चैलेंज में 30 स्टार्टअप को मिली जगह

स्टार्टअप चैलेंज ने स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्र में संगठनों से चार श्रेणियों में प्रविष्टियां आमंत्रित की थीं, अर्थात. (i) सामाजिक समावेश, (ii) शून्य डंप, (iii) प्लास्टिक कचरा प्रबंधन और (iv) डिजिटल रूप में सक्षम होने के माध्यम से पारदर्शिता.

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम के स्वच्छता स्टार्टअप चैलेंज में 30 स्टार्टअप को मिली जगह

Tuesday September 20, 2022,

4 min Read

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम के रूप में भारत की स्थिति को और बढ़ावा मिलने की उम्मीद है, क्योंकि आवास और शहरी कार्य मंत्रालय (MoHUA) स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्र को मजबूत करने के लिए स्टार्टअप्स को धनराशि देने और प्रारंभिक समग्र सहयोग (इन्क्यूबेशन) देने की तैयारी कर रहा है.

MoHUA आज नई दिल्ली स्थित अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित होने वाले सम्मलेन में 30 स्टार्टअप्स को सम्मानित करेगा. दिन भर चलने वाला यह सम्मलेन स्टार्टअप्स के लिए अनुभव व ज्ञान प्राप्त करने और सीखने का एक मंच भी होगा, जो उन्हें इस क्षेत्र में अपने रास्ते की तलाश करने और अपने समाधानों को सफलतापूर्वक बड़े पैमाने पर ले जाने में मदद करेगा. विचार-विमर्श के हिस्से के रूप में, कुछ शहरी स्थानीय निकाय जमीनी स्तर की विशिष्ट चुनौतियों को उजागर करने के लिए 'रिवर्स पिच' में शामिल होंगे, ताकि चुनौतियों के अभिनव समाधान खोजने के लिए स्टार्टअप को प्रेरित किया जा सके.

सरकार के दीर्घकालिक दृष्टिकोण को आगे बढ़ाते हुए, कुछ शहरी स्थानीय निकायों ने चुनिंदा स्टार्टअप्स के साथ साझेदारी करने में रुचि दिखाई है तथा शहरी स्थानीय निकाय, स्टार्टअप्स को सुविधाओं की स्थापना, बाजार खरीदारों के जुड़ाव आदि के लिए स्थान के रूप में समर्थन प्रदान करने के लिए तैयार हैं, ताकि वे अपने समाधानों को अंतिम रूप दे सकें. इस कार्यक्रम में सीखने की और नेटवर्किंग गतिविधियां, 30 स्टार्टअप द्वारा उनके समाधान को प्रदर्शित करने वाली प्रस्तुतियां, कचरा मुक्त शहरों के लिए स्टार्टअप को बढ़ावा देने के उद्देश्य से नीतिगत पहलों पर चर्चा और यूनिकॉर्न के उद्यमियों तथा संस्थापकों द्वारा सफलता की कहानियों को साझा करना आदि शामिल होंगे.

स्वच्छ भारत मिशन – शहरी, MoHUA द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है, जो स्थानीय आधार पर नवोन्मेषी, लागू करने योग्य समाधान और व्यवसाय मॉडल अपनाने तथा अपशिष्ट प्रबंधन में चक्रीयता को बढ़ावा देने के लिए स्टार्टअप्स के नवाचार और प्रोत्साहन पर विशेष ध्यान देता है. इस दीर्घकालिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए, MoHUA ने एजेंस फ़्रैन्काइज़ डी डेवलपमेंट (AFD) और DPIIT (उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग) के साथ साझेदारी में स्वच्छ भारत मिशन-शहरी के तहत जनवरी 2022 से, एक स्वच्छता स्टार्टअप चैलेंज शुरू किया था. इस चुनौती का उद्देश्य भारत में कचरा प्रबंधन क्षेत्र की उद्यमशीलता क्षमता का दोहन करना और उद्यम विकास के लिए एक सक्षम वातावरण को बढ़ावा देना है.

दिलचस्प बात यह है कि दिसंबर 2021 में शुरू की गई स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज के माध्यम से MoHUA द्वारा एक व्यापक दृष्टिकोण अपनाया गया था. टेक्नोलॉजी चैलेंज ने गैर सरकारी संगठनों, सीएसओ, शैक्षणिक संस्थानों और स्टार्टअप सहित स्वच्छता क्षेत्र में काम करने वाले सभी हितधारकों से प्रविष्टियां और समाधान आमंत्रित किए. टेक्नोलॉजी चैलेंज में स्टार्टअप्स से प्राप्त विजेता प्रविष्टियों को जनवरी 2022 में बाद के स्वच्छता स्टार्टअप चैलेंज में भाग लेने की अनुमति दी गई थी.

स्टार्टअप चैलेंज ने स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्र में संगठनों से चार श्रेणियों में प्रविष्टियां आमंत्रित की थीं, अर्थात. (i) सामाजिक समावेश, (ii) शून्य डंप, (iii) प्लास्टिक कचरा प्रबंधन और (iv) डिजिटल रूप में सक्षम होने के माध्यम से पारदर्शिता. आकांक्षी स्टार्टअप्स से कुल 244 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं, जिनमें से 30 स्टार्टअप्स को 20 सदस्यों की जूरी समिति द्वारा चुना गया. प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों, इन्क्यूबेटरों, उद्योग और सरकारी निकायों से जूरी के सदस्यों को चुना गया था. 30 में से, कुल शीर्ष 10 विजेताओं की पहचान की गई है, जिनमें से प्रत्येक को फ्रेंच टेक से सीड फंडिंग और समर्पित इनक्यूबेशन समर्थन प्राप्त होगा. फ्रेंच टेक, स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए फ्रांसीसी सरकार की पहल है.

स्वच्छता स्टार्टअप सम्मेलन, 17 सितंबर 2022 से 2 अक्टूबर 2022 तक MoHUA द्वारा स्वच्छ अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में आयोजित किया जा रहा है, जब भारत, एसबीएम-शहरी की उपलब्धियों के आठ साल पूरे होने का उत्सव मना रहा है तथा 1 अक्टूबर 2022 को एसबीएम अर्बन 2.0 की पहली वर्षगांठ मनाई जाएगी. सम्मेलन में लगभग 600 लोगों के भाग लेने की उम्मीद है, जिसमें क्षेत्र के प्रमुख स्टार्टअप और यूनिकॉर्न, शहर प्रशासन, निवेशक, शिक्षाविद, सरकारी निकाय और उद्योग, उद्योग विशेषज्ञ एवं DPIIT, सरकार, FICCI, CII, और अन्य संघों के प्रतिनिधि शामिल हुए हैं.

केन्द्रीय आवास और शहरी कार्य राज्य मंत्री कौशल किशोर द्वारा सम्मान प्रदान किया जाएगा. सम्मलेन में MoHUA के सचिव मनोज जोशी, भारत में फ्रांस के राजदूत एच.ई. इमैनुएल लेनैन और एएफडी के कंट्री डायरेक्टर ब्रूनो बोस्ले भी मौजूद रहेंगे.