....और जब फ़ैज़ फ़ज़ल के लिए दुनिया खूबसूरत हो गयी

By YS TEAM
May 25, 2016, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:17:15 GMT+0000
....और जब फ़ैज़ फ़ज़ल के लिए दुनिया खूबसूरत हो गयी
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

पीटीआई

ज्यादातर घरेलू खिलाड़ियों की तरह 30 वर्षीय फैज फ़ज़ल ने भी अपने चयन के बारे में उम्मीद करना छोड़ दिया था, लेकिन अब उन्हें पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम में चुन लिया गया तो विदर्भ के इस क्रिकेटर को दुनिया बहुत खूबसूरत लग रही है।

image


फजल ब्रिटेन के डरहम में नार्थ ईस्टर्न प्रीमियर लीग में क्लब के लिये खेल रहे हैं, उन्होंने फोन पर पीटीआई से कहा, ‘‘कुछ साल पहले जब मैंने रणजी सत्र में 700 रन से ज्यादा का स्कोर बनाया था तो मुझे कुछ अच्छी खबर की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और मैं बहुत निराश था।' 

फ़ज़ल ने आगे कहा,

‘पिछले कुछ वर्षों में मैंने उम्मीद करना छोड़ दिया था क्योंकि तब आप निराश महसूस नहीं करते। आज जब मेरे पिता ने मुझे फोन किया तो मुझे अपने चारों तरफ की दुनिया इतनी खूबसूरत लगने लगी।’

 रेलवे के लिये रणजी ट्राफी खेलने वाले फजल ने कहा, ‘‘हर कोई भारत के लिए खेलने की उम्मीद करता है लेकिन हर किसी को मौका नहीं मिलता। मैं खुश हूं कि मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिल गया। कई प्रतिस्पर्धी घरेलू खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 100 से ज्यादा प्रथम श्रेणी के मैच खेल लिये हैं, लेकिन उन्हें भारतीय टीम के लिये नहीं चुना गया। मुझे देर से ही सही, मौका तो मिला। अगर मुझे खेलने का मौका मिलता है तो मुझे इसमें सफलता हासिल करनी होगी। ’’