विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की चेतावनी- कोविड का खतरा अभी टला नहीं है

By yourstory हिन्दी
December 22, 2022, Updated on : Fri Dec 23 2022 07:56:52 GMT+0000
विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की चेतावनी- कोविड का खतरा अभी टला नहीं है
चीन के बाद अमेरिका, फ्रांस, जापान और कोरिया भी कोविड की चपेट में. भारत में जल्‍द हो सकते हैं इमर्जेंसी के हालात.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना को लेकर दुनिया भर में संकट फिर से गहराता नजर आ रहा है. चीन के अस्‍पतालों में संक्रमितों की संख्‍या और कोरोना से होने वाली मृत्‍यु की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है. सिर्फ चीन ही नहीं, बल्कि जापान, फ्रांस और कोरिया में भी कोविड केसेज का ग्राफ लंबे समय तक नीचे की ओर जाने के बाद अब अचानक बढ़ना शुरू हो गया है. जापान में इस वक्‍त कोरोना के 10 लाख 65 हजार एक्टिव केसेज हैं. दक्षिण कोरिया में 4 लाख 61 हजार और फ्रांस में 3 लाख 58 हजार कोविड केसेज हैं.


चीन में इस वक्‍त ओमिक्रॉन का जो नया वैरिएंट फैल रहा है, वो BF.7 है, जो विशेषज्ञों के मुताबिक ओमिक्रॉन का सबसे खतरनाक वैरिएंट है. यह वैरिएंट भारत में भी पाया गया है. जिसके बाद भारत में भी जल्‍द ही कोरोना संकट के गहराने की आशंका है. इस वक्‍त भारत के सभी इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स पर रैंडम कोविड टेस्‍ट और सैंपलिंग की जा रही है.


Worldometers.info की रिपोर्ट के मुताबिक पूरी दुनिया में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 5,86,296 नए केसेज आए हैं. कोरोना वर्ल्ड स्पीडोमीटर का आंकड़ा कह रहा है कि जापान में पिछले चौबीस घंटे में कोविड के कारण 296 लोगों की मौत हो गई है. इसी तरह अमेरिका में 326 लोगों की कोविड से मृत्‍यु दर्ज की गई है. इसके अलावा फ्रांस में 127, ब्राजील में 197, साउथ कोरिया में 59, रूस में 59 मौतें दर्ज की गई हैं.


वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने चेतावनी दी है कि अभी कोविड महामारी के अंत की घोषणा करना जल्दबाजी होगी. कोविड का खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है और यह एक बार फिर एक ग्लोबल इमरजेंसी की शक्‍ल ले सकता है. डब्‍ल्‍यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहानॉम ने चीन के बिगड़ते हालात पर चिंता जताते हुए कहा है कि चीन में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने की जरूरत है.  


चीन से इस वक्‍त आ रही खबरें वास्‍तव में डराने वाली हैं. वहां के अस्‍पतालों के साथ-साथ श्‍मशानों में भी लाइन लगी हुई है. आगामी कुछ महीनों में कोविड से तकरीबन 200 लाख मौतों की आंशका जताई जा रही है.  


बस कुछ ही समय की बात है. मुमकिन है, देखते ही देखते देश एक बार फिर लॉकडाउन की चपेट में आ जाए. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस बात की ताकीद भी की है कि हमें अभी से सावधानी बरतने और तत्‍काल एक्‍शन लेने की जरूरत है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने लोगों से सार्वजनिक जगहों पर मास्‍क का इस्‍तेमाल करने, अनावश्‍यक यात्राएं न करने की अपील की है.


Edited by Manisha Pandey