अभिनेता आमिर खान ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन (ग्रामीण) के लिए विभिन्‍न जिलों के अधिकारियों की सराहना की

  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

नई दिल्‍ली में ओडीएफ कार्यशाला का आयोजन। स्‍वच्‍छता दर्पण पुरस्‍कार-2019 प्रदान किए गए। अभिनेता और पानी फाउंडेशन के संस्‍थापक आमिर खान ने विशेष रूप से हिस्‍सा लिया। आमिर खान ने स्‍वच्‍छता के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले जिलों को स्‍वच्‍छता दर्पण पुरस्‍कार प्रदान किये


k

फोटो क्रेडिट: arunachalobserver



जल शक्ति मंत्रालय के अधीन पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग ने रविवार, 12 जनवरी को नई दिल्‍ली में खुले में शौच से मुक्‍त (ओडीएफ) संबंधी एक कार्यशाला का आयोजन किया, जिसमें अभिनेता और पानी फाउंडेशन के संस्‍थापक आमिर खान ने विशेष रूप से हिस्‍सा लिया।


कार्यशाला के दौरान आमिर खान ने स्‍वच्‍छता के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले जिलों को स्‍वच्‍छता दर्पण पुरस्‍कार प्रदान किये। पुरस्‍कार विजेताओं में ईस्‍ट गोदावरी (आंध्रप्रदेश), वेस्‍ट कामंग (अरुणाचल प्रदेश), बेमतारा (छत्‍तीसगढ़), दीव (दमन और दीव), पानीपत (हरियाणा), वडोदरा (गुजरात), कोल्‍हापुर (महाराष्‍ट्र), मोगा (पंजाब), ईस्‍ट सिक्किम (सिक्किम) और पेदाप्‍पली (तेलंगाना) शामिल हैं। प्‍लास्टिक कचरा प्रबंधन के लिए नवाचारों और पहलों के लिए चार जिलों – डिब्रूगढ़ (असम), सिरमोर (हिमाचल प्रदेश), इंदौर (मध्‍यप्रदेश) और पुरी (ओडिशा) को भी पुरस्‍कृत किया गया।


आमिर खान ने चुने हुए राज्‍यों के जिला अधिकारियों, डीडीसी, सीडीओ और अन्‍य अधिकारियों के साथ बातचीत की। आमिर ने मैदानी स्‍तर पर किये जाने वाले कामों के लिए अधिकारियों की सराहना की और जल संरक्षण के क्षेत्र में पानी फाउंडेशन द्वारा किये जाने वाले कामों तथा अनुभवों को साझा किया। अधिकारियों ने अपने-अपने जिलों में ओडीएफ लक्ष्‍यों को प्रोत्‍साहन देने के लिए किए जाने वाले उत्‍कृष्‍ट व्‍यवहारों को साझा किया। उन्‍होंने इस क्षेत्र में भावी पहलों की भी जानकारी दी।





उपस्थि‍त जनों को संबोधित करते हुए डीडीडब्‍ल्‍यूएस के सचिव परमेश्‍वरन अय्यर ने पिछले पांच वर्षों के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में स्‍वच्‍छता की स्थिति में सुधार लाने के लिए राज प्रतिनिधियों के प्रयासों की सराहना की। इन प्रयासों के तहत स्‍वच्‍छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत 02 अक्‍टूबर, 2019 को भारत की ओडीएफ घोषणा की गई थी। अय्यर ने कहा कि इस काम में तेजी बनाई रखनी चाहिए और यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि खामियों को पहचाना जाएं और उन्‍हें दुरूस्‍त किये जाएं।


कार्यशाला के दौरान ओडीएफ वहनीयता, सूचना, शिक्षा, संचार और सामुदायिक शौचालयों जैसे अहम मुद्दों पर दो जिला अधिकारियों ने प्रस्‍तुतिकरण भी दिये।


पेदाप्‍पली के जिला अधिकारी ने खुले में शौच से मुक्ति और उसकी वहनीयता को प्रोत्‍साहन देने के लिए आईईसी की भूमिका के बारे में प्रस्‍तुतिकरण दिया। इस संबंध में पेदाप्‍पली जिले में ‘मन स्‍वच्‍छता, मन गौरवम्’ जैसी महत्‍वपूर्ण पहलों के बारे में बताया गया है। इसके तहत जिले की सभी ग्राम पंचायतों में सांस्‍कृतिक कार्यक्रम और स्‍वच्‍छता पर लोकप्रिय फिल्‍मों का आयोजन किया जाता है। मुजफ्फरपुर के जिला अधिकारी ने सामुदायिक शौचालयों के निर्माण में जिला प्रशासन द्वारा की गई महत्‍वपूर्ण पहलों के विषय में जानकारी दी। इसके तहत शौचालयों से वंचित घरों की यह समस्‍या दूर करने के प्रयास किये जाते है, ताकि पूरे जिले में स्‍वच्‍छता सुनिश्चित की जा सके।


(सौजन्य से: PIB_Delhi) (Edited by रविकांत पारीक)




  • +0
Share on
close
  • +0
Share on
close
Share on
close

Our Partner Events

Hustle across India