उज्जवला योजना का विस्तार, अब सबको मिलेगा फ्री गैस कनेक्शन

उज्जवला योजना का विस्तार, अब सबको मिलेगा फ्री गैस कनेक्शन

Tuesday December 18, 2018,

3 min Read

अभी तक जिन गरीब परिवारों को किन्हीं कारणों से मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन नहीं मिल पाया था उन्हें भी इस योजना के दायरे में लाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में संपन्न हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया।

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर


यह निर्णय समाज के विभिन्न हल्कों से मिले प्रतिवेदनों को देखते हुए किया गया। इससे निर्धन परिवार जो अभी तक पीएमयूवाई के अंतर्गत रसोई गैस का कनेक्शन प्राप्त नही कर पाये है, उन्हे अब कनेक्शन मिल सकेगा।

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी उज्जवला योजना का विस्तार कर दिया गया है। अभी तक जिन गरीब परिवारों को किन्हीं कारणों से मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन नहीं मिल पाया था उन्हें भी इस योजना के दायरे में लाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में संपन्न हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी, जिसमें ऐसे निर्धन परिवारों को बिना राशि जमा कराये रसोई गैस कनेक्शन देने की व्यवस्था है, जिन पर अभी तक विभिन्न कारणों से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के अंतर्गत रसोई गैस देने पर विचार नहीं किया गया था।

इन कारणों में लाभार्थियों का नाम सामाजिक आर्थिक जाति गणना सूची में शामिल न होना अथवा 7 चुनी हुई श्रेणियों में शामिल न होना था। ये श्रेणियां है अनुसूचित जाति या जनजाति परिवार, प्रधानमंत्री आवास योजना(ग्रामीण) के लाभार्थी, अंत्योदय अन्न योजना, वनवासी, सर्वाधिक पिछड़े वर्ग, चाय और पूर्व चाय बगान से संबंधित जनजातियां, द्वीपों/नदी द्वीपों में रहने वाले लोग, जिनके नाम एसईसीसी सूची में शामिल नहीं है।

यह निर्णय समाज के विभिन्न हल्कों से मिले प्रतिवेदनों को देखते हुए किया गया। इससे निर्धन परिवार जो अभी तक पीएमयूवाई के अंतर्गत रसोई गैस का कनेक्शन प्राप्त नही कर पाये है, उन्हे अब कनेक्शन मिल सकेगा, बशर्ते वे पात्रता की शर्तें पूरी करते हों। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) एक मई 2016 को शुरू की गई थी। इसके अंतर्गत कोई राशि जमा कराए बिना रसोई गैस कनेक्शन दिये जाते हैं। इसके लिए सरकार 1600/-रु प्रति कनेक्शन वित्तीय सहायता देती है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सरकार के पीएमयूवाई कार्यक्रम का स्वागत किया था। संगठन का कहना था की इससे परिवारों को प्रदूषण से बचाने में मदद मिलेगी। इस योजना के तहत अब तक 5 लाख 86 हजार कनेक्शन जारी किए जा चुके हैं। इस योजना में केंद्र सरकारी तेल कंपनियों को प्रति कनेक्शन 1,600 रुपए की सब्सिडी देती है। यह सब्सिडी सिलेंडर की जमानत और फिटिंग शुल्क के लिए होती है। इस कार्यक्रम का मकसद हर एक परिवार तक एलपीजी की पहुंच को सुनिश्चित करना है।

यह भी पढे़ं: यहां रेस्तरां में दिया जाता है सिर्फ आधा गिलास पानी

    Share on
    close