बेहिचक सात समंदर पार फैलाये अपना कारोबार, बात करने के लिए है “सोनेटल”

वैश्विक टेलिफोन कंपनी है “सोनेटलछोटे उद्यमियों के लिए सस्ता और भरोसेमंद विकल्प50 प्रतिशत आय यूरोप और नार्थ अमेरिका से

बेहिचक सात समंदर पार फैलाये अपना कारोबार, बात करने के लिए है “सोनेटल”

Tuesday June 16, 2015,

4 min Read

उद्यमिता कुछ लोगों के लिए एक तरह का नशा होता है, तभी तो ये लोग सीमाओं से परे जाकर सोचने और कुछ करने का माद्दा रखते हैं। हेनरिक “सोनेटल” नाम की वैश्विक टेलिफोन कंपनी चलाते हैं। ये सेवा उन लोगों के लिए खासी फायदेमंद है जो उद्यमी हैं। जोखिम उठाने में माहिर हेनरी का ये सातवां उद्यम है।

image


‘सोनेटल’ को हेनरिक ने वैश्विकरण और उद्यमशीलता को ध्यान में रखकर शुरू किया। हेनरिक के मुताबिक “ये कोशिश है उन उद्यमियों की जो वैश्विक स्तर पर काम कर रहे हैं खासतौर से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छोटा कारोबार करने वालों को ध्यान में रख कर इसे तैयार किया गया है ताकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में उन उद्यमियों की मांग बढ़े।“

हेनरिक के मुताबिक शुरूआत में उन्होने अपने इस प्रोजेक्ट के डिजाइन के लिए विप्रो से मदद ली थी जिसके बाद एक दूसरी भारतीय कंपनी ने इस काम को आगे बढ़ाया। दुर्भाग्य से, आउटसोर्स की ये प्रक्रिया पटरी से उतर गई इस वजह से 150 लोगों की मेहनत मिट्टी में बदल गई। अंत में हेनरिक ने इस काम को खुद ही करने का फैसला लिया और हैदराबाद में अपनी कंपनी की स्थापना की। यहां पर उन्होने मंझे हुए लोगों को अपने साथ जोड़ा। हेनरिक कहते हैं कि “आज उनको गर्व है कि चीजें संभलती गई और आउटसोर्स को संगठित करना एक अच्छा विचार रहा। यही वजह है कि आज उनकी टीम में ना सिर्फ जुनून है बल्कि स्वामित्व की भावना भी है।”

‘सोनेटल’ वैश्विक स्तर पर छोटे और मध्यम कारोबारियों के लिए मुफ्त में फोन करने की सुविधा देती है। इसकी मदद से कोई भी ना सिर्फ फोन पर बातचीत कर सकता है बल्कि वीडियो कॉल से कहीं भी सम्पर्क स्थापित कर सकता है। इस सुविधा का इस्तेमाल कोई भी अपने आईपी-टेलीफोन, मोबइल फोन और सामान्य फोन से कर सकता है।

‘सोनेटल’ से पहले हेनरिक ने 90 के दौर में टेलिकोम और इंटरनेट सेक्टर में अपना कारोबर शुरू किया। उनका मानना रहा है कि वैश्वीकरण और उद्यमशीलता इस संसार को और अच्छा बनाने के लिए बढ़िया साधन हैं। उनकी कंपनी के साथ अब तक 289996 कंपनियों ने समझौता किया है ताकि वो आसानी से वैश्विक स्तर पर इस्तेमाल में आसान इस टेलीफोन सेवा की मदद से 235 देशों के साथ जुड़ सकें।

इस सुविधा का इस्तेमाल करने के लिए हमारे ग्राहक किसी भी देश में अपना स्थानीय नंबर ले सकते हैं और वहां से उनका स्टॉफ स्थानीय दरों पर उस कॉल को कहीं भी भेज सकता है। वेबसाइट पर लोकल नंबर दिखने के कारण स्थानीय लोगों में भी विश्वास बढ़ता है। उदाहरण के लिए अगर न्यूयॉर्क और सिलिकॉन वैली में आपका अपना फोन नंबर है तो इस सर्विस की सेवा के लिए आपको 0.99 डॉलर प्रति महीने या उससे ज्यादा चुकाने होंगे।

इसके अलावा ऐप के माध्यम से भी सोनेटल के ग्राहक स्थानीय दरों पर अपने मोबाइल फोन से बिजनेस कॉल कर सकते हैं। अपने व्यापार की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए सोनेटल अपने ऐप में वीओआईपी का इस्तेमाल नहीं करती। क्योंकि थ्रीजी में इसकी गुणवत्ता पर असर पड़ता है। हेनरिक के मुताबिक “हम लोग पीबीएक्स बिजनेस में नहीं हैं। हम अंतर्राष्ट्रीय फोन नंबर को इंटरनेट के माध्यम से जोड़कर कीमतों को कम रखते हैं जिसको लेकर हमारा ग्राहक भी खुश रहता है।”

फोन सर्विस के क्षेत्र में धोखाधड़ी बड़ी समस्या है। खासतौर से संगठित अपराध के लिए टेलिफोन का इस्तेमाल बड़ी आसानी से किया जाता है। आमतौर पर अपराधी चोरी के क्रेडिट कार्ड के आधार पर विदेशों में कई मंहगी कॉल करते हैं जिसका खामियाजा फोन कंपनियों को भी उठाना पड़ता है। ऐसी दिक्कतों पर लगाम लगाने के लिए

सोनेटल ने 25 विभिन्न तरीके के सिस्टम तैयार किये हैं इन्ही सिस्टम की वजह से कंपनी हर रोज दर्जनों धोखेबाजों को पकड़ती है। फिलहाल कंपनी की 50 प्रतिशत आय यूरोप और नार्थ अमेरिका से होती है जबकि भारत की भागीदारी सिर्फ 3 प्रतिशत है। कंपनी की कोशिश अपनी इस सेवा को वैश्विक स्तर पर हर छोटे व्यापारी तक पहुंचाने की है। जल्द ही कंपनी एपीआई लॉंच करने वाली है। इसके माध्यम से मोबाइल ऑपरेटर और वेब होस्टिंग करने वाली कंपनियां हमारी सेवाओं को अपनी वेबसाइट और ऐप के माध्यम से बेच सकेंगी।