कोविड-19 के दौरान बंगाल वापस आने वाले 3000 आईटी पेशेवरों को रोजगार दिया गया: मित्रा

‘कर्मभूमि’ आईटी और आईटीईएस क्षेत्र में नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के बीच सहयोग करने के लिए राज्य सरकार की एक पहल है।

कोविड-19 के दौरान बंगाल वापस आने वाले 3000 आईटी पेशेवरों को रोजगार दिया गया: मित्रा

Thursday September 24, 2020,

1 min Read

कोलकाता, पश्चिम बंगाल के वित्त और आईटी मंत्री अमित मित्रा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों से राज्य में वापस आए 3,000 आईटी पेशेवरों को ‘कर्मभूमि’ पहल के तहत नौकरी की पेशकश की गई है।


उन्होंने बताया कि आठ जून को शुरू किए गए रोगजार पोर्टल पर लगभग 37,000 पंजीकरण किए गए, जबकि उसमें से 24,000 से अधिक पर कार्रवाई की जा चुकी है।

पश्चिम बंगाल के वित्त और आईटी मंत्री अमित मित्रा (फोटो साभार: impactnews)

पश्चिम बंगाल के वित्त और आईटी मंत्री अमित मित्रा (फोटो साभार: impactnews)

‘कर्मभूमि’ आईटी और आईटीईएस क्षेत्र में नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के बीच सहयोग करने के लिए राज्य सरकार की एक पहल है।


उन्होंने बताया कि यह पहल महामारी के दौरान दूसरे राज्यों से पश्चिम बंगाल में लौटकर आए कौशल युक्त कामगारों के लिए शुरू की गई थी।


मित्रा ने सीआईआई द्वारा आयोजित एक वेब संगोष्ठी में कहा, ‘‘इस योजना की शुरुआत से अभी तक तीन महीने में 3,000 आईटी पेशेवरों को नौकरी के लिए चुना गया है।’’


उन्होंने आईटी उद्योग से राज्य के टीयर-2 और टियर-3 शहरों में आईटी पार्क बनाने का आग्रह भी किया।


(सौजन्य से- भाषा पीटीआई)