Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

अब Flipkart पर भी मिलेंगे हाथ से बनी बनारसी साड़ी, कालीन और दरी; MSME, बुनकरों की होगी मदद

फ्लिपकार्ट ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार के वाराणसी जिला प्रशासन के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए.

अब Flipkart पर भी मिलेंगे हाथ से बनी बनारसी साड़ी, कालीन और दरी; MSME, बुनकरों की होगी मदद

Monday August 08, 2022 , 3 min Read

वाराणसी के कारीगरों, बुनकरों, शिल्पकारों, दिव्यांग लोगों को राष्ट्रीय बाजार तक पहुंच विकसित करने में सक्षम बनाने के लिए Flipkart और उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) साथ आए हैं. ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट ने समर्थ कार्यक्रम (Samarth Programme) के तहत उत्तर प्रदेश सरकार के वाराणसी जिला प्रशासन के साथ एक साझेदारी की है. यह साझेदारी MSME, बुनकरों और दिव्यांग लोगों को क्षमता निर्माण में सहायता करेगी और भारत में तेजी से बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था से लाभान्वित होगी.

फ्लिपकार्ट ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार के वाराणसी जिला प्रशासन के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए. इस साझेदारी के माध्यम से उत्तर प्रदेश के बनारसी साड़ी, हैंडमेड कालीन, जरदोजी क्राफ्ट, मेटल क्राफ्ट्स और हैंडमेड दरी जैसे प्रतिष्ठित सामान अब फ्लिपकार्ट प्लेटफॉर्म पर 40 करोड़ ग्राहकों के लिए उपलब्ध होंगे. फ्लिपकार्ट समर्थ कार्यक्रम प्रशिक्षण और समयबद्ध इंक्यूबेशन सपोर्ट प्रदान करेगा, जो कारीगरों, बुनकरों, विकलांग लोगों और शिल्पकारों को ई-कॉमर्स के माध्यम से अपना व्यवसाय बढ़ाने में मदद करेगा.

MSME अपने विकास में यूं ला रहे तेजी

फ्लिपकार्ट और वाराणसी जिला प्रशासन के बीच समझौता ज्ञापन का आदान-प्रदान वाराणसी में एक कार्यक्रम के दौरान किया गया. इस मौके पर एमएसएमई राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह उपस्थित रहे. कार्यक्रम में वाराणसी के कारीगरों, बुनकरों, दिव्यांग लोगों और शिल्पकारों को समाज में उनके योगदान के लिए सराहा गया. इस मौके पर एमएसएमई राज्य मंत्री ने कहा कि आज एमएसएमई अपने विकास में तेजी लाने के लिए प्रौद्योगिकी और व्यापक राष्ट्रीय बाजार की शक्ति का लाभ उठा रहे हैं. ई-कॉमर्स के माध्यम से देश भर के ग्राहक अब बनारसी साड़ी, हैंडमेड कालीन, जरदोजी क्राफ्ट, मेटल क्राफ्ट्स और हैंडमेड दरियों जैसे राज्य विशिष्ट स्थानीय प्रतिष्ठित सामानों को एक्सेस कर सकते हैं. एमएसएमई ग्रोथ और डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन, देश के 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के सपने को साकार करने का एक मार्ग है.

भारत के आर्थिक विकास की कहानी का बनना है हिस्सा

फ्लिपकार्ट समूह में चीफ कॉर्पोरेट अफेयर्स ऑफिसर रजनीश कुमार ने साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए कहा, ‘हम लाखों स्थानीय व्यवसायों को ई-कॉमर्स अपनाने में मदद करके भारत के आर्थिक विकास की कहानी का हिस्सा बनने के लिए उत्साहित और प्रतिबद्ध हैं. हमारे प्रयास, फ्लिपकार्ट के ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस के माध्यम से उन्हें अपने व्यवसाय को डिजिटल बनाने और विकास के अवसरों का पता लगाने में मदद करने पर केंद्रित हैं. हम इस साझेदारी के माध्यम से देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ से पहले, लाखों अवसरों और नई नौकरियों का सृजन करते हुए और राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर वाराणसी में छोटे व्यवसायों, कारीगरों, बुनकरों आदि के लिए ई-कॉमर्स के अवसरों का विस्तार करते हुए यूपी राज्य में अपने जुड़ाव को और गहरा करते हुए प्रसन्न हैं.

banaras-sarees-handmade-carpets-zardoji-craft-metal-crafts-and-handmade-dari-from-varanasi-will-now-be-available-on-flipkart

2019 में लॉन्च किया था समर्थ

फ्लिपकार्ट समर्थ को 2019 में लॉन्च किया गया था. यह एक राष्ट्रव्यापी पहल है, जिसका उद्देश्य देश भर के लाखों एमएसएमई, कारीगरों और कम सेवा वाले समुदायों को ई-कॉमर्स के माध्यम से विकास के अवसरों से परिचित कराना है. कार्यक्रम का प्राथमिक उद्देश्य कम सेवा वाले घरेलू समुदायों और कंपनियों को एक स्थायी और समावेशी मंच और बेहतर आजीविका के अवसर प्रदान करना है. फ्लिपकार्ट समर्थ इन छोटे उद्यमों को फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस पर अपना संचालन स्थापित करने में सहायता करने के लिए टाइम बाउंड इनक्यूबेशन, ऑनबोर्डिंग में सहायता, मुफ्त कैटालॉगिंग, मार्केटिंग सपोर्ट, अकाउंट एडमिनिस्ट्रेशन, बिजनेस इनसाइट्स और वेयरहाउसिंग सपोर्ट प्रदान करता है.


Edited by Ritika Singh